बिटिया

1


बिटिया दिवस

आज Daughter’s day है, यानी बिटिया दिवस... सर्वप्रथम सभी को Daughter’s day की बधाई... आज एक बार अपनी उलझी सुलझी सी बातों के साथ आपके सामने हैं... हमारी आज की रचना का शीर्षक है तू कभी न दुर्बल हो सकती... अपनी आज की रचना प्रस्तुत करें उससे पहले दो बातें... हमारी प्रकृति वास्तव में नारी रूपा है... जाने



“गीत” (बिटिया बैठी है डोली ससुराल की)

“गीत” (बिटिया बैठी है डोली ससुराल की)बिटिया बैठी है डोली ससुराल की आए सज के बाराती खुशहाल की....... कभी बिंदियाँ हँसे कभी मेंहदी खिले कभी नयना झरे कभी सखियाँ मिलेताकी झांकी रे होली सु-गुलाल की बिटिया बैठी है डोली ससुराल की........कहीं मैया खड़ी कहीं भैया खड़े कहीं बाबू ढ़लें



नन्ही सी बिटिया!

नन्ही सी बिटिया,बांधे छोटी सी चुटिया,साईकिल पर है सवार,हंसते- खेलते जाने को स्कूल है तैयार,निकल पड़ी हैं, ऊँची-नीची राह पर,सबसे लोहा लेने को है तैयार,पढ़-लिख कर ये बिटिया करेगी,सबके सपने साकार,इक दिन, ये बिटिया बड़ी हो जायेगी,अपने परिवार का नाम रोशन करवाएगी,समाज में अपनी पहचान बनाएगी,शादी कर अपने ससुरा



नन्ही सी बिटिया!

नन्ही सी बिटिया,बांधे छोटी सी चुटिया,साईकिल पर है सवार,हंसते- खेलते जाने को स्कूल है तैयार,निकल पड़ी हैं, ऊँची-नीची राह पर,सबसे लोहा लेने को है तैयार,पढ़-लिख कर ये बिटिया करेगी,सबके सपने साकार,इक दिन, ये बिटिया बड़ी हो जायेगी,अपने परिवार का नाम रोशन करवाएगी,समाज में अपनी पहचान बनाएगी,शादी कर अपने ससुरा





1
आसान हिन्दी  [?]
तीव्र हिंदी  [?]
ऑनस्क्रीन कीबोर्ड  [?]
हिन्दी टाइपिंग  [?]
डिफ़ॉल्ट कीबोर्ड  [?]

(फोन के लिए विकल्प)
X
1 2 3 र्4 ज्ञ5 त्र6 क्ष7 श्र8 (9 )0 --   =
q w e r t y u i o p [   ]
a s d िfि g h  j k l ; '  \
  z x c  v  b n m ,, .. ?/ एंटर
शिफ्ट                                                         शिफ्ट बैकस्पेस
x