भक्ति गान - जय महावीर स्वामी

।। भक्ति-गान।। जय महावीर स्वामी जय महावीर स्वामी, जय महावीर स्वामी, जय महावीर स्वामी।।नित तेरे दर्शन पाऊं, और तेरी कृपा पाऊं स्वामी;सामने भी आओ स्वामी, कृपा की वर्षा करो स्वामी;जय महावीर स्वामी, जय महावीर स्वामी।।नित तेरा नाम जपूं, तेरे मार्ग



मैं कट्टर नहीं हूं

मैं कट्टर नहीं हूं स्वयं को भारतीय कहना, मानव कहना कट्टरता नहीं है; अपनी जड़ों से जुड़े रहना; जो समूचे विश्व को एक माने, एक कुटम्ब माने, ऐसी जड़ों से जुड़े रहना कट्टरता नहीं है।



कालिदास और कालीभक्त

इस कथा के दो पात्र है . एक भक्ति रस का उपासक तो दूजा श्रृंगार रस का उपासक है. दोनों के बीच द्वंद्व का होना लाजिमी है. ये कथा भक्ति रस के उपासक और श्रृंगार रस के उपासक मित्रों के बीच विवाद को दिखाते हुए लिखा गया है.ऑफिस से काम निपटा के दो मित्र कार से घर की ओर जा रहे थे



देश भक्ति गीत|देश भक्ति शायरी|देश भक्ति गाने| देश भक्ति सन्देश - Desh Bhakti Songs, Shayri, Messages in Hindi

देश भक्ति की भावना को और जोशीला करने के लिए आज हम लेकर आये है चुनिन्दा देश भक्ति गीत, शायरी और गाने | यह देश भक्ति गीत आपमें जोश भर देगी और देश भक्ति के शायरी और सन्देश आप अपने दोस्त और परिवार को भेज उनके अन्दर की देश भक्ति जगा सकते है| न केवल स्वतंत्रता दिवस और गणतंत



11 अक्तूबर 2018

अनुभूति

माँ का ध्यान हृदय सदा शान्ति सुधा बरसाती मलयानिल श्वासों में घुल हिया सुरभित कर जाती मौन मगन दैदीप्त पुंज मन भाव विह्वल खो जाता प्लावित भावुक धारा का अस्तित्व विलय हो जाता आतपत्र आशीष वलय रक्षित जीवन शूल,प्रलय वरद-हस्त आशंकाओं से शुद्ध आत्मा मुक्त निलय आँचल छाँह वात्सल्यमयी भय-दुःख, मद-मोह, मुक



ऐ भारत माँ - e bharat maa

दोस्तों... एक सैनिक ने क्या खूब कहा है... किसी गजरे की खुशबू को महकता छोड़ आया हूँ,मेरी नन्ही सी चिड़िया को चहकता छोड़ आया हूँ,मुझे छाती से अपनी तू लगा लेना... ऐ भारत माँ,मैं अपनी माँ की बाहों को तरसता छोड़ आया हूँ।doston... ek sanik ne kya khub kaha hai... kisi gajre ki khushbu ko mahakta chhod aa



प्यारा हिन्दुस्तान निकलेगा - pyara hindustan nikalega

बच्चे बच्चे के दिल में कोई अरमान निकलेगा,किसी के रहीम तो किसी के राम निकलेगा,मगर उनके दिल को चीर के देखा जाए, तो उसमें हमारा प्यारा हिन्दुस्तान निकलेगा।bachche bachche ke dil men koi armaan niklegakisi ke rahim to kisi ke ram nikalegamagar unke dil ko chir ke dekha jayeto usmen hamara pyara hindusta



कलम भी रो पड़ी - kalam bhi ro padi

अब तो मेरी कलम भी रो पड़ी है,शहीदों की शहादत लिखते लिखते।ab to meri kalam bhi ro padi haishahidon ki shahadat likhte likhate।



सरहद तुम्हें पुकारे - sarhad tumhen pukare

सरहद तुम्हें पुकारे तुम्हें आना ही होगा,कर्ज अपनी मिट्टी का चुकाना ही होगा,दे करके कुर्बानी अपने जिस्मो-जां की,तुम्हे मिटना भी होगा मिटाना भी होगा।sarhad tumhen pukare tumhe aana hi hogakarj apni mitti ka chukana hi hogade karke kurbani apane jismo-jan kitumhe mitna bhi hoga mitana bhi hogaa।



दिया उनके नाम का - diya unke naam ka

एक दिया उनके भी नाम कारख लो पूजा की थाली में,जिनकी सांसे थम गई हैंभारत माँ की रखवाली में।ek diya unke bhi naam ka rakh lo puja ki thali menjinki sanse tham gai hain bharat maa ki rakhwali men।



माँ भारती की आरती

माँ भारती की आरती, हम यूँ सदा गाते रहे।चरणों में अपनी माँ के, हम शीश झुकाते रहे।।है मन में इक आस, कि बढ़ता रहे विश्वासप्रेम की धारा दिलों में, हम सदा बहाते रहे।माँ भारती की आरती, हम यूँ सदा गाते रहे।।खेतों में हो हरियाली, चहुँओर हो खुशहाली फूल खुशियों के हम, सदा ही उगाते रहे।माँ भारती की आरती, हम यूँ



युवा सोच - देशप्रेम

देशप्रेम सदा ही बहता है,हमसब की ही नस-नस में। आन पड़ी तो जान भी देंगे,खाते हैं हम, ये कसमें। माना हमने कभी लड़ी नहीं,देशहित में एक लड़ाई। पर हमको जब-जब मौका मिला,हम ने भी, जान



Independence Day 2018: दूर हटो हिंदुस्तान हमारा है जैसे 7 देशभक्ति गीत जो 15 अगस्त को बना देंगे जोशीला !!!

नई दिल्ली: 15 August, 2018: भारत में 72वें स्वतंत्रता दिवस (72nd Independence Day) का जश्न मनाया जा रहा है. स्वतंत्रता दिवस (Independence Day 2018) के मौके पर लाल किले की प्राचीर से जब प्रधानमंत्री तिरंगा लहराते हैं तो हर भारतीय का सिर गर्व से ऊंचा हो जाता है. 1947 में भा



भक्ति

मैं उस ईश्वर की भक्ति करता हूँ जो सर्व शक्तिमान है, उस ईश्वर की नहीं जिसे मेरी ज़रूरत पड़े अपना घर( मंदिर) बसाने की. क्या करूंगा मैं उसकी भक्ति कर जिसकी रक्षा मुझे करनी पड़े, मैं तो उस की भक्ति करता हूँ जो मेरी रक्षा करे.



मैं चोर हूँ काम है चोरी दुनियां में हूँ बदनाम ( भाग-२)

ना तो धर्म तुमसे है, ना ही देश और जात तुमसे हैं. सिर्फ किसी देश में या किसी धर्म या जात में जन्म लेने में तुम्हारा अपना क्या योगदान है? तुम्हारी क्या महानता है? मेरे देश में महान लोगों ने जन्म लिया कहने भर से तुम महान नहीं हो जाते. स्वयं श्री कृष्ण



ईश्वर की सच्ची आराधना ----- आचार्य अर्जुन तिवारी

!! भगवत्कृपा हि केवलम् !! पारब्रह्म परमेश्वर ने इस सुंदर सृष्टि की रचना की , मैथुनी सृष्टि करके मनुष्य को इस धराधाम पर उतारा | मनुष्य ईश्वर के प्रति कृतज्ञ होकर उसकी आराधना करने का वचन देता है | पुराण बताते है कि माँ के गर्भ में बालक की स्थिति उत्तानपाद होती है ! अर्थात सर नीचे तथा पैर ऊपर को ह



भक्ति से लाभ कैसे लें ?

धर्म गुरु श्री राज कृष्ण शर्मा जी +91 9216111690गुरु जी प्रतिदिन सुबह 7:15 बजे You Tube Channel, INC MEDIA ASSOCIATES ( https://www.youtube.com/channel/UCyAq... ) पर लाइव रहेंगेनमस्कार दर्शकों, आज के इस वीडियो में बता



देश मेरा बढ़ रहा है ( कुलदीप पाण्डेय आजाद )

देश मेरा बढ़ रहा | प्रगति सीढ़ी चढ़ रहा |देश के उत्थान में सब,साथ मिल अब चल रहे हैं |खून से सींचा जिसे था , हर सुमन अब खिल रहे हैं |कंटकों को आज देखो स्वम ही वह जल रहा है | देश मेरा बढ़ रहा |गोद में बैठे अभी तक ,



सीता माता के बारे में इन बातों से होंगे आप अब तक अनजान

जब भी किसी महिला का उदाहरण दिया जाता है तो सबसे पहला नाम माता सीता का ही आता है। ऐसा माना जाता है कि जो लड़की अपने चरित्र में माँ सीता के गुण ले आती है उसका जीवन सफल हो जाता है। वैसे तो आपने माँ सीता के बारे में कई बातें सुनी और पढ़ीं होंगी लेकिन आज हम आपको सीता जी के बारे



लेख-- बाबा न राम के हुए , न रहीम के

आज की नजाकत में धर्म पर हावी विज्ञान है। फ़िर भी धर्मांधता का चश्मा समाज पर चढ़ा है। सत्ता का तख़्त सजाती जनमानस है। जनमानस और सियासी रणबाकुरों की फ़ौज लिपटी एक बाबा के चरणों में है। आज देश में न्यू इंडिया का तासा पीटा जा रहा है, क्या न्यू इंडिया में जनमानस धर्मांधता का दामन ओढ़कर और सत्ता बाबाओं की जूती



आसान हिन्दी  [?]
तीव्र हिंदी  [?]
ऑनस्क्रीन कीबोर्ड  [?]
हिन्दी टाइपिंग  [?]
अंग्रेजी  [?]

(फोन के लिए विकल्प)
X
1 2 3 र्4 ज्ञ5 त्र6 क्ष7 श्र8 (9 )0 --   =
q w e r t y u i o p [   ]
a s d िfि g h  j k l ; '  \
  z x c  v  b n m ,, .. ?/ एंटर
शिफ्ट                                                         शिफ्ट बैकस्पेस
x