1


आओं लौट चले

आओं लौट चले तिनका तिनका जोड़कर, चिड़ियाँ बना लेती हैं बबूर मे घोसला |उड़कर-उड़कर पंख पसार, करती नदी सागर घर आँगन पार |पर ना जाने क्यो? चुँगने उड़ने के बाद, घर को वापस आती हैं |भर चोंच मे दाना लिए ऊँची उड़ान, लौट आती हैं बच्चो के लिए |भोर भई चहचाई चिड़ियाँ अपनी डाली मे, अब तो



बहन

है नहीं मेरी कोई सगी बहन, फिर भी लिखता हूं यह कवितारिश्ता है बहन का, बहती हुई एक सरितामैं नहीं समझा पाऊंगा भाईयो, क्या होता है रिश्ता बहन काकैसी स्थिति थी हिरण्यक्यपु की, जब दिन था होलिका दहन काक्या होती है बहन? कैसा होता है यह रिश्ता?इसमें होता है कोई स्वार्थ, या होती है सच्ची निष्ठा?सुने बहुत सारे



खूनी कफ़न

न वर्दी, न तिरंगा, यह तो खूनी कफ़न हैं ।वर्दी मे हसता खिलखिलाता मेरा सपूत दिखता हैं वह चेहरा मेरी आंखो मे चमकता हैं। उसकी बाजुओ मे लटकती बंदूक खिलौना लगती हैं। वह उस खिलौने से न खेल सका। वह उस पल को न समझ सका न खेल सका, अपनी पत्नी, माँ, बच्चों को छोड़ गया, रोने की किलकारी सब मे, लिपटे कफ़न तिरंगे मे



इस भाई ने अपनी बहन के लिए जो किया वो आपका दिल छू लेगा

पिताजी जोऱ से चिल्लाते हैं ।प्रिंस दौड़कर आता है, औरपूछता है…क्या बात है पिताजी?पिताजी- तूझे पता नहीं है, आज तेरी बहन रौनक आ रही है?वह इस बार हम सभी के साथ अपना जन्मदिन मनायेगी..अब जल्दी से जा और अपनी बहन को लेके आ,हाँ और सुन…तू अपनी नई गाड़ी लेकर जा जो तूने कल खरीदी है…उसे अच्छा लगेगा,प्रिंस – लेक



रक्षाबंधन, 26-8-18राखी का त्यौहार प्रिय, प्रिय बहना का स्नेह।

रक्षाबंधन, 26-8-18 भाई-बहन के पवित्ररिश्ते को अपने आँचल में छूपाये हुए इस महान पर्व रक्षाबंधन के अनुपम अवसर पर आपसभी को दिल से बधाई व मंगलमयी शुभकामना,ॐ जय माँ शारदा.....!“चतुष्पदी” राखी का त्यौहारप्रिय, प्रिय बहना का स्नेह। पकड़ कलाई वीर की, बाँध रही शुभ नेह। थाली कंकू से भरी, सूत्र रंग आशीष- रक्षा



कौन है ये महिला, जो 24 साल से लगातार मोदी को बांध रही है राखी

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को रक्षा बंधन पर आज उनकी मुंहबोली बहन कमर मोहसिन शेख ने राखी बांधी और उनके स्वास्थ्य तथा लंबी आयु की कामना की। सुश्री शेख सुबह प्रधानमंत्री आवास सात लोक कल्याण मार्ग पहुंची और प्रधानमंत्री को पूरे विधि विधान से राखी बांधी। बाद में उन्होंने संवादद



चुप चुप खड़े हो ज़रूर कोई बात है - बड़ी बहन

Chup Chup Khade Ho Zaroor Koi Baat Hai song belongs to the D D Kashyap's film Badi Bahen starring Rehman, Suraiya, Geeta Bali and Ulhas. Chup Chup Khade Ho Zaroor Koi Baat Hai Lyrics are penned by Rajinder Krishan while this track is sung by Lata Mangeshkar and Premlata.बड़ी बहन (Badi Behen )चुप चुप



बड़ी बहन (Badi Behen )

"Badi Behen" is a 1949 hindi film which has Rehman, Suraiya, Geeta Bali, Ulhas, Gulab, Shanti Modak, Pran and Naranjan Sharma in lead roles. We have and one song lyrics of Badi Behen. Husnlal-Bhagatram has composed its music. Lata Mangeshkar and Premlata have sung these songs while Rajinder Krisha



तुम्हारा जाना

चले गए हो तुम यूँ अचानक और ले गए हो साथ अपने सारी खुशियाँ सारा उत्साह और जीने की चाह | सब कुछ | जिंदगी चल तो रही है तुम बिन पर क्या सच में जिन्दा हैं हम पापा खामोश हैं और मम्मी भी चुप हैं होंठ तो फिर भी बोल पड़ते हैं पर आँ



अमेरिकन राष्ट्रपति ट्रम्प एवं उत्तरी कोरियन तानाशाह किम जोंग

अमेरिकन राष्ट्रपति ट्रम्प एवं उत्तरी कोरिया के तानाशाह किम जोंग डॉ शोभा भारद्वाज नदी के दो किनारे मिलना असम्भव है लेकिन राजनीति में सब कुछ सम्भव | लगभग एक



अभावों के होते हैं ख़ूबसूरत स्वभाव

आज एक चित्र देखा मासूम फटेहाल भाई-बहन किसी आसन्न आशंका से डरे हुए हैं और बहन अपने भाई की गोद में उसके चीथड़े



दो बहनो का मिलन – वार्ता – (हिंदी अंग्रेजी)

दो बहनो का मिलन – वार्ता – (हिंदी अंग्रेजी) !दरवाजे पर ..दस्तक होती है ….डिंग-डोंग …डिंग-डोंग ..डिंग-डोंग …डिंग-डोंग ..हू इस आउट साइड ऑन द डोर …..(अंदर से आवाज आई)जी …..जी मै….मै हूँ हिंदी …….!आपसे मिलने आई हूँ !ओह….. वेल … !यू आर ……कम इन …!प्रणाम ….अंग्रेजी बहन ………!(हिंदी बोली)वेलकम म



बेटी और बेटी (बुआ)

°°°°°°°°°°°°°°°°°°कल फोन आया था,एक बजे ट्रेन से आ रही है..! किसी को स्टेशन भेजने की बात चल ऱही थी ।सच भी था... आजरिया ससुराल से दूसरी बार दामाद जी के साथ.. आ रही हैं; घर केमाहौल में उत्साह सा महसूस हो रहा हैं ।इसी बीच .....एक तेज आवाज आती हैं ~"इतना सब देने की क्या ज



कविता ,आलेख और मैं : बहन भाई और रक्षा बंधन

बहन भाई और रक्षा बंधनराखी का त्यौहार आ ही गया ,इस  त्यौहार को मनाने  के लिए या कहिये की मुनाफा कमाने के लिए समाज के सभी बर्गों ने कमर कस ली है। हिन्दुस्थान में राखी की परम्परा काफी पुरानी है . बदले दौर में जब सभी मूल्यों का हास हो रहा हो तो भला राखी का त्यौहार इससे अछ



ऐसी मेरी एक बहना है

ऐसी मेरी एक बहना हैनन्ही छोटी सी चुलबुल सीघर आँगन मे वो बुलबुल सीफूलो सी जिसकी मुस्कान हैजिसके अस्तित्व से घर मे जान हैउसके बारे मे क्या लिखूवो खुद ही एक पहचान हैमै चरण पदिक हू अगर वो हीरो जड़ा एक गहना हैऐसी मेरी एक .बहना है………..कितनी खुशिया थी उस पल मेजब साथ-२ हम खेला करतेछोटी छोटी सी नाराजीतो कभी



भाई-बहन के प्यार का प्रतीक : रक्षाबंधन त्योहार और उसका बढ़ता हुआ ऑनलाइन व्यवसाय !

भाई-बहन के प्यार का प्रतीक, रक्षाबंधन का त्योहार हर साल अगस्त के महीने में आता है| भाई-बहन का ये त्योहार, एक-दूसरे के प्रति अगाध स्नेह और अटूट विश्वास को दर्शाता हैं| भाई की कलाई में सजी हुई रंग-बिरंगी राखी भले ही देखने में कमजोर प्रतीत हो पर इस रिश्ते की डोर अत्यंत मजबूत होती है| इस त्योहार पर बहने





1
आसान हिन्दी  [?]
तीव्र हिंदी  [?]
ऑनस्क्रीन कीबोर्ड  [?]
हिन्दी टाइपिंग  [?]
डिफ़ॉल्ट कीबोर्ड  [?]

(फोन के लिए विकल्प)
X
1 2 3 र्4 ज्ञ5 त्र6 क्ष7 श्र8 (9 )0 --   =
q w e r t y u i o p [   ]
a s d िfि g h  j k l ; '  \
  z x c  v  b n m ,, .. ?/ एंटर
शिफ्ट                                                         शिफ्ट बैकस्पेस
x