कॉलेज

1


अंकों का खेल

क्या स्कूल और कॉलेज के अंक ही सफलता का अंकशास्त्र लिखते है ?क्या यही सफलता की आखिरी सीढ़ी होते है ?अंकों का अतीत ही सुनहरे भविष्य की गारंटी हो सकता है ?समझ गया जो जीवन को बहुमूल्य समझ ले वो ये भी, सफलता असफलता अंकों से परे होती है, ये दृष्टिकोण मेंहोती है, प्रमाणपत्रों तक ही सीमित नहीं.शिल्पा रोंघे



स्टूडेंट्स के लिए क्यों जरूरी है ब्लॉगिंग: महत्त्व एवं रास्ता

21वीं सदी में लगभग हर वह चीज बदल चुकी है या बदल रही है जो हमारे जीवन को प्रत्यक्ष या अप्रत्यक्ष रूप से प्रभावित करती रही है. इनमें कृषि, मीडिया-क्षेत्र, नौकरियों का प्रारूप इत्यादि शामिल किया जा सकता है, किन्तु दुर्भाग्य से यही बात 'एजुकेशन सिस्टम' के लिए समग्रता से नहीं कही जा सकती है. इसी क्रम में





1
आसान हिन्दी  [?]
तीव्र हिंदी  [?]
ऑनस्क्रीन कीबोर्ड  [?]
हिन्दी टाइपिंग  [?]
डिफ़ॉल्ट कीबोर्ड  [?]

(फोन के लिए विकल्प)
X
1 2 3 र्4 ज्ञ5 त्र6 क्ष7 श्र8 (9 )0 --   =
q w e r t y u i o p [   ]
a s d िfि g h  j k l ; '  \
  z x c  v  b n m ,, .. ?/ एंटर
शिफ्ट                                                         शिफ्ट बैकस्पेस
x