हो



"रविवार का सृजन (टूटता परिवार)"

*गुम हो गए संयुक्त परिवार**एक वो दौर था* जब पति, *अपनी भाभी को आवाज़ लगाकर* घर आने की खबर अपनी पत्नी को देता था । पत्नी की छनकती पायल और खनकते कंगन बड़े उतावलेपन के साथ पति का स्वागत करते थे । बाऊजी की बातों का.. *”हाँ बाऊजी"* *"जी बाऊजी"*' के अलावा दूसरा जवाब नही होता था ।*आज बेटा बाप से बड़ा हो गया



दोस्त का प्यार

ओ मेरे दोस्त मत रूठ जाना,ये शरीर बेजान हो जायेगा २ तू जिए हजारो साल मेरी उमर तुझे लग जाये ,पता नही मेरे मरने का तुफान कब आयेगा।



श्री कृष्णाष्टकम्

|| अथ श्री आदिशंकराचार्यकृतम् श्री कृष्णाष्टकं ||भजे व्रजैक मण्डनम्, समस्तपापखण्डनम्,स्वभक्तचित्तरञ्जनम्, सदैव नन्दनन्दनम्,सुपिन्छगुच्छमस्तकम्, सुनादवेणुहस्तकम् ,अनङ्गरङ्गसागरम्, नमामि कृष्णनागरम् ||१||मनोजगर्वमोचनम् विशाललोललोचनम्,विधूतगोपशोचनम् नमामि पद्मलोचनम्,करारविन्दभूधरम् स्मितावलोकसुन्दरम्,म



श्री कृष्ण जन्माष्टमी

श्री कृष्ण जन्माष्टमीकल और परसों पूरा देश जन साधारण को कर्म, ज्ञान, भक्ति, आत्मा आदि की व्याख्या समझानेवाले युग प्रवर्तक परम पुरुष भगवान् श्री कृष्ण का 5246वाँजन्मदिन मनाने जा रहा है | कल स्मार्तों (गृहस्थलोग, जो श्रुतिस्मृतियों में विश्वास रखते हैं तथा पञ्चदेव ब्रह्मा, विष्णु, महेश, गणेश और माँ पार



मैं ही सही हूँ, सबसे बड़ा भ्रम

मैं ही सही हूँ, सबसे बड़ा भ्रम : I'm right, The biggest fallacyमैं ही सही हूँ ""तस्वीरें दीवारों से ही नहीं, दिल से भी उतर जाती हैं उनकी , जिन्हें अपने पर खुदा होने का गुरुर होता है। बस जाती हैं यादें दिलों में उनकी , जिन्होंने दिलों को फ़तेह किया होता है। न रहता है ता



महिला होने का महत्व : Value of being a woman

महिला होने का महत्व : Value of being a woman स्त्री महिला अर्थार्थ दादी , माँ , पत्नि , बहन , बेटी, बुआ , मासी ,............आदि ..... आदि| इनके बिना घर केवल मकान होता है, घर नहीं। इनकी कमी का अहसास तब होता है, जब वे घर में नहीं होतीं या आपके साथ किसी स्त्री का सम्बंध



बाल कलाकार मीत मुखी ज़ी 5 के लिए रश्मि शर्मा सीरीज में | आई डब्लयू एम बज

कई सफल टीवी शो में अभिनय करने वाले बाल अभिनेता मीत मुखी ने ज़ी 5 वेब प्लेटफॉर्म के लिए रश्मि शर्मा के पहले उद्यम के कलाकारों में शामिल हो गए। शीर्षक ‘लव स्लीप रिपीट’ श्रृंखला ज़ी 5 पर स्ट्रीम होगी। आई डब्ल्यू एम बज.कॉम ने एक्टर्स अंशुमान मल्होत्रा, हर्षदा विजय, प्रियल गोर



गुड्डन तुमसे ना हो पाएगा: अंतरा और अक्षत का संगीत | आई डब्लयू एम बज

ज़ी टीवी का प्रसिद्ध शो गुड्डन तुमसे ना हो पाएगा (वेद राज शून्य स्क्वेयर) अपने दिलचस्प ड्रामे से दर्शकों को टीवी स्क्रीन से जोड़े रखता है।जैसा कि हमने इससे पूर्व आई डब्लू एम बज्ज.कॉम द्वारा आप सभी को खबर दी थी कि अक्षत और गुड्डन (कनिका मन) को अंतरा से प्रॉपर्टी के पेपर वा



जिंदगी का सफर

हम वह नहीं जो तेरा साथ छोड़ देंगेहम वो नहीं जो तुम से मुंह मोड़ लेंगेहम तो वह हैं दोस्तजब टूटेगी तेरी सांस तो अपनी सांस जोड़ देंगे



सत्य की जय हो

"सत्य की जय हो"विनम्रता से सुख को भोगा जा सकता है।धैर्य से दुख को मात दिया जा सकता है।अध्ययन करके विद्या अर्जित की जा सकती है।सम्मान देकर सम्मान पाया जा सकता है।धन से ऐश्वर्य प्राप्त किया जा सकता है।क्रोध से खुद को मिटाया जा सकता है।धीर-गंभीर रहकर विजय प्राप्त की जा सकती है।संस्कार से कुल की रक्षा क



स्मिता सिंह सब टीवी पर ऑप्टिमिस्टिक्स शो में नजर आएंगी | आई डब्लयू एम बज

ऑप्टिमिक्स द्वारा निर्मित आगामी सब टीवी शो क्या होगा तेरा आलिया में हर्षद अरोड़ा और प्रियंका पुरोहित मुख्य भूमिका में नजर आएंगे जैसा कि आई डब्ल्यू एम बज पर हमारे द्वारा रिपोर्ट किया गया है।अब हम अभिनेत्री स्मिता सिंह को इस शो के हिस्सा होने के बारे में सुनते हैं।स्मिता टी



समीरा रेड्डी एक नन्ही परी की माँ बनी | आई डब्लयू एम बज

समीरा रेड्डी इंडियन अभिनेत्री जिन्हें पहले हिंदी फिल्मों में देखा गया। उन्हें कई तेलुगु, तमिल और मलयालम फिल्मों में भी देखा गया है।समीरा रेड्डी ने अपना फिल्म डेब्यू 2002 में फिल्म मैंने दिल तुझको दिया से किया था। वह अपनी फिल्मे डरना मना है (2003), मुसाफिर (2004), जय चिरंज



संजीवनी 2 अगस्त 12 को स्टार प्लस पर लॉन्च होगा | आई डब्लयू एम बज

संजीवनी 2, सुरभि चांदना, मोहनीश बहल, नमित खन्ना, गुरदीप कोहली और सयंतनी घोष के साथ आगामी बड़ी मेडिकल शो अगस्त के महीने में लॉन्च होगी। सिद्धार्थ मल्होत्रा ​​के बैनर अल्केमी फिल्म्स द्वारा निर्मित इस शो को इसकी लॉन्चिंग की तारीख 12 अगस्त मिली है। हां, आपने सही सुना!! एक वि



अवनीत कौर ने टिकटॉक पर 13 मिलियन फॉलोअर्स हिट किए | आई डब्लयू एम बज

बहुत ही ग्लैमरस और करामाती ब्यूटी अवनीत कौर, जो सब टीवी के शो अलादीन: नाम तो सुना ही होगा में राजकुमारी यासमीन की भूमिका निभाती हैं, एक प्रसिद्ध टिकटॉक स्टार हैं और बड़ी सफलता हासिल की है।अवनीत कौर भारतीय टेलीविजन की सबसे कम उम्र की हस्तियों में से एक हैं, दर्शकों के बीच



गुड्डन तुमसे ना हो पाएगा: अक्षत ने किया अंतरा को स्वीकार, क्या होगा गुड्डन का? | आई डब्लयू एम बज

ज़ी टीवी का लोकप्रिय शो गुड्डन तुमसे ना हो पायेगा (वेद राज की शून्य स्क्वायर) अपनी मनोरंजक कहानी के साथ दर्शकों का मनोरंजन करने में कोई कसर नहीं छोड़ रहा है। हाई वोल्टेज ड्रामा दर्शकों को चल रहे एपिसोड से रूबरू करा रहा है। प्लॉट के अनुसार, अंतरा (दलजीत कौर) ने अक्षत (निशा



2019 के आम चुनाव के मुद्दे, क्या ‘‘स्थापित चुनावी मुद्दों से’’ हटकर हैं।

स्वतंत्रता प्राप्ति के पश्चात् वर्ष 2019 में देश का यह 17 वाँ आम चुनाव हो रहा है। प्रारंभ में स्वतंत्रता संग्राम में बढ़ चढ़ कर भाग लेने वाली पार्टी (सत्य से परे) एक मात्र कांग्रेस ही मानी जाती रही। वर्ष



पथरी होने के कारण | Pathri Hone Ke Karan In Hindi

आजकल के भाग-दौड़ भरी जिदंगी में खान-पान का ध्यान नहीं रखने पर शरीर में कई प्रकार की बीमारियां घेर लेती है जिनका इलाज अगर समय से नहीं किया जाए तो ये आगे चलकर गंभीर समस्या बन जाती है। इन बीमारी में से एक है गुर्दे में पथरी की समस्या भी इन्हीं रोगों में से एक है। आज हम आ



अभिब्यक्ति हेराई हैं।

अभिब्यक्ति हेराई हैं।हमरे लेखक हेराने हैं ... कही लिखते मिले तो भईया हमे बता दइयों। राजनीति मे अपने वजूद को भुलाने हैं।खोकर मीडिया के हो-हल्ला मे, सामाज को रचने वाले शब्द हेराने हैं... कवि, ब्यंग, शायर, गजल सभी बौराने हैं,खोज-खाज राजनीति के चुटकले उन्हे फैलाने हैं।सच कहने व लिखने से लेखक अभी डेरा



पीरियड्स में दर्द से राहत के लिए होम्योपैथिक दवा |Periods Pain Homeopathic Medicine In Hindi

महिलाओं में पीरियड्स आना प्राकृतिक प्रक्रिया है यह पीरियड्स हर महीने में 3-6 दिनों तक रहती है ऐसे में कई महिलाओं को इस समय गंभीर दर्द और परेशानी से गुजरना पड़ता है। कई बार पीरियड्स देर से आने की समस्या और ब्लीड़िग नहीं रुकने को महिलाएं काफी परेशान रहती है ऐसे में आज हम महिलाओं के पीरियड्स की समस्या



लड़कियों में 16 वर्ष की उम्र में होने वाले अहम बदलाव

जैसा कि हम सभी जानते है कि बदलते समय के साथ ही सभी लोगों में शारीरिक परिवर्तन देखने को मिलते है जब कोई लड़का या लड़की 16 साल के उम्र के पड़ाव को पार कर लेते है तो उनके शरीर और सोच में काफी सारे बदलाव होने लगते है। बात जब लड़कियों की होती है तो उनमें इस सिलसिले की शुरुआत 14 वर्ष की उम्र के साथ ही नजर



आसान हिन्दी  [?]
तीव्र हिंदी  [?]
ऑनस्क्रीन कीबोर्ड  [?]
हिन्दी टाइपिंग  [?]
डिफ़ॉल्ट कीबोर्ड  [?]

(फोन के लिए विकल्प)
X
1 2 3 र्4 ज्ञ5 त्र6 क्ष7 श्र8 (9 )0 --   =
q w e r t y u i o p [   ]
a s d िfि g h  j k l ; '  \
  z x c  v  b n m ,, .. ?/ एंटर
शिफ्ट                                                         शिफ्ट बैकस्पेस
x