आसान हिन्दी  [?]
तीव्र हिंदी  [?]
ऑनस्क्रीन कीबोर्ड  [?]
हिन्दी टाइपिंग  [?]
अंग्रेजी  [?]
X
1 2 3 र्4 ज्ञ5 त्र6 क्ष7 श्र8 (9 )0 --   =
q w e r t y u i o p [   ]
a s d िfि g h  j k l ; '  \
  z x c  v  b n m ,, .. ?/ एंटर
शिफ्ट                                                         शिफ्ट बैकस्पेस
x

स्वास्थ्य

स्वास्थ्य से सम्बंधित लेख निम्नलिखित है :-

पढ़ने के बाद सीधे मम्मी को बताना, खाने का स्वाद बढ़ाने वाला जीरा भी देता है कई बीमारियों को बुलावा गर्भवती महिलाएं तो बिल्कुल सावधान रहें।

मसाले के बिना किसी भी भारतीय व्यंजन या किचन की कल्पना की जा सकती है क्या? मुझे तो नहीं लगता। किसी भी दाल या सब्जी में असली स्वाद तो मसालों का ही होता है। थोड़ा मसाला भी किसी डिश के स्वाद में बड़ा अंतर ला सकता है। अक्सर ही घर में माँ से शिकायत की जाती है कि,"आज तड़के में जीर



दिमाग़ को तेज़ बनाने के लिए करे इन खास ड्रिंक्स का सेवन-चुकंदर का रस,ग्रीन टी,बादाम व अखरोट शेक!!! – Welcome to News Alert Live

दिमाग को तेज बनाने के लिए डार्क चॉकलेट कोको, टमाटर का जूस जैसे ड्रिंक्स का सेवन करना चाहिए।डार्क चॉकलेट कोकोरोजाना एक कप हॉट चॉकलेट का सेवन स्ट्रोक एवं मानसिक खतरे को कम कर सकता है। डार्क चॉकलेट के अलावा चाय में भी भरपूर मात्रा में एंटीऑक्सीडेंट होते हैं, और हर रोज एक कप



उदर विकार नाशक चूर्ण

उदर विकार नाशक चूर्ण आज की वीडियो में यह बताएंगे कि उदर विकार नाशक चूर्ण कैसे बनाएं।यदि अभी तक आपने हमारे चैनल को सबस्‍क्राईब नहीं किया है तो अवश्‍य करें और नयी ज्ञान वर्धक, प्रेरणास्‍पद् और मनोरंजक वीडियो की जानकारी पाएं।Share, Support



सावधान! इन फूड आइटम्स से जा सकती है आपकी जान

जिस तरह ईंधन खत्म हो जाने पर बाइक चलते-चलते रुक जाती है ठीक उसी तरह भोजन ना मिलने पर हमारा शरीर भी काम करना बंद कर देता है। हमारे बुजुर्ग भी हमें समझाते आए हैं कि हमेशा शुद्ध और सात्विक भोजन ही करना चाहिए। इसके लिए वो कभी-कभी फलों और सब्जियों का उपयोग करने का सुझाव भी देत



अगर आपको भी है पैर पर पैर रखकर बैठने की आदत तो हो सकती है गंभीर बीमारी, जानिए कैसे

फिल्मी सितारों को भी होता है ऐसे बैठने का शौक।चलना-फिरना हो या उठना-बैठना हम लोगों के लिए तो यह रोज का काम है। फिर भी हम इस बात पर ध्यान नहीं देते हैं कि आखिर हम किस तरह चलते या बैठते हैं। यही कारण है कि घंटों तक ऑफिस में बैठे रहने से तोंद निकलना और कमर दर्द जैसी समस्याएं आम हो गई हैं। हालांकि हम अक



ये अक्सर पैरों में 'झुनझुनी' क्यों चढ़ जाती है?

अकसर कुछ देर आराम करने के बाद जब उठते हैं तो पता चलता है कि पैर सो गया. कभी-कभी ऐसा हाथों के साथ भी होता है. बहुत देर तक आलती-पालती मारकर बैठने से पैर में झनझनाहट शुरू हो जाती है. ऐसी फ़ीलिंग आती है जैसे पैर है ही नहीं या उस पर कई सूइयां चुभोई जा रही हैं. कितना भी मार लो,



पतले होने का ये तरीका अपना रहे हो तो पछताओगे

अमां सुनो. पसीना बहा-बहा कर परेशान हो गए हो? और हो जाओ. लेकिन फैट कम नहीं होगा. जिम इंस्ट्रक्टर के कहने पर रोज़ 10 मिनट ट्रेडमिल पर दौड़ते हो. 20 मिनट साइकलिंग और 10 मिनट क्रॉस-ट्रेनर भी? जिम के बाद जब पसीने से तर-बतर होते होंगे तो बड़ी ख़ुशी मिलती होगी न? लगता होगा वाह,



रोजाना तीन घंटे टीवी देखने से बच्चों में इस खतरनाक बीमारी का खतरा

लंदन (एजेंसी)। यदि आपका बच्चा रोजाना तीन घंटे से ज्यादा समय टीवी देखने और वीडियो गेम खेलने में बिताता है तो सावधान हो जाइए। एक अध्ययन में पाया गया है कि इससे बच्चों में डायबिटीज का खतरा ब़़ढ जाता है। ऐसे बच्चों में वसा की मात्रा ब़़ढती है और इंसुलिन प्रतिरोध की क्षमता घटती है। ब्रिटेन की सेंट जॉर्ज



जान‍िए, होठों का कालापन भगाने के नुस्‍खे

होठों का प्राकृतिक रंग बरकरार रखना भी एक बड़ी चुनौती है। बढ़ती उम्र के साथ कई कारणों से हमारे होठों का रंग काला होता जाता है। अधिकांश महिलाएं लिपस्टिक लगाकर अपने होठों के कालेपन को ढंक लेती हैं, लेकिन बहुत से लोग ऐसे हैं जिन्हें लिपस्टिक लगाना बिल्कुल पसंद नहीं। ऐसे लोगों



क्यों उखड़ते हैं नाखून के पोरों के मांस, जानिए क्या है इसका इलाज

नाखून न केवल बाहरी चोटों से नाखून को बचाते हैं बल्कि यह हाथों और पैरों की सुंदरता बढ़ाने में भी अपना योगदान देते हैं। नाखून एक प्रकार के पोषक तत्व से बने होते हैं जो हमारे बालों और त्वचा में पाये जाते हैं। इस पोषक तत्व का नाम कैरटिन है। शरीर में पोषक तत्वों की भारी कमी की



कंडोम्स का इस्तेमाल संभलकर करें, हो सकते हैं ऐसे साइड इफेक्ट्स

हमारे समाज में आज भी कई ऐसे मुद्दे हैं, जिन पर खुलकर बात नहीं की जाती। इनमें 'सेक्स' और इससे जुड़ी बातें शामिल हैं। अब आप 'कंडोम्स' का ही उदाहरण लीजिए। हम कब कंडोम्स के तथ्यों या उपयोग को लेकर खुले तौर पर बातचीत करते हैं। अनचाहे गर्भ से बचने के लिए कई तरह के तरीके अपनाए जा



गाय का दूध पीने से ज्यादा सेहत के लिए बेहतर होता है अल्कोहल

दूध से सेहत बनती है, इसलिए बचपन से पिलाया जा रहा है। अब कहते हैं, दूध पियो डूड बनो। डोले-शोले बनाओ। पर्सनैलिटी बनाओ, लेकिन अगर दूध से ज्यादा अल्कोहल पीने से सेहत बन जाए तो। जी, हाल ही में कुछ स्वास्थ्य से जुड़े वैज्ञानिक आंकड़ों में यह बात सामने आई है। इसमें पाया गया है क



इन 5 हेल्थ प्रॉब्लम्स से हो सकती हैं आंखों की ये बीमारियां

आंखें हमारे शरीर का वो हिस्सा हैं, जो सेंट्रल नर्वस सिस्टम से कनेक्टिड है। हमारी बॉडी को अगर कुछ होता है, तो उसका नेगेटिव असर आंखों पर भी पड़ सकता है। जब आप शीशे में खुद को देखते हैं, और आपको आंखों में कुछ अजीब दिखता है, तो इसे नज़रअंदाज़ न करें, क्योंकि कई बार हम समझ नहीं पाते कि क्या हुआ है और परे



खतरनाक भी हो सकती है ग्रीन टी?

ग्रीन टी आजकल अधिक वजन की समस्या से जुझ रहे लोगों के बीच काफी लोकप्रिय है। टी बैग़्स में मिलने के बाद तो ग्रीन टी और भी ज्यादा लोकप्रिय हो गई है। कई लोग तो वजन कम करने के लिए इसको जादू की छड़ी भी मानने लगे हैं। इसमें मौजूद तत्व जैसे “एल-थ



वयस्क टीकाकरण

हमारे शरीर में इंफेक्शन से होने वाली बीमारियों से लड़ने के लिए प्रकृति ने एक सिस्टम बनाया है जिसे रोग प्रतिरोध तंत्र (इम्यून सिस्टम,immune system) कहते हैं. जब भी कोई बैक्टीरिया या वायरस हमारे शरीर में पहली बार प्रवेश करता है तो इस इम्यून सिस्टम की कोशिकाएं (cells) उसको पहचान कर उसके खिलाफ एंटीबॉडी



दर्द की दवाएं ( Pain killers )

दर्द की दवाएं ( Pain killers )बीमारी के जितने भी लक्षण हैं उनमें से सबसे अधिक पाए जाने वाला लक्षण है दर्द. शायद ही ऐसा कोई व्यक्ति होगा जिसने कभी दर्द अनुभव न किया हो. सर दर्द, दांत दर्द, कान व गले का दर्द, पेट दर्द, चोट का दर्द, बुखार आदि में होने वाला शरीर का दर्द इत्यादि ऐसे दर्द हैं जो कम समय



ये हेल्दी फूड सेहत पर पड़ेंगे भारी, कर सकते हैं बीमार

सेहत बनाने के दावे करने वाले जो हेल्दी प्रोडक्ट बाजार में हैं वो हानिकारक हैं. सीएसई की एक रिपोर्ट से खुलासा हुआ है कि कंपनियां दमदार सेहत का छलावा देकर प्रोडक्ट बेचती हैं लेकिन वो ना तो शुगर और ना ही सोडियम का ख्याल रखती हैं. गाइडलाइंस स



अपने घुटने कभी मत बदलिये

50 साल के बाद धीरे धीरे शरीर के जोडो मे से लुब्रीकेन्टस एवं केल्शियम बननां कम हो जातां है.जिससे जोडो का दर्द , गैप, केल्शियम की कमी, वगैरा प्रोब्लेम्स सामने आती है, जिसके चलते आधुनिक चिकित्सा आपको जोइन्ट रिप्लेस करने की सलाह देते है, तो कइ आर्थिक रुप से मजबूत लोग यह म



Comments

सेहत बनाने के दावे करने वाले ये प्रोडक्ट आपको बीमार कर रहे है .. आप भी देखे Comments



ये हेल्दी फूड सेहत पर पड़ेंगे भारी, कर देंगे बीमार!– News18 Hindi

CNN name, logo and all associated elements ® and © 2017 Cable News Network LP, LLLP. A Time Warner Company. All rights reserved. CNN and the CNN logo are registered marks of Cable News Network, LP LLLP, displayed with permission. Use of the CNN name and/or logo on or as



आसान हिन्दी  [?]
तीव्र हिंदी  [?]
ऑनस्क्रीन कीबोर्ड  [?]
हिन्दी टाइपिंग  [?]
अंग्रेजी  [?]
X
1 2 3 र्4 ज्ञ5 त्र6 क्ष7 श्र8 (9 )0 --   =
q w e r t y u i o p [   ]
a s d िfि g h  j k l ; '  \
  z x c  v  b n m ,, .. ?/ एंटर
शिफ्ट                                                         शिफ्ट बैकस्पेस
x