झूठ

1


झूठ और सच की लड़ाई

झूठ और सच का खेल बड़ा ही निराला है। हैरानी होती है आदमी झूठ क्यों बोलता है और सच क्यों नहीं बोलता? आखिर कौन सी ऐसी मजबूरी है जिस से व्यक्ति झूठ बोलता है? आज झूठ को क्यों इतनी प्रतिष्ठा मिली है? सच बोलने से व्यक्ति घबराता -कतराता क्यों है? ऐसे तमाम प्रश्न हैं, जो बताते हैं कि इस के कई कारण हैं। मनोव



"गज़ल" छोड़कर जा रहे दिल लुभाते रहे झूठ के सामने सच छुपाते रहे

वज़्न--212 212 212 212 अर्कान-- फ़ाइलुन फ़ाइलुन फ़ाइलुन फ़ाइलुन, बह्रे- मुतदारिक मुसम्मन सालिम, क़ाफ़िया— लुभाते (आते की बंदिश) रदीफ़ --- रहे"गज़ल"छोड़कर जा रहे दिल लुभाते रहेझूठ के सामने सच छुपाते रहे जान लेते हक़ीकत अगर वक्त कीसच कहुँ रूठ जाते ऋतु रिझाते रहे।।ये सहज तो न था खेलना आग सेप्यास को आब जी भर प



रंग

झूठ पलता हो पालनों में जहाँ, सच की उनसे क्या उम्मीद करे, खेलते होली जो नफ़रत घुले पानी से, रंगो की वहां क्या उम्मीद करे. दिखता है रंग अपना ही खूबसूरत, उनसे दूसरे रंगों की क्या तारीफ़ करे. मज़हब में भी जो ढूंढते नफ़रत, उनसे इश्क ओ म



सच्चा-झूठा.

सच बोलने से गर डर लगता है यारो, झूठ ऐसा बोलो कि सच सामने आये. सच को बताने की अक्सर ज़रूरत तो नहीं होती, हाकिम ही गर हो झूठा,तो सच बताना ही पडेगा. (आलिम).



यूँही तुम मुझसे बात करती हो (Yunhi Tum Mujhse Baat Karti Ho )- सच्चा झूठा

Yunhi Tum Mujhse Baat Karti Ho Lyrics from Sachaa Jhutha is sung by Mohammad Rafi and Lata Mangeshkar and written by Indeevar. Music of Yunhi Tum Mujhse Baat Karti Ho is composed by Kalyanji and Anandji.सच्चा झूठा (Sachaa Jhutha )यूँही तुम मुझसे बात करती हो (Yunhi Tum Mujhse Baat Karti Ho ) की लिर



मेरी प्यारी बहनिया बनेगी दुल्हनिया (Meri Pyari Behaniya Banegi Dulhaniya )- सच्चा झूठा

Meri Pyari Behaniya Banegi Dulhaniya Lyrics from Sachaa Jhutha is sung by Kishore Kumar and written by Indeevar. Music of Meri Pyari Behaniya Banegi Dulhaniya is composed by Kalyanji and Anandji.सच्चा झूठा (Sachaa Jhutha )मेरी प्यारी बहनिया बनेगी दुल्हनिया (Meri Pyari Behaniya Banegi Dulhaniya ) क



सच्चा झूठा (Sachaa Jhutha )

'सच्चा झुथा' 1 9 70 की हिंदी फिल्म है जिसमें राजेश खन्ना, मुमताज, फरील मनमोहन, कमल कपूर, जगदीश राज, विनोद खन्ना, नाज, प्रयाग राज, रत्न माला, परवीन पॉल, रशीद खान, कीर्ति कुमार, विजू खोटे, संतोष कुमार , प्रमुख भूमिकाओं में बिलाल जान, राजन हक्सर और दीना पाठक। हमारे पास सच्चा झुथा के 2 गाने के गीत और 2



“गज़ल” झूठ पर ताली न बजती व्यंग का बहुमान कर

मापनी-२१२२ २१२२ २१२२ २१२ समांत- आन पदांत- कर “गज़ल” कुछ सुनाने आ गया हूँ मन मनन अनुमान कर झूठ पर ताली न बजती व्यंग का बहुमान करहो सके तो भाव को अपनी तराजू तौलना शब्द तो हर कलम के हैं सृजन पथ गतिमान कर॥ छू गया हो दर्द मेरा यदि किसी भी देह कोउठ बता देना दवा है जा लगा दिलजान



झूठ ही कह दो, सच हम मान लेंगे!

सुनो ज़रा !जैसे बारिश की बूँदें ढूंढें पता,गरम तपते मैदानों का.जैसे माँ के आने का देता था बता,सुन शोर पायल की आवाज़ों का.वैसे ही गर महसूस कर सको मुझे आज,बग़ल की खाली जगह पर,हर हसने वाली वजह पर,बिन बात हुई किसी जिरह पर.कह दो न,जैसे,तुम ‘झूठमूठ’ का कहते थे,और हम ‘सचमुच’ का मान लेते थे.जैसे,तुम कह देते थे



इस हफ्ते का साप्ताहिक ज्ञान

😂झूठ बोलना …बच्चों के लिए … पाप ,,कुंवारों के लिए …. अनिवार्य ,,प्रेमियों के लिए ….. कला ,,और …शादीशुदा लोगों के लिए … शान्ति से जीने का मार्ग होता है....!!""✋ये है इस हफ्ते का साप्ताहिक ज्ञान।बड़ी मुश्किल से ढूंढ़ कर निकाला है।गीता में लिखना रह गया था।



हमारी सरकारें वादे ज्यादा काम कम करती है

पाँच सच  1- हमारी सरकारें वादे ज्यादा काम कम करती है 2- लोगो का वोट जातिवादिता तथा धर्म के नाम पर भङका कर वोट लेती है 3- ये अपना अधिकतम समय पिछली सरकार की आलोचना करने मे लगाती है 4-हम गलत जानते हुए भी पार्टी का चश्मा लगाकर उसकी तारीफ करते है 5-आप सभी यह पढ़ने के बाद भी अपनी आदतें नही बदलेंगे





1
आसान हिन्दी  [?]
तीव्र हिंदी  [?]
ऑनस्क्रीन कीबोर्ड  [?]
हिन्दी टाइपिंग  [?]
डिफ़ॉल्ट कीबोर्ड  [?]

(फोन के लिए विकल्प)
X
1 2 3 र्4 ज्ञ5 त्र6 क्ष7 श्र8 (9 )0 --   =
q w e r t y u i o p [   ]
a s d िfि g h  j k l ; '  \
  z x c  v  b n m ,, .. ?/ एंटर
शिफ्ट                                                         शिफ्ट बैकस्पेस
x