कुंडली भाग्य: पृथ्वी सरला के समक्ष छुपा रहेगी

कुंडली भाग्य में दिलचस्प ट्विस्टज़ी टीवी की कुंडली भाग्य (बालाजी टेलीफिल्म्स) बालाजी टेलीफिल्म्स द्वारा निर्मित वफादार दर्शकों के लिए दिलचस्प नाटक का मंथन कर रहा है।कथानक के अनुसार, शर्लिन (रूही चतुर्वेदी) पृथ्वी (संजय गगनानी) को ब्लैकमेल करती है और वह महिला से शादी करने के लिए मजबूर हो जाता है।हमने



चुनाव जीतने के हथकंडे

चुनाव जीतने के हथकंडे डॉ शोभा भारद्वाज लोकसभा केचुनावो का सीजन चल रहा है पहला चरण समाप्त हो गया अब दूसरे चरण का चुनाव हो रहा है| चुनाव जीतने केतरीके अब पहले जैसे नहीं रहे चुनाव आयोग की कोशिश रही है निष्पक्ष रूप सेचुनाव कराये जा सकें ,चुनावों में धन का अपव्यय न हो योग्य व्यक्तिचुनाव लड़ने



जीरोडोल-एसपी टैबलेट | Zerodol SP Tablet In Hindi

जीरोडोल-एसपी टैबलेट तीन प्रसिद्ध दवाओं का एक संयोजन है, जिसमें ऐसक्लोफेनाक, सेराटियोपेप्टिडेज़ और पेरासिटामोल या एसिटामिनोफेन शामिल हैं। दवा भारत में इप्का लेबोरेटरीज लिमिटेड द्वारा निर्मित है। Zerodol एक डॉक्टर के पर्चे की दवा है और डॉक्टर से बिना डॉक्टर की सलाह के ब



और क्या मँगोगे ?

और क्या मँगोगे ?महावत से हाथी , तालाब से कमल, किसान से हल,मजदूर से साईकिल, आदिवासियों से तीर कमान, दार्जलिंग से चाय पत्ती, मानव से हाथ, गाँव से लालटेन, आसमान से चाँद तारे रंग चुराए प्रकृति से , यह राजनेता भी कितने अजीब हैं कहते हैं करते नहीं हर चुनाव मे एक नई मुसीबत मांग लेते हैं पूरा नहीं करते।1



कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ,वायनाड के रोड शो में लहराते चाँद तारे वाले हरे झंडे

कांग्रेस अध्यक्ष के रोड शो में लहराते चाँद तारे वाले हरे झंडे डॉ शोभा भारद्वाज कांग्रेस अध्यक्ष श्री राहुल गांधी अमेठी के अलावा केरल के वायनाड से भी पर्चाभरा देश का संविधान हक देता है| वह अमेठी से लगातार सांसद रहे हैं फिर उन्होंनेवायनाड से भी चुनाव लड़ने का फैसला क्यों किया? उन



ज्ञान :-- आचार्य अर्जुन तिवारी

*चौरासी लाख योनियों में भटकने के बाद जीव को देव दुर्लभ मानव शरीर प्राप्त होता है | इस शरीर को पाकर के मनुष्य की प्रथम प्राथमिकता होती है स्वयं को एवं अपने समाज को जानने की , उसके लिए मनुष्य को आवश्यकता होती है ज्ञान की | बिना ज्ञान प्राप्त किये मनुष्य का जीवन व्यर्थ है | ज्ञान प्राप्त कर लेना महत्व



मनोवृत्ति :--- आचार्य अर्जुन तिवारी

*इस संसार में दुर्लभ मनुष्य शरीर पाकर के मनुष्य संसार में सब कुछ प्राप्त करने का प्रयास करता है | मनुष्य भूल जाता है कि देव दुर्लभ शरीर ही सब कुछ प्राप्त करने का साधन है इसी शरीर के भीतर अमृत भरा हुआ है , इसी में विष है तो इसी को पारस एवं कल्पवृक्ष भी कहा गया है | मनुष्य जो चाहे इसी शरीर से प्राप्त



कर्म प्रधान :-- आचार्य अर्जुन तिवारी

*ईश्वर द्वारा बनाई हुई सृष्टि कर्म पर ही आधारित है | जो जैसा कर्म करता है उसको वैसा ही फल प्राप्त होता है | यह समझने की आवश्यकता है कि मनुष्य के द्वारा किया गया कर्म ही प्रारब्ध बनता है | जिस प्रकार किसान जो बीज खेत में बोता है उसे फसल के रूप में वहीं बाद में काटना पड़ता है | कोई भी मनुष्य अपने किए



महत् चिंतन

<!--[if gte mso 9]><xml> <w:WordDocument> <w:View>Normal</w:View> <w:Zoom>0</w:Zoom> <w:TrackMoves></w:TrackMoves> <w:TrackFormatting></w:TrackFormatting> <w:PunctuationKerning></w:PunctuationKerning> <w:ValidateAgainstSchemas></w:Val



कविता खुशबू का झोंका

कविता खुशबू का झोंका---------------------------- कविता खुशबू का झोंका, कविता है रिमझिम सावन कविता है प्रेम की खुशबू, कविता है रण में गर्जन कविता श्वासों की गति है, कविता है दिल की धड़कन हॅंसना रोना मुस्काना, कवितामय सबका जीवन कविता प्रेयसी से मिलन है, कविता अधरों पर चुंबन कविता महकाती सबको, कविता



15 साल में Gmail की सुविधा ने लोगों का काम कर दिया आसान, आज ही हुआ था लॉन्च

साल 2000 में गूगल सिर्फ एक सर्च इंजर था और इसके 3 साल बाद शुरु हुआ था Gmail, जिसने बिजनेस की दुनिया में अलग ही मुकाम हासिल किया. 1 अप्रैल, 2004 को Gmail लॉन्च किया गया था और आज Gmail पर दुनियाभर में अरबों-खरबों यूजर्स हैं और ये सबसे ज्यादा यूज करने वाली सबसे बड़ी ई-मेल सर्विसेज बन गया है. जीमेल पर ह



पुस्तक का महत्व :-- आचार्य अर्जुन तिवारी

*मनुष्य एक सामाजिक प्राणी है जो एक समाज में रहता है | किसी भी समाज में रहने के लिए मनुष्य को समाज से संबंधित बहुत से विषय का ज्ञान होना चाहिए , और मानव जीवन से संबंधित सभी प्रकार के ज्ञान हमारे महापुरुषों ने पुस्तकों में संकलित किया है | पुस्तकें हमें ज्ञान देती हैं | किसी भी विषय के बारे में जानने



छतिसिंहपोरा नरसंहार

क्या कल आपने किसी मीडिया चैनल पर या किसी समाचार पत्रमें छतिसिंहपोरा नरसंहार के विषय में एकशब्द भी सुना या पढ़ा? क्या किसी ह्यूमन-राइट्स वाले को इस नरसंहार की बात करतेसुना? वह लोग जो आज़ादी के नारे लगाते है या वह नेता जो उनकेसमर्थन में खड़े हो जाते हैं या वह जो आये दिन नक्सालियों के लिए आवाज़ उठाते हैं



दंपत्ति

मेरे पुराने मित्र शर्मा जी किसी पुराने पंडित की तरह धर्म क्रियाओं के पीछे भागने वालों में नहीं हैं, वो तो अपनी ही कपोल-कल्पनाओं में गुम रहने वाले स्वतंत्र विचारों के प्राणी हैं। उनकी अर्धांगिनी जी भी उन्हीं के प्रकार की हैं मगर भिन्नता



लेखक परिचय

हेमन्त शेषसुविख्यात हिंदी कवि , सम्पादक, कला-आलोचक,छायाकार, स्तम्भकार एवं आधुनिक चित्रकार जन्म : 28 दिसम्बर, 1952 को जयपुर (भारत) में



सेप्टरेन टैबलेट (Septran Tablet)

Septran Tablet (सेप्टरेन टैबलेट) जीवाणु संक्रमण, मलेरिया, श्वसन पथ जीवाणु संक्रमण, आंख को ढकने वाली झिल्ली में जलन और लालिमा, मूत्र पथ के जीवाणु संक्रमण, मूत्र मार्ग में संक्रमण, मूत्र पथ में जीवाणु संक्रमण, मूत्र पथ के संक्रमण, श्वसन तंत्र के जीवाणु संक्रमण और अन्य स्थितियों के उपचार के लिए निर्देश



सिप्लॉक्स (Ciplox 500 MG Tablet)

Ciplox 500 MG Tablet एक एंटीबायोटिक है जो दवाओं के क्विनोलोन परिवार का एक सदस्य है। यह बैक्टीरिया के कारण होने वाले संक्रमण के इलाज में प्रभावी है। Ciplox 500 MG Tablet का उपयोग निमोनिया, एंथ्रेक्स, सिफलिस, गोनोरिया, ब्रोंकाइटिस, गैस्ट्रोएंटेराइटिस और प्लेग जैसे जीवाणु संक्रमण के रोगियों के इलाज के



Shiv ji ki aarti - शिवजी की आरती - In Hindi

Shiv ji ki aarti - शिवजी की आरती - In HindiShiv ji ki aarti - शिवजी की आरतीॐ जय शिव ओंकारा, स्वामी जय शिव ओंकारा।ब्रह्मा, विष्णु, सदाशिव, अर्द्धांगी धारा॥ॐ जय शिव ओंकारा॥ एकानन चतुरानन पञ्चानन राजे।हंसासन गरूड़ासन वृषवाहन साजे॥ॐ जय शिव ओंकारा॥ दो भुज चार चतुर्भुज दसभुज



Benefit of Shimla Mirch : ये हैं शिमला मिर्च खाने के 18 फ़ायदे

Benefit of Shimla Mirch वैसे तो हर हरी सब्जी स्वास्थ्य के लिए लाभदायक है। पर कुछ ऐसे हरी सब्जियां भी होती हैं जो लोगों को या बच्चों को कम पसंद होती हैं पर उसके फायदे चौकाने वाले होते हैं। ऐसे ही एक हरी सब्जी है शिमला मिर्च। शिमला मिर्च खाने में भले ही बहुत स्वादिष्ट



स्वास्थ जीवन की सबसे बड़ी संपत्ति है, जाने कैसे रहे स्वस्थ

Third party image referenceआज कल की जीवन शैली की तेज गति एवं भागदौड़ वाली जिंदगी में सेहत का ध्यान रखना बहुत कठिन हो गया है । जिस कारण से आज हम युवावस्था में ही ब्लड प्रेशर, शुगर, दिल के रोग कोलेस्ट्रोल, गठिया मोटापा जैसे रोगों से ग्रसित होने लगे हैं जो कि पहले व्रद्धावस्था में होते थे, और इसकी सबसे



आसान हिन्दी  [?]
तीव्र हिंदी  [?]
ऑनस्क्रीन कीबोर्ड  [?]
हिन्दी टाइपिंग  [?]
अंग्रेजी  [?]

(फोन के लिए विकल्प)
X
1 2 3 र्4 ज्ञ5 त्र6 क्ष7 श्र8 (9 )0 --   =
q w e r t y u i o p [   ]
a s d िfि g h  j k l ; '  \
  z x c  v  b n m ,, .. ?/ एंटर
शिफ्ट                                                         शिफ्ट बैकस्पेस
x