आए

1


बिहार के चुनाव ‘‘परिणाम’’ कहीं ‘‘अंकगणित‘‘ को गलत तो सिद्ध नहीं कर देंगे?

बिहार के चुनाव परिणाम प्रायः अप्रत्याशित ही रहे हैं। याद कीजिये! पिछले विधानसभा के आम चुनाव के परिणाम। पहले घंटे के निकले प्रारंभिक रुझान पर स्टूडियोज में बैठे समस्त ज्ञानी, बुद्धिजीवी, मूर्धन्य पत्रकार, राजनीतिक पंडित व विशेषज्ञों द्वारा तेजी से प्रतिक्रिया देने के बाद परिणाम के धीरे-धीरे और अंततः



तुम्हारी याद

कवितातुम्हारी याद तुम यादों से विस्मृत हो जाओ सम्भव नहीं है ये ,तुम पटल से उतर जाओ स्वीकृत नहीं है ये । न करो याद तुमफ़र्क पड़ता है क्या ?न करो विश्वास तुमसमय रुकता है क्या ?श्वास तो चलते हैंहृदय भी धड़कता है दोनों ही के स्पंदन मेंध्वनि हो या प्रतिध्वनि तुमसे ही होकर आती



"गज़ल" जिंदगी के दिन बहुत आए हँसा चलते बने थे नैन सूखे कब रहे की तुम रुला चलते बने थे

बह्र- 2122 2122 2122 2122 रदीफ़- चलते बने थे, काफ़िया- आ स्वर"गज़ल" जिंदगी के दिन बहुत आए हँसा चलते बने थेनैन सूखे कब रहे की तुम रुला चलते बने थेदिन-रात की परछाइयाँ थी घूरती घर को पलटकरदिन उगा कब रात में किस्सा सुना चलते बने थे।।मौन रहना ठीक था तो बोलने की जिद किये क्योंकाठ न था आदमी फिर क्यों बना चलते



मेरा प्यार वह है के मर कर भी तुमको (Mera Pyaar Woh Hai Ke Mar Kar Bhi Tumko )- यह रात फिर ना आएगी

Mera Pyaar Woh Hai Ke Mar Kar Bhi Tumko Lyrics of Yeh Raat Phir Na Ayegi : Mera Pyaar Woh Hai Ke Mar Kar Bhi Tumko is a beautiful hindi song from 1966 bollywood film Yeh Raat Phir Na Ayegi. This song is composed by O. P. Nayyar. Mahendra Kapoor has sung this song. Its lyrics are written by S. H. Bih



यह रात फिर ना आएगी (Yeh Raat Phir Na Ayegi )

"Yeh Raat Phir Na Ayegi" is a 1966 hindi film which has Biswajeet, Sharmila Tagore, Mumtaz, Asit Sen, Prithviraj Kapoor, Sailesh Helen, Helen, B M Vyas and Madhumati in lead roles. We have and one song lyrics of Yeh Raat Phir Na Ayegi. O. P. Nayyar has composed its music. Mahendra Kapoor has sung



कब प्रीतम मोरा आए॥ “गीत”

छंद - सखी/आँसू शिल्प विधान-१४ मात्रा (चार चरण) ३ चौकल गुरु अंत में मगण (२२२)अथवा यगण (१२२) आरम्भ में द्विकल अनिवार्य“गीत”सखि बसंत भौंरा आया मन मन फागुन बौरायानच माली महुवा कूँचा तक नैना झरना ऊँचा॥बौर आम डाली डाली है कोयल काली काली मतवाली गाए फागा जिय तरसा बैठा कागा॥ म



"ग़ज़ल, ले के आए आप अरमा औ बिछौना दे गए

"ग़ज़ल" जानकर अंजान को तुम जो खिलौना दे गए तोड़कर अरमान इसका कर भगौना दे गए दिल कहे कि पूछ लो हाथ कितने साथ थे ले के आए आप अरमा औ बिछौना दे गए॥खेलना है नियति जिसकी झूमकर जो खेलतेटूटकर बिखरे हैं वे उनको बिनौना दे गए॥आह में भी चाह देखों भूख जिनका खेलना हाथ कोमल को कठिन तुम घिनौना दे गए॥काँपते हैं डर के





1
आसान हिन्दी  [?]
तीव्र हिंदी  [?]
ऑनस्क्रीन कीबोर्ड  [?]
हिन्दी टाइपिंग  [?]
डिफ़ॉल्ट कीबोर्ड  [?]

(फोन के लिए विकल्प)
X
1 2 3 र्4 ज्ञ5 त्र6 क्ष7 श्र8 (9 )0 --   =
q w e r t y u i o p [   ]
a s d िfि g h  j k l ; '  \
  z x c  v  b n m ,, .. ?/ एंटर
शिफ्ट                                                         शिफ्ट बैकस्पेस
x