गूगल

वर्ल्ड वाइड वेब का 30वां सालगिरह गूगल ने बनाया डूडल | 30th anniversary of the World Wide Web is Google's doodle

इंटरनेट के प्रयोग से सभी का जीवन आसान हो गया है। आज वर्ल्ड वाइड वेब के शुरुआत के 30 साल पूरे हो गए है। गूगल ने वर्ल्ड वाइड वेब के 30वें सालगिरह (30th Anniversary Of The World Wide Web) के मौके पर अपने डूडल के जरिए समर्पित कर रहा है। इसे गूगल ने बहुत बड़े स्तर पर सूचनाओं को प्राप्त करने के तकनीकी के



ओल्गा लैडिजेनस्काया : ( नफरत करने वालों के लिए है सबक...)

नफरत का जवाब हमेशा नफरत नहीं हो सकताहै, वक्त-वक्त पर बहुत से लोगों ने इस बात को साबित किया है । आज हम आपकोएक महान रशियन गणितज्ञ की कहानी बता रहे हैं, जिनके पिताकी नफरत की वजह से हत्या कर दी गई और उनके परिवार को तमाम दुश्वारियां झेलनी पड़ी। ...बावजूद आज वह पूरी दुनिया



Beginner Guide: जानें क्या है ब्लॉगिंग और इससे कैसे करें कमाई - What is Blogging in Hindi

क्या आप जानते हैं ब्लॉग (Blog) क्या होता है ?ब्लॉगिंग (Blogging) कैसे करते हैं ?ब्लॉगिंग के कितने प्लेटफार्म होते हैं?ब्लॉग से पैसे कैसे कमायें ?हर हिंदी ब्लॉगर (Hindi Blogger) के मन में ये सवाल आते है। पर क्या आप इन सवालों के जवाब जानते हैं, अगर नहीं तो इस आर्टिकल को



Google ने विंटर सोलस्टाइस पर डूडल बनाकर साल की सबसे लंबी रात को चिन्हित किया - Winter Solstice in Hindi

आज 21 दिसंबर यानि विंटर सोलस्टाइस है | गूगल ने इस खास अवसर पर Winter Solstice को दर्शाता हुआ डूडल बनाया है | आज उत्तरी गोलार्ध में रहने वाले किसी भी व्यक्ति के लिए साल 2018 का सबसे छोटा दिन और सबसे लंबी



स्पेनिश पेंटर बार्तोंलोम एस्टेबान मुरिलो (जानकारी... जरा हटके. ..)

आजगूगल ने स्पेनिश पेंटर बार्तोंलोम एस्टेबान मुरिलो (Bartolomé EstebanMurillo) का ‘गूगल-डूडल’बनाकर उन्हें विशेष रूप से याद किया है । ‘गूगल’ उनकी 400 वाँ जन्मदिन मना रहा है । ‘गूगल’ ने खास अंदाज में मुरिलोको याद किया है । ‘डूडल’ में मुरिलो कीप्रतिष्ठित पेंटिंग्स में से



“अरेसीबो संदेश”

इंसान की हमेशा से ही कुछ नया जानने कीइच्छा रही है और अक्सर बहुत बार दुनिया से बाहर भी एलियन के होने की भी बातें काहीजाती है । हर कोई यह जानना चाहता है कि, बाहर कि दुनिया में भी लोगरहते है; जिनका हमें कुछ पता नहीं है । यदि पृथ्वी के बाहरजीवन है, तो उसकी खोज कैसे हो ? उ



गूगल ने डूडल बना कर महान नेत्र चिकित्सक पद्मश्री डॉ गोविंदप्पा वेंकटस्वामी को उनके 100वीं सालगिरह पर किया याद

गूगल ने डूडल के जरिए आज यानी 1 अक्टूबर को देश के प्रसिद्ध नेत्र सर्जन पद्मश्री डॉक्टर गोविडप्पा वेंकटस्वामी ( Dr. Govindappa Venkataswamy) को उनके 100वें जन्मदिन के मौके पर याद किया है. डॉक्टर गोविडप्पा वेंकटस्वामी का जन्म 1 अक्टूबर 1918 को तमिलनाडु के वडामल्लपुरम में एक किसान परिवार में हुआ था. D



गूगल दे रहा है लखपति बनने का मौका बस करना होगा ये काम...

गूगल आपके लिए शानदार मौका लेकर आया है जो आपको लखपति बना सकता है l इसमे आप 1 लाख रुपये बड़ी आसानी से जीत सकते हैं l आपकी जानकारी के लिए बता दें कि गूगल ने अपनी गूगल तेज़ पेमेंट सर्विस एप्प का नाम बदलकर गूगल पे कर दिया है इसके लिए गूगल ने ज्यादा से ज्यादा यूजर जोड़ने के लिए ये स्किम चलाई है lइस स्कीम में



क्या आप ओस्कर श्लेमर (जर्मन चित्रकार) के बारे में जानते है ?

ओस्कर श्लेमर (4 सितम्बर 1888 -13 अप्रैल 1943), बोहौस स्कूल से जुड़े एक जर्मन चित्रकार, मूर्तिकार, डिजाइनर और कोरियोग्राफर थे । ऑस्कर का जन्म 4 सितम्बर 1888 में हुआ था । आज 'गूगल' इस मशहूर जर्मन चित्रकार, मूर्तिकार, डिजाइनर और कोरियोग्राफर ‘ओस्कर श्लेमर’ की 130वीं जयंत



Google ने जर्मन चित्रकार ओस्कर श्लेमर के 130 वें जन्मदिन को डूडल बनाकर किया याद - Oskar Schlemmer in Hindi

ओस्कर श्लेमर (4 सितंबर 1888 - 13 अप्रैल 1943) बोहौस स्कूल से जुड़े एक जर्मन चित्रकार, मूर्तिकार, डिजाइनर और कोरियोग्राफर थे। आज Google इस जर्मन चित्रकार, मूर्तिकार, डिजाइनर और कोरियोग्राफर ओस्कर श्लेमर की 130 वीं जयंती मना रहा है।1923 में उन्हें मूर्तिकला की कार्यशाला में कुछ समय काम करने के बाद, बौ



सर डोनाल्ड जॉर्ज ब्रैडमैन का 110 वां जन्मदिन : गूगल ने बनाया डूडल

गूगल आज के डूडल के साथ लेजेंड ऑस्ट्रेलियाई क्रिकेटर सर डोनाल्ड जॉर्ज ब्रैडमैन की 110 वीं जयंती मना रहा है। ऑस्ट्रेलिया के कुतुमंद्रा में 27 अगस्त,1908 को पैदा हुए थे | सर डोनाल्ड, जिसे 'द डॉन' के नाम से



इस्मत चुगताई उर्फ ‘इस्मत आपा’

आजादी से पूर्व और विभाजन के दौर की सबसेप्रतिष्ठित लेखकों में से एक लेखिका इस्मत चुगताई को, आज 107वीं जयंती पर गूगलने ‘डूडल’ बनाकर अनौखे अंदाज में याद किया है । उनका जन्म 21 अगस्त 1915 को उत्तर प्रदेशके बदायूं में हुआ था और मृत्यु 24 अक्टूबर 1991 को मुंबई में हुई थी ।



इस्मत चुग़ताई के 107वें जन्मदिन पर गूगल ने डूडल बनाकर किया याद।

उर्दू साहित्य की सर्वाधिक विवादास्पद और सर्वप्रमुख लेखिका इस्मत चुग़ताई उम्दा कहानीकार रही हैं जिन्होंने अपनी रचनाओं के जरिये महिलाओं के सवालों को नए सिरे से उठाया। इस्मत चुग़ताई का जन्म: 21 अगस्त 1915, बदायूँ (उत्तर प्रदेश) में हुआ था| उल्लेखनीय है कि उन्होंने निम्न



Google ने डूडल बनाकर बॉलीवुड की ट्रेजेडी क्वीन मीना कुमारी को किया याद

बॉलीवुड की 'ट्रेजडी क्वीन' यानि मीना कुमारी का आज जन्मदिन है ...... गूगल ने अपने डूडल के जरिये इस बेहतरीन अदाकारा की खुबसूरती दिखा फिरसे सबको मीना कुमारी जी का कायल बना दिया है | तीन साल तक बॉलीवुड पर राज करने वाली मीना कुमारी ने कई फिल्मों में ऐसा अभिनय किया कि उन्हे



गूगल इमेज सर्च में 'Idiot' टाइप करने पर ट्रंप सबसे ऊपर, ये है इसका कारण !

अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप सबसे लोकप्रिय शख्सियतों में शामिल हैं. अमेरिकी राष्ट्रपति पद के चुनाव के समय से ही उनके अलग अंदाज और फैसलों की वजह से उन्हें दुनियाभर में सबसे ज्यादा सर्च किया गया. लेकिन, अमेरिका के लिए उनके फैसलों को लेकर कई बार किरकिरी भी हुई. सोशल मीडिया पर भी वह सबसे ज्यादा फोलो



गूगल ने मनाई जोर्गेस लेमैत्रे की १२४ वीं जयंती

मंगलवार को, गूगल ने बेल्जियम खगोलविद जॉर्जेस लेमेत्रे की एक डूडल के साथ १२४ वीं जयंती मनाई| लेमेत्रे को बिग बैंग थ्योरी का श्रेय जाता है, जो कहता है कि ब्रह्मांड एक परमाणु से उत्पन्न हुआ, जिसे उन्होंने लौकिक अंडे के रूप में रेफेर किया था। इन्होने सिद्धांतिक तौर पर दव



Google डूडल बिग बैंग सिद्धांत के संस्थापक जॉर्जेस लेमेत्रे का जश्न मनाते हैं

मंगलवार को, Google ने बेल्जियम खगोलविद जॉर्जेस लेमेत्रे की एक डूडल के साथ 124 वीं जयंती मनाई। लेमेत्रे को बिग बैंग थ्योरी के रूप में जाना जाने वाला श्रेय दिया जाता है, जो कहता है कि ब्रह्मांड एक परमाणु से उत्पन्न हुआ, जिसे उन्होंने लौकिक अंडे के रूप में जाना जाता था। वह इस सिद्धांत के साथ आने वाले प



गूगल ने जॉर्ज लेमैत्रे को डूडल बनाकर सम्मानित किया

जॉर्जेस लेमेइट्रे भौतिकी के एक खगोलविद और प्रोफेसर थे,जिन्हें ब्रह्मांड का विस्तार हो रहा है, इस सिद्धांत के पहले व्यक्ति माना जाता है।उनके सिद्



कभी सोचा है कि जिस गूगल पर हम आंख मूंद कर भरोसा करते हैं, क्या वो हमेशा सही जानकारी ही देता है?

सोशल मीडिया के ज़माने में हमें किसी भी चीज़ के बारे में जानना हो, तो गूगल पर एक सेकेंड के अंदर उसकी पूरी जानकारी हमारे सामने होती है. अगर किसी से कुछ पूछो, तो वो यही कहता है कि गूगल कर ले न यार. तो इसका मतलब ये हुआ कि इस दुनिया की कोई भी जानकारी चाहिए, तो बस गूगल करो और जवा



एटलस के रचनाकार “अब्राहम ऑर्टेलियस”

आज से लगभग 400 वर्ष पहले के वक्त की कल्पना कीजिए, तब किसी ने दुनिया का मुकम्मल नक्शा नहीं बनाया था । उस समय पृथ्वी की भोगोलिक स्थिति को समझा पाना कितना कठिन होता होगा ? ... और यह मुश्किल काम करने वाले थे अब्राहम ऑर्टेलियस । जी हाँ, आज के दिन सर्च इंजन ‘गूगल’ ने अपन



आसान हिन्दी  [?]
तीव्र हिंदी  [?]
ऑनस्क्रीन कीबोर्ड  [?]
हिन्दी टाइपिंग  [?]
अंग्रेजी  [?]

(फोन के लिए विकल्प)
X
1 2 3 र्4 ज्ञ5 त्र6 क्ष7 श्र8 (9 )0 --   =
q w e r t y u i o p [   ]
a s d िfि g h  j k l ; '  \
  z x c  v  b n m ,, .. ?/ एंटर
शिफ्ट                                                         शिफ्ट बैकस्पेस
x