Shiv ji ki aarti - शिवजी की आरती - In Hindi

Shiv ji ki aarti - शिवजी की आरती - In HindiShiv ji ki aarti - शिवजी की आरतीॐ जय शिव ओंकारा, स्वामी जय शिव ओंकारा।ब्रह्मा, विष्णु, सदाशिव, अर्द्धांगी धारा॥ॐ जय शिव ओंकारा॥ एकानन चतुरानन पञ्चानन राजे।हंसासन गरूड़ासन वृषवाहन साजे॥ॐ जय शिव ओंकारा॥ दो भुज चार चतुर्भुज दसभुज



बीयर बोतल पर विराजमान हैं गणपति बप्पा, इस कंपनी ने हिंदू देवता का बनाया है मजाक

देवी-देवताओं को लोग पवित्र मानकर पूजा करते हैं, उनमें विश्वास रखते हैं। वहीं एक बीयर कंपनी ने भगवान की फोटो का गलत इस्तेमाल करते हुए बोतल पर गणेश जी की फोटो डाली है। जाहिर है, इससे दुनियाभर में फैले हिंदू आहत हुए हैं। लोग कंपनी के खिलाफ जमकर गुस्सा उतार रहे हैं। सोशल



इन 5 राशियों पर होगी गौरी पुत्र गणेश की असीम कृपा, होगा भाग्योदय, दूर होंगे सभी संकट

ग्रहों की स्थिति कब बदल जाये कुछ कहा नहीं जा सकता, ज्योतिष की मानें तो रोज़ाना किसी न किसी ग्रह में परिवर्तन ज़रूर होता है जिसकी वजह से 12 रशियन प्रभावित होती हैं। तो आइये जानते हैं पं दयानन्द शास्त्री से कि किन-किन राशियों पर है गौरी पुत्र गणेश की असीम कृपा और साथ ही कैसा रहेगा आपका आज का दिन । मेष व



भगवान शिव की कथाओं का अनसुना पहलु, दो नहीं बल्कि 6 पुत्रों के पिता थे शिव

आपने भगवान विष्णु के पुत्रों के नाम पढ़े होंगे। नहीं पढ़ें तो अब पढ़ लें- आनंद, कर्दम, श्रीद और चिक्लीत। विष्णु ने ब्रह्मा के पुत्र भृगु की पुत्री लक्ष्मी से विवाह किया था। शिव ने ब्रह्मा के पुत्र दक्ष की कन्या सती से विवाह किया था, लेकिन सती तो दक्ष के यज्ञ की आग में कूदकर भस्म हो गई थी। उनका तो को



गणपति विसर्जन के बाद की ये तस्वीरें हमें सोचने पर मजबूर कर देंगी हर हिंदू जरुर देखें

रे देश में गणपति उत्सव बड़े ही धूमधाम से मनाया गया, आज ही के दिन यानी 23 सितंबर को गणपति विसर्जन का दिन है। आज के दिन सभी स्थापित गणपति की मूर्तियों का विसर्जन किया जाएगा। हर साल गणेश चतुर्थी के अवसर पर लोग अपने-अपने घरों में भगवान गणेश की मूर्ति की स्थापना करते हैं और फि



गणपति बप्पा मोरया

गणपति बप्पा मोरया डॉ शोभा भारद्वाज श्रीगणेश की पौराणिक जन्म कथा के अनुसार पार्वती जी स्नान करने जा रहीं थीं उन्होंने अपने बदन से उतरे उबटन से गणेश जी कीमूर्ति बनाई उनकी प्राण प्रतिष्ठा कर उन्हें आदेश दिया जब तक वह स्नान कर रहीं है किसीको अंदर आने न दिया जाये| समय से पूर्व शिव जी



23 सितंबर गणेश विसर्जन मुहूर्त आवश्यक मन्त्र एवं विधि

https://ptvktiwari.blogspot.com/2018/09/23-2018.html<!--[if !supportLineBreakNewLine]--><!--[endif]--> Home»»Unlabelled» 23 सितंबर 2018 गणेश विसर्जन मुहूर्त आवश्यक मन्त्र एवं विधि 23 सितंबर गणेश विसर्जन मुहूर्त आवश्यक मन्त्र एवं विधिकिसी भी कार्य को पूर्णता प्रदान करनेके ल



गणेश चतुर्थी | Religious and Astrology

Home»»Unlabelled» गणेश चतुर्थीदिनांक 13 सितंबर को स्थापना एवं 23 सितंबर को गणेश विसर्जनदिनांक 13 सितंबर को चतुर्थी तिथि 2:58 तक एवं स्वाति नक्षत्र चंद्र तुला राशि में योग रहेगा। स्थापना समय- स्थापना दिन में ही की जाना चाहिए क्योंकि गणेश जी का जन्म मध्यान्ह समय हुआ है इसलि



इस गणेश चतुर्थी, गणेश जी के इन नारों से गूंज रहा संसार - Ganesh Ji naare / slogan Hindi mein.....

आज से पुरे देश में गणेश चतुर्थी मनाया जा रहा है, ऐसे में हम आपके लिए लेकर आये है गणपति बप्पा के कुछ ऐसे नारे जो आप में श्रधा और उमंग भर देगा |हिंदी में : गणपति बप्पा मोरया, मंगलमूर्ति मोरया, अगले बरस तू जल्दी आ.मराठी में : गणपति बप्पा मोरया, मंगळमूर्ती मोरया, पुढ़च्यावर्षी लवकरया.मालवा में : गणपति ब



122 वर्ष बाद गणेश चतुर्थी पर बन रहा नक्षत्रों और ग्रहों का विशेष संयोग, इन उपायों को करने से होगी हर मनोकामना पूरी !!

गणेश चतुर्थी का उत्सव 12 सितंबर से शुरू हो रहा है। घर-घर गणपति बप्पा मेहमान बनकर अगले 10 दिनों तक विराजमान होंगे। उत्सव को लेकर जगह-जगह तैयारियां शुरू हो गई हैं। घरों, मंदिरों समेत सार्वजनिक स्थलों पर गणेश भगवान की मूर्तियों को विधि-विधान क



गणेश चतुर्थी

<!--[if gte mso 9]><xml> <o:OfficeDocumentSettings> <o:RelyOnVML/> <o:AllowPNG/> </o:OfficeDocumentSettings></xml><![endif]--><!--[if gte mso 9]><xml> <w:WordDocument> <w:View>Normal</w:View> <w:Zoom>0</w:Zoom> <w:TrackMoves/> <w:TrackFormatting/> <w:PunctuationKerning/> <w:ValidateAgainstSc



गणेश चतुर्थी "विनायक चतुर्थी"

गणेश चतुर्थी या "विनायकचतुर्थी" हिंदू समुदाय द्वारामनाए जाने वालेप्रमुख पारंपरिक त्यौहारों मेंसे एक है।हिंदू कैलेंडर केभद्रपद महीने के शुक्लपक्ष की चतुर्थीको गणेश चतुर्थीके



सिंह, श्री गणेश - लोकसभा सदस्य

निर्वाचन क्षेत्र -सतना (मध्‍य प्रदेश)दल का नाम -भारतीय जनता पार्टी ( भा.ज.पा.)ईमेल -sganesh[AT]sansad[DOT]nic[DOT]in loksabhasatna[AT]gmail[DOT]comजन्म की तारीख -02/07/1962उच्चतम योग्यता -स्‍नातकोत्तरशैक्षिक और व्यावसायिक योग्यता -एम.ए., एल.एल.बी., अवधेश प्रताप सिंह विश्‍वविद्यालय, रीवा औ



लेख-- आज़ादी के साथ अपने दायित्वों और संवैधानिक कर्तव्यों को समझें

भारत परम्पराओं और त्योहारों का देश है। हमारी संस्कृति के परिचायक यहीं तीज-त्यौहार हैं। आज त्योहारों की आड़ में हुलड़बाजी समाज में पनप रहीं है। गणेश पूजन की बात हो, या किसी अन्य त्यौहार की क्या उसकी मूल भावना समाज में जीवित है। इस पर गौर करना चाहिए। क्या गणेश उत्सव को



होली की शुभकामनये शायरी

1 खुसियो की बहार चाँद की चाँदनी , अपनों का प्यार शुभ आपके यह रंगों का त्यौहार 2 . आपके दिल में हम रहते है इसलिए हम आपकी इतनी क़द्र करते है कोई हमसे पहले विश न कर इसलिए 10 दिन पहले ही विश हम कर देते है हैप्पी होली 3,. प्यार है तो कॉलेज मस्त



एक तस्वीर



शहीदों की यादों को भुलाने में कानपुर का कोई मुकाबला नहीं।

कानपुर । गणेश शंकर विद्यार्थी भारतीय स्वतंत्रता संग्राम के अनूठे लड़ाके थे। वे न सिर्फ राजनीति के क्षेत्र में बल्कि सामाजिक क्षेत्र में व्याप्त कुरीतियों के विरुद्ध भी संघर्ष करते रहे। वे गांधी जी के अनुयायी थे लेकिन भगत सिंह और चंद्रश



सामाजिक एकाकार का पर्व है गणेशोत्सव

हमारी भारतीय संस्कृति अध्यात्मवादी है, तभी तो उसका श्रोत कभी सूख नहीं पाता है। वह निरन्तर अलख जगाकर विपरीत परिस्थितियों को भी आनन्द और उल्लास से जोड़कर मानव-जीवन में नवचेतना का संचार करती रहती है। त्यौहार, पर्व और उत्सव हमारी भारतीय संस्कृति की विशेषता रही है, जिसमें जनमानस घोर विषम परिस्थितियों में



KAVITA RAWAT

उत्सव, त्यौहार, पर्वादि हमारी भारतीय संस्कृति की अनेकता में एकता की अनूठी पहचान कराते हैं। रक्षाबन्धन के साथ ही त्यौहारों का सिलसिला शुरू हो जाता है। वर्ष के 365 दिन में से 111 दिन भारतीय समाज त्यौहारों और पर्वों को अलग-अलग रूपों में मनाता है। सदियों से चलती आयी हमारी यह उत्सवधर्मी परम्परा जीवन की ए



गणेश-वंदना

गणेश चतुर्थी के अवसर पर प्रथम पूज्य भगवान "श्री गणेश" की आराधना, गणेश वंदना के साथ कीजिये। आप सभी को, गणेश चतुर्थी की हार्दिक बधाई।गणनायकाय गणदेवताय गणाध्यक्षाय धीमहि ।गुणशरीराय गुणमण्डिताय गुणेशानाय धीमहि ।गुणातीताय गुणाधीशाय गुणप्रविष्टाय धीमहि ।एकदंताय वक्रतुण्डाय गौरीतनयाय धीमहि ।गजेशानाय भालचन्



आसान हिन्दी  [?]
तीव्र हिंदी  [?]
ऑनस्क्रीन कीबोर्ड  [?]
हिन्दी टाइपिंग  [?]
अंग्रेजी  [?]

(फोन के लिए विकल्प)
X
1 2 3 र्4 ज्ञ5 त्र6 क्ष7 श्र8 (9 )0 --   =
q w e r t y u i o p [   ]
a s d िfि g h  j k l ; '  \
  z x c  v  b n m ,, .. ?/ एंटर
शिफ्ट                                                         शिफ्ट बैकस्पेस
x