जाता

1


महाबलीपुरम में दो प्राचीन संस्कृतियों का मिलन आपसी रिश्तों की मजबूत कड़ी साबित होगा

महाबली पुरम में दो प्राचीनसंस्कृतियों का मिलन आपसी रिश्तों की मजबूत कड़ी साबित होगा ? डॉ शोभा भारद्वाज तमिलनाडू की राजधानी चेन्नई से 60किलोमीटर दूर महाबलीपुरम प्राचीन ऐतिहासिक शहरों में से एक ,बंगाल की खाड़ी केकिनारे स्थित प्राचीन बन्दरगाह था |सातवीं सदी में इसकी स्थापना पल्लव वंश के शक्तिशाली राजा



कसैले पन का कसाव

(कसैलेपन का कसाव) मेड़मफोटो खीचेंगी यह लाईन अभद्रता भरी लाईन या अभद्रता की प्रतीक थी। एक चाटा भरी आवाजके साथ प्रतीक वर्दियों से घिर गया। किसी के कमर मे काली बेल्ट पैरो मे काले जूतेजिसमे चेरी की पोलिस ही चमक रही थी। किसी के कमर मे बंधी लाल बेल्ट पैरो मे लालजूता वह दरोगा या कह लो सब इंस्पेक्टर यह ला



ग़ज़ल, किनारों को भिगा पाता कहाँ से नजारों को सजा जाता कहाँ से

जय नव दुर्गा ^^ जय - जय माँ आदि शक्ति -, वज़्न-- 1222 1222 122, अर्कान-- मुफ़ाईलुन मुफ़ाईलुन फ़ऊलुन, क़ाफ़िया— आया (आ स्वर की बंदिश) रदीफ़ --- कहाँ से....... ॐ जय माँ शारदा.....! 1 मुहब्बत अब तिजारत बन गई है 2. मै तन्हा था मगर इतना नहीं था "गज़ल"किनारों को भिगा पाता कहाँ सेनजारों को सजा जाता कहाँ सेबंद थ



कैसे वो अपना बन बैठे - शिखा

Kaise vo apna ban baithe pata hi nahi chala tha,Kaise ruh mai bas gaye the pata hi nahi chala tha.Raat ko sapno mai hum unhe hi to dekha karte the, Kaise vo mujse door ho gaya pata hi nahi chala tha.Ek hum the jo baar baar ishq e izhar kiya karte the,Kaise vo inse anjaan bana raha pata hi nahi chal



;गीतिका, इसी जगह फिर मेला होगा, जहा मोम जल जाता है

आधार छंद- लावणी (मापनीमुक्त) विधान- 30 मात्रा 1614 पर यति अंत में वाचिक गुरु। समांत - आता पदांत- है "गीतिका" चलो दशहरा पर्व मनाए, प्रति वर्ष यह आता है दे जाता है नई उमंगे, रावण को मरवाता है हम भी मेले में खो जाएँ, तकते हुए दशानन को आग लगा



कितना कुछ बदल जाता है, आधी रात को

कितना कुछ बदल जाता है, आधी रात कोकवि: शिवदत्त श्रोत्रियजितना भी कुछ भुलाने कादिन में प्रयास किया जाता हैअनायास ही सब एक-एक करमेरे सम्मुख चला आता हैकितना कुछ बदल जाता है, आधी रात को....असंख्य तारे जब साथ होते हैउस आसमान की छत परमैं खुद को ढूढ़ने लगता हूँ तबकिसी कागज़ के ख़त परधीरे धीरे यादों का एक फिरघे



पाकिस्तानी कलाकारों पर बैन भावनात्मक मुद्दा

पाकिस्तानी कलाकारों पर बैन भावनात्मक मुद्दा डॉ शोभा भारद्वाज आजकल पाकिस्तानी कलाकारों पर बैन का मुद्दा गरमाया हुआ है|अनेक पाकिस्तानी कलाकार भारत में आकर चैनलों (जिन



दशहरा क्यों मनाया जाता है !

दशहरा पूरे भारतवर्ष में मनाया जाने वाला एक महत्‍वपूर्ण धार्मिक त्‍योहार है, जिसे हिन्‍दु धर्म के अनुसार माँ दुर्गा और भगवान श्रीराम से जोडकर देखा जाता है। इस त्‍यौहार को मानने के संदर्भ में अास्‍था ये है कि माँ दुर्गा ने महिषासूर से लगातार नौ दिनो तक युद्ध करके दशहरे के



तब मानव कवि बन जाता है!

तब मानव कवि बन जाता है!जब उसको संसार रुलाता,वह अपनों के समीप जाता,पर जब वे भी ठुकरा देतेवह निज मन के सम्मुख आता,पर उसकी दुर्बलता पर जब मन भी उसका मुस्काता है!तब मानव कवि बन जाता है!-गोपालदास नीरज



बाबा आएगा

बचपन में हम अपनों की गोद में छुपा के सर खुद सुकून से सो जाते थे .......जब कोई कहता बाबा आएगा और उठाकर ले जाएगा आज अपने ही चमन में जब अपनों के सताने से आती नहीं है नीद हमें तो बाबा के पास जाते है और दिखा कर हाथ कहते है बड़े कष्ट में है हम बाबा ले लो तुम हमको अपनी शरण .......





1
आसान हिन्दी  [?]
तीव्र हिंदी  [?]
ऑनस्क्रीन कीबोर्ड  [?]
हिन्दी टाइपिंग  [?]
डिफ़ॉल्ट कीबोर्ड  [?]

(फोन के लिए विकल्प)
X
1 2 3 र्4 ज्ञ5 त्र6 क्ष7 श्र8 (9 )0 --   =
q w e r t y u i o p [   ]
a s d िfि g h  j k l ; '  \
  z x c  v  b n m ,, .. ?/ एंटर
शिफ्ट                                                         शिफ्ट बैकस्पेस
x