फागुनी बहार, छंद मुक्त काव्य

फागुनी बहार"छंदमुक्त काव्य"मटर की फली सीचने की लदी डली सीकोमल मुलायम पंखुड़ी लिएतू रंग लगाती हुई चुलबुली हैफागुन के अबीर सी भली है।।होली की धूल सीगुलाब के फूल सीनयनों में कजरौटा लिएक्या तू ही गाँव की गली हैफागुन के अबीर सी भली है।।चौताल के राग सीजवानी के फाग सीहाथों में रंग पिचकारी लिएहोठों पर मुस्का



'दादी' के आते ही घर-आंगन से रूठा वसंत लौट आया ...

हम चार मंजिला बिल्डिंग के सबसे निचले वाले माले में रहते हैं। यूँ तो सरकारी मकानों में सबसे निचले वाले घर की स्थिति ऊपरी मंजिलों में रहने वाले लागों के जब-तब घर-भर का कूड़ा-करकट फेंकते रहने की आदत के चलते कूड़ेदान सी बनी रहती है, फिर भी यहाँ एक सुकून वाली बात जरूर है कि बागवानी के लिए पर्याप्त जगह न



"गीत"शीतल झरना बहता पानी फूलों सजी बहार सखीकितना दृश्य मनोरम लगता बगिया है गुलजार सखी

"गीत"शीतल झरना बहता पानी फूलों सजी बहार सखीकितना दृश्य मनोरम लगता बगिया है गुलजार सखीमौसम झूम रहा मतवाला मनमयूर नर्तकी बनानीले पीले लाल बसंती प्रिय रंगो का बाग घनानाचे मोर मयूरी देखे लेकर नैनो में प्यार सखीशीतल झरना बहता पानी फूलों सजी बहार सखी।।ओढ़े चूनर गाती कजरी देख



खुदाया खैर - आये दिन बहार के

Khudaya Khair Lyrics of Aaye Din Bahar Ke (1966): This is a lovely song from Aaye Din Bahar Ke starring Dharmendra, Asha Parekh, Nazima and Sulochna. It is sung by Mohammad Rafi and composed by Laxmikant and Pyarelal.आये दिन बहार के (Aaye Din Bahar Ke )फूलों से मुखड़े वाली निकली है एक मतवालीगुलशन की



यह काली जब तलक फूल बनके खिले - आये दिन बहार के

Yeh Kali Jab Talak Phool Banke Khile Lyrics of Aaye Din Bahar Ke (1966): This is a lovely song from Aaye Din Bahar Ke starring Dharmendra, Asha Parekh, Nazima and Sulochna. It is sung by Lata Mangeshkar and Mahendra Kapoor and composed by Laxmikant and Pyarelal.आये दिन बहार के (Aaye Din Bahar Ke )यह



सुनो सजना पपीहे ने कहा सबसे - आये दिन बहार के टाइटल सांग

Suno Sajna Papihe Ne Kaha Sabse Lyrics from the movie Aaye Din Bahar Ke is sung by Lata Mangeshkar, its music is composed by Laxmikant and Pyarelal and lyrics are written by Anand Bakshi.आये दिन बहार के (Aaye Din Bahar Ke )सुनो सजना पपीहे नेसुनो सजना पपीहे ने कहा सबसे पुकार केसंभल जाओ चमन वालोंसंभल



ए काश किसी दीवाने को - आये दिन बहार के

Aye Kash Kisi Deewane Ko Lyrics of Aaye Din Bahar Ke (1966) is penned by Anand Bakshi, it's composed by Laxmikant and Pyarelal and sung by Asha Bhosle and Lata Mangeshkar.आये दिन बहार के (Aaye Din Bahar Ke )ए काश किसी दीवाने कोहमसे भी मोहब्बत हो जाएए काश किसी दीवाने कोहमसे भी मोहब्बत हो जाएहम लुट जा



खत लिख दे साँवरिया के नाम बाबू - आये दिन बहार के

Khat Likh De Sanwariya Ke Naam Babu Lyrics from the movie Aaye Din Bahar Ke is sung by Asha Bhosle, its music is composed by Laxmikant and Pyarelal and lyrics are written by Anand Bakshi.आये दिन बहार के (Aaye Din Bahar Ke )अब के बरस भी बीत न जाएँयह सावन की रातेंदेख ले मेरी यह बेचैनीऔर लिख दे दो बाते



मेरे दुश्मन तू मेरी दोस्ती को तरसे - आये दिन बहार के

Mere Dushman Tu Meri Dosti Ko Tarse song belongs to the Raghunath Jhalani's film Aaye Din Bahar Ke starring Dharmendra, Asha Parekh, Nazima and Sulochna. Mere Dushman Tu Meri Dosti Ko Tarse Lyrics are penned by Anand Bakshi while this track is sung by Mohammad Rafi.आये दिन बहार के (Aaye Din Bahar Ke



आये दिन बहार के (Aaye Din Bahar Ke )

"Aaye Din Bahar Ke" is a 1966 hindi film which has Dharmendra, Asha Parekh, Nazima, Sulochna, Balraj Sahni, Rajendra Nath, Mubarak, Sunder, C S Dube, Raj Mehra, Leela Mishra and Nazir Kashmiri in lead roles. We have 6 songs lyrics and 6 video songs of Aaye Din Bahar Ke. Laxmikant and Pyarelal have



ी ऍम इन लव - कोई है आशिक कोई मेह्बूब है - आशिक़ हूँ बहारों का

I Am In Love - Koi Hai Aashiq Koi Mehboob Hai Lyrics of Aashiq Hoon Bahaaron Ka (1977): This is a lovely song from Aashiq Hoon Bahaaron Ka starring Rajesh Khanna, Zeenat Aman, Danny Denzongpa and Asrani. It is sung by Lata Mangeshkar and Kishore Kumar and composed by Laxmikant and Pyarelal.आशिक़ हूँ



आशिक़ हूँ बहारों का (Aashiq Hoon Bahaaron Ka )

"Aashiq Hoon Bahaaron Ka" is a 1977 hindi film which has Rajesh Khanna, Zeenat Aman, Danny Denzongpa, Asrani, Om Parkesh, Nadira, Preeti Ganguli, Rehman, Sulochana, Julie Ames and Pinchoo Kapoor in lead roles. We have and one song lyrics of Aashiq Hoon Bahaaron Ka. Laxmikant and Pyarelal have comp



बसंत बहार

बसंत बहार बागो में कलियों पे बहार जब आने लगे, खेत-खलिहानों में फसले लहलाने लगे !गुलाबी धूप पर भी निखार जब आने लगे, समझ लेना के बसंत बहार आ गयी !!भोर में रवि की किरण पे आये लालीकोयल कूक रही हो अमवा की डालीपेड़ो पर नई नई कोपले निकलने लगेऔर आँगन में भी गोरैया चहकने लगे



ये कहाँ से आ गयी बहार है

ये कहाँ से आ गयी बहार है ,बंद तोमेरी गली का द्वार है।



पुलिस वाले ने ही हौका पुलिस वाले को, देखे ये विडियो

यूपी पुलिस के हाल ये हैं



Sketches from Life: फूल खिले हैं

रंग बिरंगे फूल खिले देखकर मन भी खिल जाता है. चेहरे पर मुस्कान आ जाती है. फूल है भी तो प्यार मोहब्बत की निशानी. इसलिए कवियों और शायरों की भी पसंद हैं. पूजा अर्चना के लिए भी फूल शुभ हैं. स्वागत के लिए चाहिए फूल माला, शादी के लिए चाहिए फूलों





1
आसान हिन्दी  [?]
तीव्र हिंदी  [?]
ऑनस्क्रीन कीबोर्ड  [?]
हिन्दी टाइपिंग  [?]
अंग्रेजी  [?]

(फोन के लिए विकल्प)
X
1 2 3 र्4 ज्ञ5 त्र6 क्ष7 श्र8 (9 )0 --   =
q w e r t y u i o p [   ]
a s d िfि g h  j k l ; '  \
  z x c  v  b n m ,, .. ?/ एंटर
शिफ्ट                                                         शिफ्ट बैकस्पेस
x