1


कैलाश पर्वत के बारे में कुछ ऐसी बातें जो आपको नहीं पता होगी।

कैसे हो दोस्तों आज मैं आपसे कैलाश पर्वत के बारे में बताने वाला हूं ऐसे कुछ रहस्य है कैलाश पर्वत के बारे में जो आज तक सुलझाए नहीं गए हैं। कैलाश पर्वत पर चढ़ने वाली पर्वतारोहियों के पैर कोन रोक देता है ? यह दुनिया का सबसे ऊंचा पर्वत नहीं है फिर भी क्यों यह अजय है ? क्या



"गुलज़ार गली" Part-1

"गुलज़ार गली" भाग-१ hindi poem"तुम्हे जाना तो खुद पे हमें तरस आ गया,तमाम उम्र यूँही हम खुद को कोसते रहें"............"गुलज़ार गली" यही नाम था उस गली का....मैने कभी देखा नहीं था बस सुना था, हर किसी के ज़ुबान पे बस उसी गली की चर्चा रहती "गुलज़ार गली" |तकरीबन डेढ़ महीन



आतंकवादी चूहा

मासूमियतका असली मतलबआप किसी भीबच्चे या जानवर कीनजरों से नजरेंमिलाकर पता करसकते हैं। शायदइसी सच्चाई से प्रेरितहोकर हमारे पूर्वजोंने इंसान काशरीर और जानवरोंकी गर्दनों को जोड़करभगवानों की कल्पनाकी थी। इसीके चलते हमेंये भगवान बड़े भातेहैं जैसे - गणेशजी। मगर इनकेवाहन मूषक राज कोभगवान की मोहरलगने के बादभी स



रूप मर्द का नया स्वरूप- के सेट पर आग लगने से दुर्घटन

आज सुबह भयंकर आग हादसा हुआ रूप – मर्द का नया स्वरूप के सेट पर मुख्य बिजली बोर्ड में आग लग गई।टीवी शो के सेट पर भयंकर दुर्घटनाएँ होती रहती हैं !! और इस बार कुछ ऐसा ही हुआ है रूप मर्द का नया स्वरुप – रश्मि के प्रोडक्शन द्वारा निर्मित कलर्स शो।आज सुबह, जब सब शूटिंग करने के लिए तैयार थे, सेट पर मुख्य बि



सफ़ेद धारियों वाली वो काली सड़क

सड़क सुरक्षा को लोगों के द्वारा आंकड़ो, दुर्घटनाओं, लोगों की मृत्यु से जोड़कर देखा जाता है जबकि इसका एक और सबसेमहत्वपूर्ण पहलु है जिसका मुझे एवं मेरे जैसे अन्य आम लोगों को प्रतिदिन और दिनमें कई बार सामना करन



क्या हम एक विक्षिप्त समाज बन गये हैं?

विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) की एक रिपोर्ट के अनुसार भारत में पाँच वर्ष से लेकर 29 वर्ष की आयु केबच्चों और युवा लोगों की मृत्यु का मुख्य कारण रोग या भुखमरी या मादक पदार्थों कीलत या साधारण दुर्घटनाएँ नहीं है. इन बच्चों और युवकों की मृत्यु का मुख्य कारण है सड़क दुर्घटनायें.सरकारी आंकड़ों पर अगर विश्वास क



सड़क दुर्घटनायें और हमारी बेपरवाही

सरकारी आंकड़ों के अनुसार भारत में हर दिन चार सौ से अधिकलोग सड़क दुर्घटनाओं में मारे जाते हैं. निश्चय ही यह एक भयानक सच्चाई है. पर इसत्रासदी को लेकर हम सब जितने बेपरवाह हैं वह देख कर कभी-कभी आश्चर्य होता है; लगताहै कि सभ्य होने में अभी कई वर्ष और लगेंगे.अब जो आंकड़े विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) ने जारी क



तुम्हें बच्चों की, याद नहीं आती है ,

वृद्ध दंपति द्वारा आत्महत्या... दुर्भाग्यपूर्ण घटना –हल्द्वानी...2018…( भाव= काल्पनिक )जैसे-जैसे आज शाम ढलने लगी, रोज़ की तरह दीपक की, लौजलने लगी,पत्नी की एकटक आँखें, डब- डबा रही थी,घर की एक-एक चीज़, आँखों में उतर-आ रही थी, दोनों नेमिलकर जाने कैसा , अभागा निर्णयले लिया,



आज का इतिहास - 23 नवम्बर | Today History in Hindi - 23 November

Aaj ka itihas वर्ष/साल प्रमुख घटनाएं1165 पोप एलेक्जेंडर तृतीय निर्वासन के बाद रोम वापस लौटे।1744 ब्रिटिश प्रधानमंत्री जान कार्टरे ने इस्तीफा दिया।1848 अमेरिका के वोस्टन में महिला मेडिकल शैक्षणिक सोसाइटी का गठन।1857 कोलिन कैंपबेल ने लखनऊ में सिपाही विद्



20 अगस्त : साल का आठवां महीना दुखद इतिहास में दर्ज, सैकड़ों लोगों के मारे जाने का साक्षी है यह दिन

साल के आठवें महीने का यह 20वां दिन एक दुखद घटना के साथ इतिहास के पन्नों में दर्ज है। दरअसल 1995 में 20 अगस्त के दिन पुरुषोत्तम एक्सप्रेस और कालिंदी एक्सप्रेस के बीच उत्तर प्रदेश के फिरोजाबाद में आमने सामने की भीषण टक्कर ने भारी तबाही मचाई। दुर्घटना में 250 से ज्यादा लोगों की मौत हो गई और 250 घायल हु



आधी रात को दो ट्रेनें टकराईं और एक हज़ार से ज़्यादा लोग मर गए

1 अगस्त की आधी रात बीत चुकी थी लेकिन सीआरपीएफ का जवान मुकेश कुमार सो नहीं पा रहा था. दिल्ली से चली ब्रह्मपुत्र मेल (4055 डाउन) में उसकी वाली बोगी खचाखच भरी थी. सोने की तो छोड़िए, उसमें पैर रखने तक की जगह नहीं थी. मुकेश को लगा कि ये समय ज़ल्द ही बीत जाएगा और ये अजीब सा स्टेश



( आपात स्थिति के समय ) "ICE" ( In Case of Emergency )

*आकस्मिकघटना संकेत **जरूर पढे और शेयर भी करे *घटनाक्रम संख्या - 1 : तीन दोस्तों का कार में एक्सीडेंट हो गया । एक अजनबी मौके पर पंहुचा । … वो सहायता करना चाहता था । लेकिन उसके पास फोन नहीं था ।कार में 6 स्मार्टफोनमिले लेकिन सभी पर स्क्रीनलॉक था और समय पर मदद और परिजन



“अंतर्राष्‍ट्रीय लेवल क्रासिंग जागरूकता दिवस (ILCAD)” (धैर्य रखें..., सुरक्षित यात्रा करें...)

रेलवे समपार फाटक (लेवल-क्रॉसिंग) रेलपथ का अभिन्नभाग है । भारतीय रेल में लगभग 2 से 3 किलोमीटर के बीच एक समपार फाटक (मानवयुक्तअथवा मानवरहित) उपलब्ध है । इन फाटको पर आए दिन अनेक दुर्घटनाओ के किस्से भी समाचारपत्रों में देखने को मिलते है और इन दुर्घटनाओं के लिए हम लोग अक्सर रेलवे को हीजिम्मेदार





1
आसान हिन्दी  [?]
तीव्र हिंदी  [?]
ऑनस्क्रीन कीबोर्ड  [?]
हिन्दी टाइपिंग  [?]
डिफ़ॉल्ट कीबोर्ड  [?]

(फोन के लिए विकल्प)
X
1 2 3 र्4 ज्ञ5 त्र6 क्ष7 श्र8 (9 )0 --   =
q w e r t y u i o p [   ]
a s d िfि g h  j k l ; '  \
  z x c  v  b n m ,, .. ?/ एंटर
शिफ्ट                                                         शिफ्ट बैकस्पेस
x