1


हिन्द की शान हैं

हिन्द की शान हैं।हिन्दी हिंदुस्तान की पहचाना हैं, वह हिन्द की रहनुमा हैं।हिन्दी जुबान कही भी बोली जाय, वह हिन्द की शान हैं।कहने को लोग कहते हैं, हिन्द मे अनगिनत भाषाए हैं।उत्तर व मध्य भारत की, हिन्दी को बदनाम करते हैं।संगीत की धुन इंही, तलहटी व पहाड़ियो मे गूँजती हैं।बहती जमुना, बदनाम चंबल की घाटियो



कलम का सिपाही ( लेख )

कलम के सिपाही की विरासत को यूँ बदनाम ना करो, सिपाही हो कलम के तुम यूँ किसी के प्यादे ना बनो.ये दो लाइने कलम के सिपाही मुंशी प्रेमचंद को समर्पित है, और उन पत्रकारों , लेखकों, कवियों और शायरों को उनका धर



बदनाम

कुछ खत मेरे नाम, बेनाम चले आएहम आज तेरी महफ़िल से, गुमनाम चले आएकुछ वक़्त तेरे साथ, कुछ लम्हे तेरे नामतेरी दोस्ती की गफलत में, हर शाम चले आएनाचीज़ समझते हो, बड़े शौक से समझोफिर भी मेरे नाम, कुछ इल्ज़ाम चले आए





1
आसान हिन्दी  [?]
तीव्र हिंदी  [?]
ऑनस्क्रीन कीबोर्ड  [?]
हिन्दी टाइपिंग  [?]
डिफ़ॉल्ट कीबोर्ड  [?]

(फोन के लिए विकल्प)
X
1 2 3 र्4 ज्ञ5 त्र6 क्ष7 श्र8 (9 )0 --   =
q w e r t y u i o p [   ]
a s d िfि g h  j k l ; '  \
  z x c  v  b n m ,, .. ?/ एंटर
शिफ्ट                                                         शिफ्ट बैकस्पेस
x