बिहार के चुनाव ‘‘परिणाम’’ कहीं ‘‘अंकगणित‘‘ को गलत तो सिद्ध नहीं कर देंगे?

बिहार के चुनाव परिणाम प्रायः अप्रत्याशित ही रहे हैं। याद कीजिये! पिछले विधानसभा के आम चुनाव के परिणाम। पहले घंटे के निकले प्रारंभिक रुझान पर स्टूडियोज में बैठे समस्त ज्ञानी, बुद्धिजीवी, मूर्धन्य पत्रकार, राजनीतिक पंडित व विशेषज्ञों द्वारा तेजी से प्रतिक्रिया देने के बाद परिणाम के धीरे-धीरे और अंततः



प्रधानमंत्री जन कल्याणकारी योजना स्वच्छ भारत मिशन के तहत महात्मा गाँधी व पूर्व प्रधानमंत्री श्री लाल बहादुर शास्त्री जी के जन्मदिन के शुभ अवसर पर

अबतक हिंदी न्यूज़ /रामनगर/प्रयागराज /प्रधानमंत्री जन कल्याणकारी योजना स्वच्छ भारत मिशन के तहत महात्मा गाँधी व पूर्व प्रधानमंत्री श्री लाल बहादुर शास्त्री जी के जन्मदिन के शुभ अवसर पर रामनगर सिरसा मेजा प्रयागराज के माँ शीतला धाम के प्रांगड़ में स्वच्छता अभियान चलाया गया जिसमे भारी संख्या में लोगों ने



बेरोजगारी

सरकारें बदलती हैं यहाँ पर नवयुवकों को आश्वासन देती हैं झूठे भाषण देती हैं पर नौकरियां नहीं देती हैं हर जगह लम्बी हैं कतारें व्यवस्था में हैं खामियां बड़बड़ाते हुये घिसट जाती हैं ,देखो कितनी जिन्दगानियाँ आत्मनिर्भरता का स्वप्न दिखाती झूठी दिलासाएँ देती है सब कुछ है कागजों पर पर नौकरियां नहीं देती हैं



Emitra क्या है इसके फायदे जरूर जाने

ई-मित्र बनकर कमाये लाखों रूपये महीना। ई-मित्र बनने का तरीका जरूर जान लीजिए। Emitra kya hai iske fayde jarur janeराजस्थान सरकार ने emitra के जरिये आम नागरिक को सुविधाएं प्रदान करने की कोशिश की है। emitra seva के द्वारा जनता को किसी प्रमाण पत्र के लिए दर - बदर भटकने की जरूरत



इंसान लुट

ना वैक्सीन, ना विकेंसी बेरोजगार तो पहले भी कम न थे। एक के पीछे लगने वाली लाइन हर जगह ही है। कोरोनावायरस ने लाइन को कुछ इस तरह खत्म किया कि अब हर चीज आनलाइन हो गई। पैसा, पढ़ाई, कला, कलाकार, काम, ख्वाब, रिश्ते, बात, मुलाकात। जो बेहतर मार्क्स लेकर आ रहे हैं, यह सरकारी तंत्र में कायदे कागज कानून वाली ज



कोरोना संकट के वक्त हिलती आर्थिक स्थिती चिंताजनक।

मैं आर्थिक मामलों की विशेषज्ञ नहीं हूं केवलवर्तमान स्थिती पर अपना मत रख रही हूं। कोरोना ने कुछ दिनों लोगों को काफी डरायालेकिन ये डर कुछ ही दिन लोगों के मन में रहा, अब लोग सावधानी बरत रहे है लेकिनउन्हें संक्रमित होने से ज्यादा डर अपनी आजीविका खत्म होने का सता है। कई कं



सरकारी तसल्ली - दिनेश डॉक्टर

दिनेश शर्मा की सुबह सुबह की राम राम सब दोस्तो , बुजुर्गों बच्चों को । जो लोग वक़्त बेवक़्त हर रोज़ यहाँ वहाँ पूरे देश में जब चाहे मनमर्जी से लॉक डाउन लगाने और बढ़ाने की प्रस्तावना देते हैं वो सब सरकारी अमले के लोग है जिनकी पूरी पूरी तनख्वाहें हर महीने की एक तारीख को उनके खाते में पहुंच जाती है । जिन लोग



"पीपल्स पार्टी ऑफ इंडिया डेमोक्रेटिक"(पीपीआई डी) के कार्यकर्ताओं की टीम,पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष आर के विद्यार्थी के नेतृत्व में ग्राम सभा भीटा ब्लॉक

कल दिनांक 29 जून को "पीपल्स पार्टी ऑफ इंडिया डेमोक्रेटिक"(पीपीआई डी) के कार्यकर्ताओं की टीम,पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष आर के विद्यार्थी के नेतृत्व में ग्राम सभा भीटा ब्लॉक जसरा जिला प्रयागराज मे जनसंपर्क किया! जनसंपर्क के दौरान यह बात निकल कर के आई कि गांव के मनरेगा के मजदूरों को उनकी मेहनत का आधा पै



सफल जीवन

हमे अपने जीवन में होने वाली कई घटनाएं बहुत ही अचंभित कर जाती हैं। कुछ तो आनन्द से विभोर कर देती है, ऐसी घटनाओं के बारे में हम तुरंत अपनी प्रभावकारी शख्सीयत या फिर अपनी कुशलता को कारण मान कर खुश हो लेते है या फिर किसी व्यक्ति का आभार मान लेते हैं जिसकी वजह से ये आनन्द अनुभूति होती है।



सत्य की पीड़ा (कोरोना)

हर तपका सत्यता से मुँह चुराए है।सत्यता पीड़ा जो देती है कहने में।सत्य की पीड़ा कभी बयां नही होती।आखिरकार सत्य तो सत्य है फिर मुखौटा क्यो?कोरोना का संसार मे सारांश है जो सत्य है।को- कोई रो- रोज़गारना- नही।<!--/data/user/0/com.samsung.android.app.notes/files/clipdata/clipdata_200514_121216_102.sdoc-->



"दो जून की रोटी"

"दो जून की रोटी"न पेट होता, न रोटी का झगड़ा होता।रोटी के स्वाद अनेक, पर पेट एक है।हाथ मे रोटी, सब के कर्म की है रोटी ।अमीरी गरीबी की पहचान है यह रोटी।फ़िल्म में रोटियां की दास्तां निराली है।जग संसार मे रोटी की कहानी निराली।यह रोटी मौत की सौदागर बन गई है कही।घर द्वार जग



जग में मचा है रोना धोना

जग में मचा हुआ है रोना धोनामिलकर मार भगाओ ये कोरोनाछोटा बच्चा है या कोई बड़ा हैकैद हर शख्स घर में ही पड़ा हैछाया यही एक खौफ चारों ओरटूट न जाए कहीं ये जीवन डोरमुश्किल में होश नहीं अपने खोनामिलकर मार भगाओ ये कोरोनाकिताबों से यही सदा सीखा ज्ञानसफाई का हमको रखना है ध्यानसाफ रखो



राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ का अभी तक का सफर। कितना सफल।

वर्ष 1925 में विजयादशमी के पावन दिवस पर डॉ. केशव बलिराम हेडगेवार द्वारा एक शाखा प्रांरभ कर राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ की स्थापना की गई थी। वर्ष 2025 में राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ अपनी सौवीं वर्षगांठ मनाने जा रहा है। किसी भी संगठन के लिये 100 वर्ष पूर्ण करने का अत्यधिक महत्व होता है, क्योंकि इतने लम्बे सम



सरताज गिल ने &amp; टीवी की गुडिया की शादी में मुख्य भूमिका में | आई डब्लयू एम बज

गुडिय़ा की शादी आगामी & टीवी शो जो एस्सेल विजन द्वारा निर्मित किया गया है, पिछले कुछ समय से काफी चर्चा में है। बुंदेलखंड की पृष्ठभूमि में & TV पर यह एक कॉमेडी ड्रामा श्रृंखला है। शो में अभिनय करने वाले कलाकार भूमिकाओं के संबंध में अपनी बारीकियों को पाने के लिए एक व्यापक क



ये



Delhi Famous Places in hindi- ये हैं दिल्ली की 10 सुप्रसिद्ध जगह

अगर आप राजधानी दिल्ली में पहली बार आ रहे हैं और पूरी दिल्ली दर्शन का प्रोग्राम बना रहे हैं तो ये लेख आपके लिए हैं हम आपके लिए लेकर आये हैं आपके लिए दिल्ली के सबसे प्रसिद्ध जगहों (delhi famous places) की लिस्ट। तो आइये जानते हैं दिल्ली के सबसे प्रसिद्ध जगह कौन-कौन सी ह



कभी यहां जाने के लिए मरते थे लोग, आज यहां जा कर मर जाते है

पूरा विश्व कई अजब- गजब कहानियों का संग्रह है।यहां हर चीज़ अपनी ही अलग कहानी बयां करते है। विश्व में न जाने ऐसी कितनी ही अजीबों- गरीब जगह हैं जिनकी खुद की ही एक अलग कहानी है। ऐसे ही कुछ भूतिया जगह के बारे में हम आपको बताने जा रहे है जो एक समय में बेहद ख़ूबसूरत हुआ करती थीं पर आज वहां परिंदा भी देखने को



अपनी दिशा से भटक रहा युवा

आज भारत देश में करोड़ो की सख्यां में युवा बेरोजगार है और दिशा विहीन हो कर भटक रहा है 1 इसके पीछे मै कई कारन मन रहा हूँ 1 अगर में उत्तर भारत की बात करूं जहां से मैं सम्बन्ध रखता हु तो मुझे ये ज्ञात होता है की दो और तीन कारन ही मुख्यत:



अहंकार से बचें :---- आचार्य अर्जुन तिवारी

*भारत देश को एक महान देश कहा जाता रहा है इसका कारण था भारत देश में चारों ओर फैला हुआ ज्ञान का भंडार , यहां के विद्वान एवं विद्वता | हमारे देश के विद्वानों ने आर्ष ग्रंथों का सहारा लेकर की अपनी विद्वता के बल पर संपूर्ण विश्व में भारत देश को विश्वगुरु कहलवाया था | अनेकानेक विद्वान हमारे देश में हुये



चाय

मृदभांड की सोंधी महक से युक्तऐसा पेय, जो कर दे प्रफुल्लित मन,बदन अनुपमेय लेकर घूँट जिसके खिल उठेहर अंग अनुभूति हर पल, ताज़गी है संग है सारे जगत की राय चाहे कितने भी थके हों, दवा, बस एक कप चाय



आसान हिन्दी  [?]
तीव्र हिंदी  [?]
ऑनस्क्रीन कीबोर्ड  [?]
हिन्दी टाइपिंग  [?]
डिफ़ॉल्ट कीबोर्ड  [?]

(फोन के लिए विकल्प)
X
1 2 3 र्4 ज्ञ5 त्र6 क्ष7 श्र8 (9 )0 --   =
q w e r t y u i o p [   ]
a s d िfि g h  j k l ; '  \
  z x c  v  b n m ,, .. ?/ एंटर
शिफ्ट                                                         शिफ्ट बैकस्पेस
x