जन्मदिन शेर

एक गुजीदा गुलाब भेजूँ आपको या पूरा गुलिस्ता ही भेंट कर दूँ आपको , शेर लिखूँ आपके लिए या ग़ज़ल में ही शामिल कर दूँ आपको ,रवि हैं आप , हमेशा आफ़ताब की तरह चमकते रहे जहान में ,अँधेरे वक्त में भी पूनम का साथ हो, मेरे खुदा से यही दुआ है आपको ा



ये उन दिनों की बात है ने 400 एपिसोड पूरे किए

सोनी एंटरटेनमेंट टेलीविज़न के शो ये उन दिनों की बात है ने एक मिलियन दिलों को छूने में कामयाबी हासिल की।90 के दशक का प्रेम सरल, शुद्ध और निर्दोष था, जिसके प्रमुख युगल नैना (आशी सिंह) और समीर (रणदीप राय) अपनी सभी ईमानदारी के साथ परदे पर दिखाई देते हैं। शो में उनके किरदा



भीख मांग कर 6.6 लाख जोड़ने वाली ये बुज़ुर्ग, मरने के बाद पैसे पुलवामा शहीदों के लिए कर गयी दान

कुछ लोगों की दूसरों और ज़रूरतमंदों के प्रति निःस्वार्थ भावना हमें चकित कर देती है. 14 फ़रवरी को कश्मीर के पुलवामा में हुए आतंकी हमले के बाद पूरे देश में शोक की लहर दौड़ गयी. लोग शहीदों के परिवारों की मदद के लिए आगे आने लगे. इसी कड़ी में राजस्थान के अजमेर से एक मिसाल पेश क



सोनी टीवी के ये अन अननोन की बात है में शादी से पहले नैना पर गुस्सा करेंगें समीर

शशि सुमीत प्रोडक्शन द्वारा निर्मित सोनी टीवी के बेहद लोकप्रिय शो ये उन दिनों की बात है के वफादार दर्शक, समीर (रणदीप राय) और नैना (आशी सिंह) की शादी के लिए पूरी तरह तैयार हैं।हालांकि, शादी से पहले शो में दर्शकों के लिए बहुत सारा ड्रामा होगा।हमने पहले नैना और समीर दोनों के



"गीतिका" भुला बैठे हमारे प्यार और इजहार के वो दिन नहीं अब याद आते है मुहब्बत प्यार के वो दिन

मापनी- 1222 1222 1222 1222, समांत- आर, पदांत- के वो दिन"गीतिका" भुला बैठे हमारे प्यार और इजहार के वो दिननहीं अब याद आते है मुहब्बत प्यार के वो दिनलिखा था खत तुम्हारे नाम का वो खो गया शायदकहीं पर शब्द बिखरे हैं कहीं मनुहार के वो दिन।।उठाती हूँ उन्हें जब भी फिसल कर दूर हो जातेबहारों को हँसा कर छुप गए



"गज़ल" जिंदगी के दिन बहुत आए हँसा चलते बने थे नैन सूखे कब रहे की तुम रुला चलते बने थे

बह्र- 2122 2122 2122 2122 रदीफ़- चलते बने थे, काफ़िया- आ स्वर"गज़ल" जिंदगी के दिन बहुत आए हँसा चलते बने थेनैन सूखे कब रहे की तुम रुला चलते बने थेदिन-रात की परछाइयाँ थी घूरती घर को पलटकरदिन उगा कब रात में किस्सा सुना चलते बने थे।।मौन रहना ठीक था तो बोलने की जिद किये क्योंकाठ न था आदमी फिर क्यों बना चलते



साधना - - दिनचर्या के कार्यों के साथ - साथ

^^^^^ साधना - - दिनचर्या के कार्यों के साथ - साथ ^^^^^ ()साधना, जिसके लिए अलग समय देने की आवश्यकता नहीं;ऐसी साधना की बात करें। साधना, जो दिन प्रतिदिन के कार्यों को करते हुए की जा सके;ऐसी साधना की बात करें।। स्वयं से जुड़े रहना;होश में बने रहना;बड़ी उपलब्धियां हैं;उन्हे



"मुक्त काव्य" जीवन शरण जीवन मरण है अटल सच दिनकर किरण

शीर्षक- जीवन, मरण ,मोक्ष ,अटल और सत्य"मुक्त काव्य" जीवन शरण जीवन मरणहै अटल सच दिनकर किरणमाया भरम तारक मरणवन घूमता स्वर्णिम हिरणमातु सीता का हरणक्या देख पाया राम नेजिसके लिए जीवन लियादर-बदर नित भ्रमणन कियाचोला बदलता रह गयाक्या रोक पाया चाँद नेउस चाँदनी का पथ छरणऋतु साथ आती पतझड़ीफिर शाख पर किसकी कड़ी



रामधारी सिंह “दिनकर”-परिचय

Ramdhari Singh Dinkar - Hindi poem परिचय – रामधारी सिंह “दिनकर”सलिल कण हूँ, या पारावार हूँ मैंस्वयं छाया, स्वयं आधार हूँ मैंबँधा हूँ, स्वप्न हूँ, लघु वृत हूँ मैंनहीं तो व्योम का विस्तार हूँ मैंसमाना चाहता, जो बीन उर मेंविकल उस शून्य की झंकार हूँ मैंभटकता खोजता हूँ, ज्



रामधारी सिंह “दिनकर”- बालिका से वधू

Ramdhari Singh Dinkar - Hindi poem बालिका से वधू – रामधारी सिंह “दिनकर”माथे में सेंदूर पर छोटीदो बिंदी चमचम-सी,पपनी पर आँसू की बूँदेंमोती-सी, शबनम-सी।लदी हुई कलियों में मादकटहनी एक नरम-सी,यौवन की विनती-सी भोली,गुमसुम खड़ी शरम-सी।पीला चीर, कोर में जिसकेचकमक गोटा-जाली,चली पिया के गांव उमर केसोलह फूलों



रामधारी सिंह “दिनकर”-कलम, आज उनकी जय बोल

Ramdhari Singh Dinkar - Hindi poem कलम, आज उनकी जय बोल – रामधारी सिंह “दिनकर”जला अस्थियाँ बारी-बारीचिटकाई जिनमें चिंगारी,जो चढ़ गये पुण्यवेदी परलिए बिना गर्दन का मोलकलम, आज उनकी जय बोल।जो अगणित लघु दीप हमारेतूफानों में एक किनारे,जल-जलाकर बुझ गए किसी दिनमाँगा नहीं स्नेह मुँह खोलकलम, आज उनकी जय बोल।पी



रामधारी सिंह “दिनकर”-हो कहाँ अग्निधर्मा नवीन ऋषियों

Ramdhari Singh Dinkar - Hindi poem हो कहाँ अग्निधर्मा नवीन ऋषियों – रामधारी सिंह “दिनकर”कहता हूँ¸ ओ मखमल–भोगियो।श्रवण खोलो¸रूक सुनो¸ विकल यह नादकहां से आता है।है आग लगी या कहीं लुटेरे लूट रहे?वह कौन दूर पर गांवों में चिल्लाता है?जनता की छाती भिदेंऔर तुम नींद करो¸अपने भर तो यह जुल्म नहीं होने दूँगा।त



विराट कोहली को जन्मदिन की हार्दिक बधाई एवं शुभकामनाएं

विराट कोहली अपने वक्त के श्रेष्ठ खिलाड़ियों में से हैं। उन पर बहुत कुछ लिखा-कहा जाता है। जब तक इंडिया जीतती है, तब तक कोहली की तारीफों के पुल बांधे जाते हैं और हार के बाद जब आलोचना शुरू होती है, तो यही पुल दरकते महसूस होते हैं। पर आज विराट के 30वें जन्मदिन पर ये भारी-भरकम बातें नहीं। विराट स्टार हैं



ऐश्वर्या राय बच्चन जी को जन्मदिन पर हार्दिक बधाई

मिस वर्ल्ड का खिताब अपने नाम कर चुकी बॉलीवुड की मशहूर अभिनेत्री एेश्वर्या राय बच्चन आज अपना 45वां जन्मदिन मना रही हैं। बच्चन बहू को लगातार फिल्म इंडस्ट्री और उनके करीबी व फैंस से बधाइयां मिल रही हैं। इस बीच एेश्वर्या के पति अभिषेक बच्चन ने भी खास अंदाज में बधाई दी है। अभिषेक बच्चन ने सोशल मीडिया पर



महिषासुरमर्दिनी स्तोत्रम्

<!--[if gte mso 9]><xml> <o:OfficeDocumentSettings> <o:AllowPNG/> </o:OfficeDocumentSettings></xml><![endif]--><!--[if gte mso 9]><xml> <w:WordDocument> <w:View>Normal</w:View> <w:Zoom>0</w:Zoom> <w:TrackMoves/> <w:TrackFormatting/> <w:PunctuationKerning/> <w:ValidateAgainstSchemas/> <w:Save



अक्षय कुमार का आज है जन्मदिन, 51 के हो गए ‘मिस्टर खिलाडी’

बॉलीवुड के 'खिलाड़ी' के रूप में लोकप्रिय अक्षय कुमार आज अपना 51वाँ जन्मदिन मन रहे है | दो दशकों से बॉलीवुड का हिस्सा रहे हैं अक्षय कुमार ने 'मोहरा', 'मैं खिलाड़ी तू अनाड़ी', 'संघर्ष', 'मुझसे शादी करोगी', 'नमस्ते लंदन', 'भूल भुलैया', 'रुस्तम', टॉयलेट : एक प्रेम कथा, पैडमैन और हालिया रिलीज़ गोल्ड जैसी



Happy Bday : आज है बॉलीवुड की बोल्ड और बेबाक एक्ट्रेस राधिका आप्टे का जन्मदिन

यूं तो बॉलीवुड में हर साल बहुत नई एक्ट्रेस आती हैं। कई हिट होती हैं कई फ्लॉप.. वहीं ऐसी एक्ट्रेस कम ही होती हैं जो बोल्डनेस और शानदार एक्टिंग के बल पर अलग जगह बना लेती हैं। ऐसी ही एक एक्ट्रेस राधिका आप्टे.. बेहद कम समय में बॉलीवुड पर राज करने वाली एक्ट्रेस राधिका आप्टे आज अपना 33वां जन्मदिन मना र



“मुक्तक” फिंगरटच ने कर दिया, दिन जीवन आसान।

“मुक्तक” फिंगरटच ने कर दिया, दिन जीवन आसान। मोबाइल के स्क्रीनपर, दिखता सकल जहान। बिना रुकावट मान लो, खुल जाते हैं द्वार- चाहा अनचाहा सुलभ, लिखो नाम अंजान॥-1 बिकता है सब कुछयहाँ, पर न मिले ईमान। हीरा पन्ना अरु कनक, खूब बिके इंसान। बिन बाधा बाजार में, बे-शर्ती उपहार- हरि प्रणाम मुस्कानसुख, सबसे बिन पह



झारखंड में रिश्वत लेने पर पंचायत सेवक को पांच वर्ष की कैद

9:49 HRS IST मेदिनीनगर (झारखंड), 22 अगस्त (भाषा) भ्रष्टाचार निरोधक ब्यूरो की एक विशेष अदालत ने रिश्वत मांगने और लेने के जुर्म में एक पंचायत सेवक को पांच वर्ष कैद की सजा सुनाई है। विशेष अदालत के न्यायाधीश देवेन्द्र कुमार पाठक ने कल बीगू राम के खिलाफ यह आदेश सुनाया। उस पर 15,000 रूपए का जुर्मान



आसान हिन्दी  [?]
तीव्र हिंदी  [?]
ऑनस्क्रीन कीबोर्ड  [?]
हिन्दी टाइपिंग  [?]
अंग्रेजी  [?]

(फोन के लिए विकल्प)
X
1 2 3 र्4 ज्ञ5 त्र6 क्ष7 श्र8 (9 )0 --   =
q w e r t y u i o p [   ]
a s d िfि g h  j k l ; '  \
  z x c  v  b n m ,, .. ?/ एंटर
शिफ्ट                                                         शिफ्ट बैकस्पेस
x