वह पुरानी किताब

धूल से पटी पड़ी एक किताब को झटक,उसके पुराने पन्नों को धीरे से पलटते रहा;अतीत को वर्तमान के झरोखे से झांकते रहा।मै पिछले कई वर्षों का हिसाब देखता रहा,अंधेरे में गुजारे कई दिनों को याद करता हुआ;सोचता रहा क्या ये उजियारा दिन हमेशा का हुआ।वक़्त ने मुझे अपने आप को तलाशने का मौका ना दिया,गुलाम भारत को स्व



पैर में शनि का चक्कर यानी टर्की के शहर इस्तांबुल में आदतन घुमक्कड़ !

पैर में शनि का चक्कर यानी टर्की के शहर इस्तांबुल में आदतन घुमक्कड़ !मई - 2014जब मैं छोटा था तो किन्ही पंडित जी ने मेरी जन्म कुंडली देखकर कहा था कि जातक के पैर में शनि का चक्कर है इसलिए ये हमेशा घूमता ही रहेगा । मुझे लगता है कि वैसा ही चक्कर ज़रूर बहुत घुमक्कडों के पैरों में होता होगा । यह बात मैं टर



फलों , शहद और झरनों के देश क्रोएशिया में -1 दिनेश डाक्टर

फलों , शहद और झरनों के देश क्रोएशिया में -114 सितम्बर 2019 से 5 अक्तूबर 2019सितम्बर 1935 में श्री राहुल सांकृत्यायन जी ने एक महीने तक जो यात्रा बाकू, कुहीन, तेहरान, इस्फ़हान, कुम, शीराज़, पर्सेपोलिस, मशहद, ज़ाहिदान, बिलोचिस्तान जैसे दुर्गम स्थानों की, वो भी बसों, द्रकों और छकड़ा कारों के ज़रिए, वह वा



अनवरत यात्रा

सभ्यता की विकास यात्रा जारी है अनवरत अनवरत, पृथ्वी के जन्म से चल रहा है परिवर्तन अब तक।कई प्रजातियां पौधों की और जीवों की बदल रही अविरत,बड़े बड़े पेड़ों में और जानवरों में हो रह



इस्लामिक गणराज्य ईरान अपने में एक पहेली है

इस्लामिक गणराज्य ईरान अपने में एक पहेली हैडॉ शोभा भारद्वाज इस्लामिक गणराज्य ईरान अपने में एक पहेली है इस मुल्क को वही समझ सकते हैं जो लम्बे समय तक वहाँ रहें हैं जिनका जनता से सम्पर्क रहा है ईरान अपने में ही पहेली है सत्ता पर पूरी ईरान को समझना आसान नहीं



गरीब

हालातो ने उसे हर जगह घसीटा हैं | जिंदगी मेे जश्न नही फिर भी वो जीता हैं |हमदर्दी का हाथ मिलाने मे वो अब डरता हैं दुध का जला हैं साहब, छाछ भी फूंक - फुंक कर पीता हैं |



‘‘फेक’’ ‘‘एनकाउंटर’’ को ‘‘वैध‘‘ बनाने के लिए ‘‘कानून‘ क्यों नहीं बना देना जाना चाहिए?

‘‘विकास दुबे एनकाउंटर’’ (मुठभेड़) पूरे देश में ही नहीं, बल्कि अंतरराष्ट्रीय स्तर पर भी चर्चित है। यह घटना न केवल स्वयं ‘‘सवालों में सवाल’’ लिये हुये है, बल्कि उपरोक्त ‘‘शीर्षक’’ प्रश्न भी पुनः उत्पन्न करता है। लगभग हर ‘एनकाउंटर’ के बाद उस पर हमेशा प्रश्नचिन्ह अवश्य लगते रहे हैं। उक्त ‘प्रश्नचिन्ह’ क



कोरोना तो करोना, सांप भी पीछे नहीं!

कोरोना तो करोना, सांप भी पीछे नहीं!इस समय कोरोना ही नहीं सर्प भी लोगों का दुश्मन बना हुआ है. देश में इस समय मानसून और कोराना का दौर चल रहा है.कोरोना और सर्प का विष दोनो ही मनुष्य पर हावी है. कोरोना से मौत का सिलसिला हमारे देश में इस साल शुरू हुआ किन्तु पिछले बीस सालों में सांप के काटने से तकरीबन



उत्तर प्रदेश बोर्ड परीक्षा में उत्तीर्ण सभी छात्रों को मैं बधाई

उत्तर प्रदेश बोर्ड परीक्षा में उत्तीर्ण सभी छात्रों को मैं बधाई एवं शुभकामनाएं देता हूँ। आप सभी छात्र-छात्राओं को भारत का भविष्य निर्धारित करना है। आशा है आप अपने आगामी जीवन की सभी परीक्षाओं में अपना इसी प्रकार श्रेष्ठतम प्रदर्शन देगें। ‬‪जो छात्र इस वर्ष किसी कारणवश



महामारी के बाद के विश्व में भारतीय विदेश नीति

कोरोना वायरस के प्रकोप से विश्व व्यवस्था व्यापक परिवर्तन के दौर से गुज़र रही है। इन परिवर्तनों की व्यापकता सामाजिक, आर्थिक, राजनैतिक, सांस्कृतिक क्षेत्रों के साथ ही मानव के



क्या ‘‘कोरोना’’ ने ‘‘नौकरशाही’’ को कुंठित तो नहीं कर दिया है?

लॉकडाउन-4 समाप्त! लॉकडाउन-5 प्रारंभ नहीं। बल्कि इसकी जगह देश अनलॉक-1 (नॉकडाउन-1) के नये दौर में देश प्रवेश कर रहा हैं। यह नया दौर कैसा होगा, यह तो भविष्य ही बतलायेगा। आइये, तब तक नौकरशाही द्वारा जारी अपरिपक्व आधे-अधूरे आदेशों निर्देशों के संबंध में गुजरे लॉकडाउन का थोड़ा अवलोकन कर लें। ‘देश’ व ‘जीवन



06 मई 2020

समीक्षा: उरी: द सर्जिकल स्ट्राइक पूरी फिल्म

18 सितंबर 2016 को वह दिन था जब आतंकवादी समूह भारतीय सैनिकों पर हमला कर रहे थे जब वे बस से जा रहे थे। यह भारतीय सेना पर बड़े आतंकवादी हमलों में से एक था। इस हमले में 19 बहादुर सैनिक मारे गए थे।भारतीय सरकार के समर्थन के साथ भारतीय सेना ने आतंकवादी शिविरों को नष्ट करने के बदला पर इस बहादुर ऑपरेशन को अं



Hindi poetry on patriotism and love - शूरवीर ; अर्चना की रचना

देशभक्ति प्रेम पर हिंदी कविता शूरवीर आज फिर गूँज उठा कश्मीर सुन कर ये खबरदिल सहम गया और घबरा कर हाथ रिमोट पर गया खबर ऐसी थी की दिल गया चीर हैडलाइन थी आज फिर गूँज उठा कश्मीर फ़ोन उठा कर देखा तो उनको भेजा आखिरी मेसेज अब तक unread था न ही पहले के मेसेज पर blue tick था ऑनला



सोंच समझकर करें कार्य :-- आचार्य अजुन तिवारी

*इस संसार में मनुष्य को सर्वश्रेष्ठ प्राणी कहा जाता है क्योंकि सभी प्राणियों की अपेक्षा ईश्वर ने मनुष्य को बुद्धि - विवेकरूपी अमूल्य निधि प्रदान की है | मनुष्य अपने बुद्धि - विवेक का सकारात्मक प्रयोग करके स्वयं तो सफल हुआ ही साथ ही सम्पूर्ण मानव समाज के लिए नित्य नवीन ज्ञान प्रस्तुत करके संसार के वि



हसन मियाँ कुछ कीजिये

रामनाथ जी और हसन मियाँ , सदियों से साथ रह रहे हैं. एक ही धरती और एक ही देश में, बस चेहरा और जगह बदल जाया करती है. लेकिन किसी घटना को ले के दोनों के रवैये में बड़ा ही अंतर है.



देशभक्ति

सेवा ही है धर्म हमारा , मानवता ही हम भारतीयों की पहचान है,देशभक्तों की पावन भूमि है यह ,हर दिल में हिंदुस्तान है ।



देश के दो सबसे बडे गद्दार

Desh ke do sabase bade gaddarप्रिय मित्रों सुबह सुबह का प्यार भरा नमस्कार....आज हम आपके सामने "संजय द्विवेदी", की वाल से एक लेख प्रस्तुत कर रहा हूँ, यह एक ऐसा लेख है कि दिल को छू गया। "देशप्रेम की दिल में जल रही ज्वाला" जो कि हमेंं अपने व्लाग मेंं शामिल करने से रोक नही पायी। भले ही हमें काँपी राइट ऐ



02 मार्च 2020

देशभक्ति की भूख

*देशभक्ति की भूख*प्रिय स्नेही मित्रों जय श्रीकृष्णा *देशभक्ति की भूख* मैंं जाति से ब्राह्मण पं0 रमाकान्त मिश्र हूँँ, लेकिन आज मैं एक ठाकुरवादी (राजपूताना) पोस्ट लिख रहा हूं।राजपूतोंं के बारे में कहा जाता है.. अजी साहब बहुत भेदभाव हुआ दलितों के साथ।उनसे खेतों में काम कराया गया।हरवाह



क्षत्रपति शिवा जी

🌞🌞🌞🌞🌞🌞🌞🌞🌞🌞🌞"बचपन" से हीं जिस वीर शिवा ने सुनेतृत्व निभाया!युद्ध - चक्रव्युह रच मिट्टी -बालू के कीले पर ध्वज फहराया!!🎌🎌🎌🎌🎌🎌🎌१६ साल का तरुण ने, पुणे के तोरण दुर्ग पर परचम् लहराया!बीजापुर के आदिलशाह को लोहे के चने वीर शिवा चबवाया!!⛺🎪⛺🎪⛺🎪⛺🎪⛺प्रपंच से पिता शाह को बंदी कर,शिवा का क्र



शाहीन बाग़ का धरना



आसान हिन्दी  [?]
तीव्र हिंदी  [?]
ऑनस्क्रीन कीबोर्ड  [?]
हिन्दी टाइपिंग  [?]
डिफ़ॉल्ट कीबोर्ड  [?]

(फोन के लिए विकल्प)
X
1 2 3 र्4 ज्ञ5 त्र6 क्ष7 श्र8 (9 )0 --   =
q w e r t y u i o p [   ]
a s d िfि g h  j k l ; '  \
  z x c  v  b n m ,, .. ?/ एंटर
शिफ्ट                                                         शिफ्ट बैकस्पेस
x