"चौपाई मुक्तक" वन-वन घूमे थे रघुराई, जब रावण ने सिया चुराई। रावण वधकर कोशल राई, जहँ मंदिर तहँ मस्जिद पाई।

"चौपाई मुक्तक"वन-वन घूमे थे रघुराई, जब रावण ने सिया चुराई।रावण वधकर कोशल राई, जहँ मंदिर तहँ मस्जिद पाई।आज न्याय माँगत रघुवीरा, सुनो लखन वन वृक्ष अधिरा-कैकेई ममता विसराई, अवध नगर हति कागा जाई।।-1अग्नि परीक्षा सिया हजारों, मड़ई वन श्रीराम सहारो।सुनो सपूतों राम सहारो, जस



मुक्तक

वो हमारे पास जब भी आते हैं हमारे खास हैं अहसास ये करते हैसौ -सौ दुआएं सामने सलामती की,पीछें बर्बादी की योजना बनाते हैं



कवि सम्मेलन

कवि सम्मेलन जयंत में



कभी यहां जाने के लिए मरते थे लोग, आज यहां जा कर मर जाते है

पूरा विश्व कई अजब- गजब कहानियों का संग्रह है।यहां हर चीज़ अपनी ही अलग कहानी बयां करते है। विश्व में न जाने ऐसी कितनी ही अजीबों- गरीब जगह हैं जिनकी खुद की ही एक अलग कहानी है। ऐसे ही कुछ भूतिया जगह के बारे में हम आपको बताने जा रहे है जो एक समय में बेहद ख़ूबसूरत हुआ करती थीं पर आज वहां परिंदा भी देखने को



"गज़ल" जब चाँद का फलक गुनाहों में खो गया तब रात का चलन घटाओं में खो गया

वज़्न - 221 2121 1221 212 अर्कान - मफ़ऊलु-फ़ाइलातु-मफ़ाईलु-फ़ाइलुन बह्र - बह्रे मुज़ारे मुसम्मन अख़रब मक्फूफ़ मक्फूफ़ महज़ूफ़ काफ़िया - घटाओं (ओं स्वर) रदीफ़ - में खो गया"गज़ल" जब चाँद का फलक गुनाहों में खो गयातब रात का चलन घटाओं में खो गयाजज्बात को कभी मंजिलें किधर मिलतीहमसफर जो था वह विवादों में खो



कितनी वांछित है?

कितनी वांछित है?✒️युवा वर्ग जो हीर सर्ग है, मर्म निहित करता संसृति काअकुलाया है अलसाया है, मोह भरा है दुर्व्यसनों कापिता-पौत्र में भेद नहीं है, नैतिकता ना ही कुदरत का;ऐसी बीहड़ कलि लीला में, आग्नेय मैं बाण चलाऊँकहो मुरारे ब्रह्म बाण की, महिमा तब कितनी वांछित है?जो भविष्य को पाने चल दे, वर्तमान का भा



शिक्षा के आँसू

अपनों से दो शब्द“जब अनैतिक शक्ति संस्था-प्रधान के सिंहासन में पदास्थापित हो जाती है तोव्यवस्थाएँ तो चरमराती ही हैं, नैतिक शक्ति को अवसर भी नहीं मिलता और इसकानंगा-नृत्य स



“कुंडलिया” आती पेन्सल हाथ जब, बनते चित्र अनेक।

“कुंडलिया”आती पेन्सल हाथ जब, बनते चित्र अनेक। रंग-विरंगी छवि लिए, बच्चे दिल के नेक॥ बच्चे दिल के नेक, प्रत्येक रेखा कुछ कहती। हर रंगों से प्यार, जताकर गंगा बहती॥ कह गौतम हरसाय, सत्य कवि रचना गाती। गुरु शिक्षक अनमोल, भाव शिक्षा ले आती॥ महातम मिश्र, गौतम गोरखपुरी



दुराचार व हत्या करने के बाद पांच वर्षीय चचेरी बहन की लाश फेंकी सेप्टिक टैंक में, आरोपी गिरफ्तार

20:31 HRS IST जबलपुर, 20 अगस्त (भाषा) जबलपुर जिले के कटंगी कस्बे में 20 वर्षीय एक युवक ने अपनी पांच वर्षीय चचेरी बहन के साथ कथित तौर पर बलात्कार करने के बाद उसकी हत्या कर दी। अनुविभागीय अधिकारी पुलिस (एसडीओपी) भावना मरावी ने बताया कि थाना कंटगी थानान्तर्गत ग्राम जटासी निवासी एक व्यक्ति ने आज सुब



हज यात्रियों ने जबल अराफात पर चढ़ना शुरू किया

15:53 HRS IST जबल अराफात, 20 अगस्त (एएफपी) सालाना हज यात्रा के अंतिम चरण में भारत समेत दुनिया भर के 20 लाख से ज्यादा मुसलमानों ने जबल अराफात पर चढ़ना शुरू कर दिया है। सफेद रंग के बिना सिला अहराम पहने सभी उम्र के हज यात्रियों ने आज सुबह हज के दूसरे दिन अराफात की ओर बढ़ना शुरू किया। यह वही स्थान है, ज



रेलवे स्टेशन पर 500 से अधिक चोरी और जालसाजी करने वाला दंपति गिरफ्तार

19:29 HRS IST जबलपुर, 19 अगस्त (भाषा) मध्यप्रदेश पुलिस ने जबलपुर रेलवे स्टेशन पर यात्रियों के साथ कथित रूप से 500 से अधिक चोरी एवं जालसाजी करने के मामले में एक दंपति को यहां गिरफ्तार किया है। जबलपुर रेलवे पुलिस थाना प्रभारी वाई पी मिश्रा ने आज बताया, ‘‘यहां रेलवे स्टेशन पर यात्रियों से चोरी एव



खबर दिवस मोदी 14

8:5 HRS IST जब हौसले बुलंद होते हैं, देश के लिए कुछ करने का इरादा होता है तो बेनामी संपत्ति का कानून भी लागू होता है : प्रधानमंत्री मोदी



बलात्कार, हत्या के मामले में दोषी को मृत्युदंड की सजा पर उच्च न्यायालय की भी मुहर

15:45 HRS IST जबलपुर, नौ अगस्त (भाषा) मध्य प्रदेश उच्च न्यायालय ने चार वर्षीय एक बालिका से बलात्कार और उसकी हत्या के लिए एक व्यक्ति को सुनाई गई मौत की सजा को बरकरार रखते हुए कहा है, ‘‘दोषी जैसे व्यक्तियों से मानवता को ज्यादा खतरा है।’’ अदालत ने इस अपराध को ‘‘चरम दुराचारिता’’ का कृत्य बताया और बालि



स्कूल की चारदीवारी झोपड़ी पर गिरी, दो व्यक्तयों की मौत, एक घायल

16:13 HRS IST जबलपुर, आठ अगस्त (भाषा) इलाके में हो रही तेज बारिश के कारण यहां गोरखपुर थानान्तर्गत एक स्कूल की चारदीवारी बीती रात इससे सटी झोपड़ी पर गिर गयी, जिससे झोपड़ी में सो रहे एक बच्चे सहित दो लोगों की मौत हो गई और एक बच्चा गंभीर रूप से घायल हो गया।गोरखपुर पुलिस थाने के सहायक निरीक्षक (एसआई) ब



चलती ट्रेन में 30 वर्षीय महिला से बलात्कार, आरोपी गिरफ्तार

14:15 HRS IST जबलपुर, आठ अगस्त (भाषा) जबलपुर और कटनी रेलवे स्टेशनों के बीच चलती ट्रेन के जनरल कोच में 30 वर्षीय महिला के साथ कथित तौर पर बलात्कार करने का मामला सामने आया है। इस मामले में आरोपी को गिरफ्तार कर लिया गया है। जबलपुर रेलवे पुलिस थाना (जीआरपी) प्रभारी वाई मिश्रा ने आज बताया, ‘‘विध्यां



अटेंडर कर रहा ओबीएचएस कर्मचारी की ड्यूटी, ट्रेन में टॉयलेट की सफाई व्यवस्था हुई चौपट

20:52 HRS IST जबलपुर, छह अगस्त (भाषा) मध्यप्रदेश के जबलपुर से चलने वाली 15 ट्रेनों में कोच अटेंडर को आन बोर्ड हाउसकीपिंग सर्विस (ओबीएचएस) कर्मचारी की ड्यूटी अदा करनी पड़ रही है। एक कर्मचारी से दो अलग-अलग प्रकार के कार्य लेने के कारण व्यवस्थाओं पर असर पड़ रहा है। जिसके कारण ट्रेन के एसी कोच में यात



नैना बोल गए - जब तुम कहो

शंकर महादेवन की आवाज़ में जब तुम कहो से नैना बोल गाय गीत, गीत रवि चोपड़ा द्वारा लिखे गए हैं और संगीत निशाद चंद्र द्वारा रचित है।जब तुम कहो (Jab Tum Kaho )नैना बोल गए की लिरिक्स (Lyrics Of Naina Bol Gaye )पलकों से ुलजी पलकये किस्सा गया दिल तलकहो दिल ने कहा देख लीइन आँखों में रब की झलकलम्हों की मुल



जब तुम कहो (Jab Tum Kaho )

'जब तुम कहो' एक 2016 हिंदी फिल्म है जिसमें पारविन दाबास, अंबलिका सरकार और शिरिन गुहा प्रमुख भूमिका निभाते हैं। हमारे पास एक गीत गीत और जब तुम कहो का एक वीडियो गीत है। निशाद चन्द्र ने अपना संगीत बना लिया है। शंकर महादेवन ने इन गीतों को गाया है जबकि रवि चोपड़ा ने अपने गीत लिखे हैं।इस फिल्म के गाने नैन



सांस - जब तक है जान

फिल्म जब्त है जान से फिल्म के गीत मोहित चौहान और श्रेया घोषाल द्वारा गाए जाते हैं, इसका संगीत एआर रहमान द्वारा रचित है और गीत गुलजार द्वारा लिखे गए हैं।जब तक है जान (Jab Tak Hai Jaan )सांस की लिरिक्स (Lyrics Of Saans )सांस में तेरी सांस मिली तोमुझे सांस आईरूह ने छू ली जिस्म की खुशबुतू जो पास आईसा



इश्क शावा - जब तक है जान

इश्क शावा गीत जब तक है जान (2012) गुलजार द्वारा लिखे गए हैं, यह एआर रहमान द्वारा रचित है और शिल्पा राव और राघव माथुर द्वारा गाया गया है।जब तक है जान (Jab Tak Hai Jaan )इश्क शावा की लिरिक्स (Lyrics Of Ishq Shava )इश्क शावाइश्क शावाशौक हैइश्क शावादिल दरिआ है रुकता नहींपानी पे चलके देख ज़राबादलों पे



आसान हिन्दी  [?]
तीव्र हिंदी  [?]
ऑनस्क्रीन कीबोर्ड  [?]
हिन्दी टाइपिंग  [?]
अंग्रेजी  [?]

(फोन के लिए विकल्प)
X
1 2 3 र्4 ज्ञ5 त्र6 क्ष7 श्र8 (9 )0 --   =
q w e r t y u i o p [   ]
a s d िfि g h  j k l ; '  \
  z x c  v  b n m ,, .. ?/ एंटर
शिफ्ट                                                         शिफ्ट बैकस्पेस
x