दर्दनाक

1


सभी यांत्रिक और अवैध बूचड़खाना बंद होंगे।

सभी पाठको का हार्दिक अभिनंदन,बीते दिनों कुछ राजनैतिक बदलाव हुए। एक मुद्दा बहुत चर्चा ने है "सभी यांत्रिक और अवैध बूचड़खाना बंद होंगे।" सुनने में अच्छा लगता है कुछ नहीं से तो कुछ सही। मेरे मन में एक सवाल है :



दहेज प्रथा ने दो बेगुनाहों की जान

प्रिय साथियों शब्दनगरी में आपका स्वागत है। ये कहानी कुछ सीख देती है हम सबको। इसलिए हमने अपने एक साथी की इस रचना को यहां रखना उचित समझा। शब्दनगरी टीम से अपेक्षा है कि वह इसे उचित स्थान दे। ताकि लोगों तक एक संदेश पहुंच सके। दरअसल, मोहल्ले में रहने वाली दो लडकियों मीना और सोनाली की शादी एक ही दिन तय



समाजिक लोकलाज का डर बेटियों को बना रहा अपाहिज

वास्तव में बड़ी तकलीफ होती है, ऐसी खबरें पढ़ने के बाद। आज सुबह अखबार का पन्ना पलटा। पहले पन्ने पर खबर छपी थी 11 साल की बच्ची से 55 साल के सख्श ने दरिंदगी की। यह जानकारी हमें इसलिए हो गई कि बच्ची के घरवाले जागरुक थे। पर, अक्सर ऐसा भी होता है कि बेटियों के साथ दरिंदगी होती है। वह चीख समाज में बदनामी क



इस प्यार का दर्दनाक अंत, सपने में भी न सोचा

सच बताऊं तो ये प्रेम कहानी हकीकत की है। हमारे फेसबुक एकाउंट से वह साथी जुड़े भी हैं। इलाहाबाद के ही हैं। आज बातचीत के दौरान जानकारी हुई। बड़ी तकली फहुई। कहानी कुछ इस तरह है...कीर्ति और अंकित दोनों बचपन में बहुत अच्छे दोस्त थे। हों भी क्यों न एक ही मोहल्ले के जो थे। दोनों का दिनभर का अधिकांश समय एक स





1
आसान हिन्दी  [?]
तीव्र हिंदी  [?]
ऑनस्क्रीन कीबोर्ड  [?]
हिन्दी टाइपिंग  [?]
डिफ़ॉल्ट कीबोर्ड  [?]

(फोन के लिए विकल्प)
X
1 2 3 र्4 ज्ञ5 त्र6 क्ष7 श्र8 (9 )0 --   =
q w e r t y u i o p [   ]
a s d िfि g h  j k l ; '  \
  z x c  v  b n m ,, .. ?/ एंटर
शिफ्ट                                                         शिफ्ट बैकस्पेस
x