जन्माष्टमी

कन्हैया के जन्मदिन पर हम विराजे है काशी के गोकुल धाम

https://akankshasrivastava33273411.wordpress.com/ नंद के घर आनंद भयो जय कन्हैयालाल की.... छैल छबीला,नटखट,माखनचोर, लड्डू गोपाल,गोविंदा,जितने भी नाम लिए जाए सब कम है। इनकी पहचान भले अलग अलग नामो से जरूर की जाए मगर अपने मोहने रूप श्याम सलौने सबको मंत्र मुग्ध कर लेते ह



श्री कृष्ण जन्माष्टमी - श्री कृष्णाष्टकम्

श्री कृष्ण जन्माष्टमीकल से देश भर में श्रीकृष्णजन्माष्टमी का पावन और उल्लासपूर्ण पर्व की धूम मची हुई है |सभी को भगवान श्री कृष्ण के जन्मदिवस की हार्दिक शुभकामनाएँ |वास्तव में श्रीकृष्ण का व्यक्तित्व इतना भव्य है कि न केवल भारतीयइतिहास के लिये, वरन विश्व के इतिहास के लिये



यदा यदा ही धर्मस्य

गीता में कृष्ण ने कहा कि हे भारत (अर्जुन) ! जब जब धर्म की हानि और अधर्म की वृद्धि होती है, तब- तब ही मैं व्यक्त रूप में प्रकट होता हूँ. लेकिन वही गीता में अर्जुन से कहा है कि मैं इस सृष्टि का प्रयोजक हूँ इसलिए कर्मो से नहीं बंधता. कर्म से वो बंधते



श्री कृष्ण जन्म महोत्सव

श्री कृष्ण जन्म महोत्सवरविवार 2सितम्बर 2018 को स्मार्तों की श्री कृष्ण जन्माष्टमी है और सोमवार 3 सितम्बर कोवैष्णवों की श्री कृष्ण जयन्ती है | उससे पूर्व कल यानी शनिवार 1 सितम्बर को भगवान श्रीकृष्ण के बड़े भाई बलराम की जयन्ती है | सर्वप्रथम सभी को बलभद्र जयन्ती और श्री कृष



कृष्ण जन्म दिवस : कृष्ण जन्माष्टमी

भगवान कृष्ण का जन्मदिन कृष्णा जन्माष्टमी के रूप में मनाया जाता है। पिछले 5100 सालों से, कृष्ण का जन्म मनाया जा रहा है। लेकिन कृष्ण ने कहा हैं, "मैं कभी पैदा नहीं हुआ हूं।" जन्माष्टमीभक्तोंकेलिएबहुतमहत्वरखती हैं||यहएकवार्षिकउत्सवहैजोभगवानकृष्णकेजन्मकोचिन्हितकरतीहै | भगवान कृष्ण कोभगवानविष्णुकाआठव



५२ साल बाद श्रीकृष्ण जन्माष्टमी पर होंगी सारी मनोकामनाएं पूरी और होगी भारी धन वर्षा

52 साल बाद श्रीकृष्ण जन्माष्टमी पर होंगी सारी मनोकामनाएं पूरी or होगी भारी धन वर्षा- कृष्णजन्माष्टमी भगवान श्री कृष्ण का जनमोत्स्व है। योगेश्वर कृष्ण के भगवद गीता के उपदेश अनादि काल से जनमानस के लिए



जन्माष्टमी, शिक्षक_दिवस हार्दिक शुभकामना

गुरु गोविन्द दोउ खड़े काके लागूँ पायें !बलिहारी गुरु आपने गोविन्द दियो बताये !!#जय_श्रीकृष्ण #शिक्षक_दिवस



03 सितम्बर 2015

जन्माष्टमी का त्योहार!

माखन-मटकी और राधा का प्यार, ले के आया जन्माष्टमी का त्योहार,कंस को देकर ललकार , वध किया भर के हुंकार,माता- पिता का किया सपना साकार,विष्णु के थे आठवें अवतार,कृष्ण की लीला है अपरम्पार,खुशियों की लेकर बहार, आ गया जन्माष्टमी का त्योहार,बुराईयों को त्याग, अच्छाईओं को अपनाओ,यही है जन्माष्टमी त्योहार का सा





1
आसान हिन्दी  [?]
तीव्र हिंदी  [?]
ऑनस्क्रीन कीबोर्ड  [?]
हिन्दी टाइपिंग  [?]
अंग्रेजी  [?]

(फोन के लिए विकल्प)
X
1 2 3 र्4 ज्ञ5 त्र6 क्ष7 श्र8 (9 )0 --   =
q w e r t y u i o p [   ]
a s d िfि g h  j k l ; '  \
  z x c  v  b n m ,, .. ?/ एंटर
शिफ्ट                                                         शिफ्ट बैकस्पेस
x