इंदिरा

1


इस्लामिक सेकुलरिज्म

हजारों वर्षों से भारत की धरती विदेशी आक्रमणकारिओ व उनके द्वारा किए हुए अमानवीय व अप्रत्याशित,अकल्पनीय वहाबी कृतियों को स्वतंत्रता के उपरांत भी मधु भाषणीय कवियों की पंक्तियों की तरह भारत के शिक्षा क्रम में पारितोषिक किया जा चुका है.जीसस के जन्म से भी पूर्व महान राष्ट्रप्रेमी विद्वान पंडित चाणक्य द्वा



इंदिरा गांधी के विषय में वो 9 बातें जिन्होंने बदला भारत का इतिहास

इंदिरा गांधी को अपने संपूर्ण जीवन में कई रूपों में जाना जाता था। 70 के दशक के दौरान भारत की लौह महिला, एकमात्र महिला प्रधानमंत्री, कांग्रेस की आत्मा। वह जवाहर लाल नेहरू की बेटी थीं और अपनी विरासत बनाने के लिए भारतीय इतिहास में सबसे अधिक स्मरणीय नामों में से एक रहीं। हालांकि ये इंदिरा गांधी के विषय म



इस लेख को पढ़ते ही आप नहीं रह जाएंगे सामान्य व्यक्ति

अगर हम किताबें पढ़ना शुरू करें तो पाएंगे कि इस दुनिया में जो कुछ भी नया हो रहा है वो नया नहीं है। तमाम नए विचारों को सदियों पहले से ही सोचा जा रहा है और उस पर काम भी किया जा रहा है।गौरतलब है कि हम अपने सभी विचारों को अपना मानते हैं और नया भी पाते हैं उसके बाद भी हम सा



इंदिरा गाँधी को आयरन लेडी के नाम से क्यों जाना जाता है?

आज 'आयरन लेडी ऑफ इंडिया' इंदिरा गांधी का जन्मदिवस है। 19 नवंबर, 1917 को जन्मी इंदिरा गांधी ने कई ऐसे बड़े फैसले लिए जिसने देश के इतिहास को बदल दिया। उनके कुछ ऐसे बड़े फैसले जिनसे देश की रुपरेखा ही बदल गयी जिनके बारे में आज पढ़ेंगे...1. बैंकों का राष्ट्रीयकरण जो 19 जुलाई, 1969 को इंदिरा गांधी के नेतृत



क्या आप जानते हैं इंदिरा गाँधी के गलत फैसले के बारे में?

भारत की पहली महिला प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी की हत्‍या को आज 34 साल पूरे हो गए हैं। 31 अक्टूबर, 1984 को उनके ही सुरक्षाकर्मियों ने उन्‍हें गोलियों से छलनी कर दिया था। आखिर क्‍या थी सिख समुदाय की नाराजगी की वजह, जो इंदिरा की मौत का कारण बनी? दरअसल सिख समुदाय का एक बड़ा



इंदिरा की मौत की भविष्यवाणी करने वाले ज्योतिषाचार्य ने मोदी को लेकर कही बड़ी बात

देश में कई लोग हैं, जिन्हें ज्योतिष और भविष्य वाणी पर विश्वास है, आज हम आपको एक ऐसे ज्योतिषाचार्य की भविष्यवाणी के बारे में बताते हैं, जिनकी अभी तक कई भविष्यवाणियां सही साबित हुई है। आपको जानकारी के लिये बता दें कि इन्हीं शख्स ने संजय गांधी और पूर्व प्रधानमंत्री इंदिरा गा



26 /6/1975 देश में आपत्काल की घोषणा

26 जून 1975 देश में आपतकाल की घोषणा डॉ शोभा भारद्वाज 26 जून 1975 ,आकाशवाणी से न्यूज रीडर के बजाय तत्कालीन प्रधान मंत्री इंदिराजी ने आठ बजे की न्यूज में स्वयं आपतकाल की घोषणा की ‘भाईयो और बहनों राष्ट्रपति महोदय ने आपतकाल की घोषणा की है इससे आतंकित होने की आवश्यकता नहीं है’ |ब



इंदिरा गाँधी -ध्रुवतारा :विरोधियों के कुत्सित प्रयासों के बाद भी सबसे प्यारी

जब ये शीर्षक मेरे मन में आया तो मन का एक कोना जो सम्पूर्ण विश्व में पुरुष सत्ता के अस्तित्व को महसूस करता है कह उठा कि यह उक्ति तो किसी पुरुष विभूति को ही प्राप्त हो सकती है किन्तु तभी आँखों के समक्ष प्रस्तुत हुआ वह व्यक्तित्व जिसने



हाँ, मोदी या इंदिरा के राजनीतिक उभार से जरूर सीख लें अखिलेश!

समाजवादी पार्टी के हाई प्रोफाइल ड्रामे के बीच 24 अक्टूबर को हुई पार्टी की महाबैठक में मुलायम सिंह यादव ने अखिलेश यादव को सीख देते हुए कहा कि उन्हें पीएम मोदी से सीखना चाहिए, जो प्रधानमंत्री बनने के बाद भी अपनी माँ को नहीं भूले हैं. हालाँकि, सपा सुप्रीमो का सन्दर्भ यह था कि वह शिवपाल यादव, अमर सिंह क





1
आसान हिन्दी  [?]
तीव्र हिंदी  [?]
ऑनस्क्रीन कीबोर्ड  [?]
हिन्दी टाइपिंग  [?]
डिफ़ॉल्ट कीबोर्ड  [?]

(फोन के लिए विकल्प)
X
1 2 3 र्4 ज्ञ5 त्र6 क्ष7 श्र8 (9 )0 --   =
q w e r t y u i o p [   ]
a s d िfि g h  j k l ; '  \
  z x c  v  b n m ,, .. ?/ एंटर
शिफ्ट                                                         शिफ्ट बैकस्पेस
x