1


शब्दनगरी से मुलाक़ात...

शब्दनगरी में ये मेरी पहली पोस्ट है. फेसबुक छोड़ कर यहाँ आना महज अपने भीतर कि उदासी, बेचैनी या निराशा से निजात पाने का जरिया भी हो सकता है पर फेसबुक से कुछ दिन के लिए डिटॉक्स होना जरुरी लगा.लेकिन क्या करू ब्लॉग लिखने की आदत जो ठहरी ये किसी नशे से काम थोडी है ..जैसे एक मैखाने के बंद होने पर हम नया मै



"बिम्ब सा !" 'कविता'

बिम्ब सा !दिखता हैमुझको मन के कोनों में अभी कुछ नहीं,ये भ्रम है ! मेरा वेदना ! मुझमें कहीं संभवतः ! हताशा होगी ये तोड़ती ! हिम्मत मेरीअर्जित नहीं जो कर सका !





1
आसान हिन्दी  [?]
तीव्र हिंदी  [?]
ऑनस्क्रीन कीबोर्ड  [?]
हिन्दी टाइपिंग  [?]
डिफ़ॉल्ट कीबोर्ड  [?]

(फोन के लिए विकल्प)
X
1 2 3 र्4 ज्ञ5 त्र6 क्ष7 श्र8 (9 )0 --   =
q w e r t y u i o p [   ]
a s d िfि g h  j k l ; '  \
  z x c  v  b n m ,, .. ?/ एंटर
शिफ्ट                                                         शिफ्ट बैकस्पेस
x