गुस्से में झुंझलाकर या बस यूँ ही कुछ ऐसा कह जाते हैं जो हमें नहीं कहना चाहिए|हिंदी और इंग्लिश में

आज का प्रेरक प्रसंगहमारे दिन प्रतिदिन के जीवन में कई बार ऐसा होता है कि हम या तो बहुत गुस्से में झुंझलाकर या बस यूँ ही कुछ ऐसा कह जाते हैं जो हमें नहीं कहना चाहिए|एक बार एक किसान ने अपने पडोसी को भला बुरा कह दिया, पर जब बाद में उसे अपनी गलती का एहसास हुआ तो वह एक संत के पास गया| उसने संत से अपने शब्



‘‘चीन’’ का नाम ‘‘क्यों’’ नहीं लिया ? भारतीय? राष्ट्रीय? कांग्रेस!

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की ‘अचानक’ ‘‘लेह’’ (लद्दाख) की 11000 फुट की उंचाई पर स्थित अग्रिम चौकी ‘‘नीमू’’ पंहुचकर सैनिकों के बीच ‘‘दम’’ भर कर सेना की हौसला अफजाई की। यह कहकर कि ‘‘बहादुरी और साहस शांति की जरूरी शर्ते है, दुश्मन ने हमारे जवान की ताकत व गुस्से को देखा है‘‘। उक्त दौरे के बाद कांग्रेस क



गुरु पूर्णिमा ( संस्मरण )

गुरु पूर्णिमा डॉ शोभा भारद्वाज गुरु पूर्णिमा के अवसर पर बचपन की स्मृतियाँ मन पर छाने लगती हैं | जिन्हें भूलना आसान नहीं हैं हमारा बचपन प्रयागराज में बीता हमारे घर के साथ एक गली थी उसके साथ चार मंजिल का मकान था उस समय के हिसाब से बहुत आलिशान घर यहाँ महाजन परिवार रहता था वह आढ़ती थे घर का मालिक गं



chahat ke kisse

तू नज़्म सा दिल की धड़कन में सुनाइये देता है.... तेरा हर लब्ज़ बयां चाहत ही देता है..अगर साथ तेरे बैठे हैं बाज़मो में हम न कोई शिकवा न कोई ग़म... तू दिल की आशिकी का आशना है.... तू साँस साँस के दरिया में रखा फैसला है....



नौकरी

आवश्कयता है अध्यापक/अध्यापिकाओं एवं कर्मचारियों की बेतन योग्यता के अनुसार योग्यता-B.Sc, M.Sc,B.Com,B.Ed, Graduate and post graduate .वेतन - ₹8000-₹15000 P/M1.माता दान सिंह इ. कालेज तरवाई मेजा प्रजायराज 2.गंगोत्री पब्लिक स्कूल रामनगर मेजा प्रयागराज 3.मानो



अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस ( संस्मरण )

अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस (संसमरण )डॉ शोभा भारद्वाजसिंगापूर के बाशिंदों को फिटनेस का बहुत शौक है वह हर वक्त लम्बी सैर करते या साईकिल चलाते नजर आते | कोरोना काल में भी उनका साइकिल चलता रहा मैं कुछ दिन सिंगा



कोई अपना

कोई अपना होता तो कुछ कहते। सर्द हवाओं की चुभन होती या, तपती जून की रातों की बैचेनी उससे सांझा करते। बैचेन कटी रात, करवटों के बदलने का सबब कहते। कोई अपना होता तो कुछ कहते। कच्ची सी नींद, अचानक से आंख का खुल जाना, आंधी रात में झुंझला कर उठ जाना, और फिर मोबाइल में, या यादों की गली में मुड़ जाना। ना जा



सफल जीवन

हमे अपने जीवन में होने वाली कई घटनाएं बहुत ही अचंभित कर जाती हैं। कुछ तो आनन्द से विभोर कर देती है, ऐसी घटनाओं के बारे में हम तुरंत अपनी प्रभावकारी शख्सीयत या फिर अपनी कुशलता को कारण मान कर खुश हो लेते है या फिर किसी व्यक्ति का आभार मान लेते हैं जिसकी वजह से ये आनन्द अनुभूति होती है।



रानी दुर्गावती का परिचय वा खंड काव्य

महारानी दुर्गावती का जन्म सन 1527 ई. के आस-पास महोबे में हुआ था। लेकिन वे बाल काल से लेकर विवाह के समय तक अपने पिता कीर्तिसिंह(चंदेल) के साथ कालिंजर दुर्ग में रहते थे। दुर्गावती का विवाह कीर्तिसिंह की गुप्त सहमति से 'गढ़ा-मंडला' के गोंड राजा संग्राम शाह के पुत्र दलपति शाह के साथ के साथ सन 1543 ई. में



कुंडली के वह योग जो व्यक्ति को बनाते हैं एक सफल बिजनेसमैन

बिजनेस शुरू करना आसान है परंतु उसे सफलतापूर्वक चलाने के लिए काफी चीजों की आवश्यकता पड़ती है। हमेशा उसी वस्तु का बिजनेस करना चाहिए जो किसी भी व्यक्ति का ध्यान अपनी तरफ आकर्षित करने में समर्थ हो और कोई चाह कर भी जिसकी उपेक्षा न कर सके। इसके अतिरिक्त कुछ अन्य चीज़ें जैसे कि क्रिएटिविटी और नेतृत्व क्षमत



विश्व में ‘‘लाॅकडाउन की नीति’’ कहीं ‘गलत’ व ‘‘असफल’’ तो सिध्द नहीं हो रही है?

‘‘कोरोनावायरस’’ ‘‘(कोविड़-19)’’ के संक्रमण को रोकने के लिये कमोवेश पूरे विश्व में लाॅकडाउन की नीति अपनाई, जिसके परिणाम स्वरूप आज विश्व के लगभग 200 देशों की आधी से ज्यादा आबादी घर में कैद है, और आर्थिक रथ का चक्का जाम हो गया हैं। इसके बावजूद कमोवेश कुछ को छोड़कर प्रायः हर देश में संक्रमित मरीजों की संख



मन भ्रम

आंखों से पर्दा और तकदीर के लेख अपने समय पर ही खुलकर सामने आते हैं। बातों के फेर और मन भ्रम के फेर एक न एक दिन टूटते जरूर हैं लेकिन जब भी टूटते हैं, सोचने के लिए सवाल और सीख देकर जाते हैं। मन का भ्रम हो या हो मन प्रेम। मन के रिश्ते हैं। मन को ही समझ आते हैं। दिमाग तो है उलझनों का पिटारा, देखते हैं, क



कोरोना वायरस महामारी से सीखने वाले सबक

COVID-19 महामारी, जिसे कोरोना वायरस महामारी (corona virus epidemic) नाम से जाना जाता है इसकी शुरुआत चीन के वुहान शहर से हुई थी जहाँ दिसंबर 2019 में इसको पहचाना गया था। विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) ने 30 जनवरी को इसे सार्वजनिक स्वास्थ्य आपातकाल (Public Health Emergency) की घोषणा की थी।अभी तक करीब 227



सरकारी लूट से मंदिरों को मुक्त करो

हिन्दू इकोनॉमी, मन्दिर साध्वी ऋतम्भरा आचार्य धर्मेंद्र जी को सन्त व साधुओं को अखाड़ों को साथ लेकर प्रवीण तोगड़िया, विनय कटियार विश्व हिंदू परिषद सनातन व हिन्दुहितैषी संगठनों हिन्दू महासभा व हिन्दू चेतना विद्वानों को प्रेरित होकर सरकारी नियंत्रण से मन्दिरो की मुक्ति व एक स्वायत्त स्वतंत्र देवस्थान बोर



कोरोना का कहर

मनुष्य पर छाई है छिपी अंधेरा, रूप धारण कर वाईरस कोरोना ।इसका अर्थ है मनुष्य पर भारी , क्योंकि है ये महामारी ।अब मानव की दशा क्या होगी ?क्या कोरोना की विदाई होगी ?देख दृश्य मन विचलित हो उठता, क्या यही है सभ्य की कृपा ।क्या यह , मानव जीवन सिहर उठेगा ?या संसार पुनः हिलस उठेगा ?



Hindi poetry on women empowerment - आज की नारी ; अर्चना की रचना

महिला सशक्तिकरण पर हिंदी कविता आज की नारी मैं आज की नारी हूँ न अबला न बेचारी हूँ कोई विशिष्ठ स्थानन मिले चलता है फिर भी आत्म सम्मान बना रहा ये कामना दिल रखता है न ही खेला कभी women कार्ड मुश्किलें आयी हो चाहे हज़ार फिर भी कोई मेरी आवाज़ में आवाज़ मिलाये तो अच्छा लगता है



COVID-19 संकट के दौरान डेटा संरक्षण के लिए क्या करे और क्या न करे

COVID-19 संकटके दौरान, दुनियाभर में घरसे हजारों लोगकाम कर रहेहैं। COVID-19 (कोरोनावायरस) प्रकोप की यहअवधि कर्मचारियों औरनियोक्ताओं दोनों के लिएवर्ष 2020 का सबसेखराब समय है।चूंकि बड़ी संख्यामें कर्मचारी घरसे काम कररहे हैं, इसलिएबड़े पैमाने परडेटा लीक होनेकी संभावना है।नीचे कुछ उपयोगीसुझाव दिए गएहैं -



शब्द अर्थ ?

संगठित शब्द का अर्थ क्या है ?



अपने Talent को कैसे पहचाने सीक्रेट तरीका

अपने अंदर के टैलेंट को जगाने और पहचानने के लिए साल 2020 के new latest तरीके Apne talent ko kaise pahchane secret tarikaहर व्यक्ति के अंदर कोई न कोई talent छुपा रहता है। हम सभी को उसे पहचानने की जरूरत होती है। बहुत से लोगों को अपने टैलेंट के बारे में बिल्कुल जानकारी नही हो



करोना

करो ना कुछ, रोको करोना को, ताली बजा ली थाली बजा ली,अब तो दिया बाती भी जला ली, पर रुका ना कोप इसका है, बात ना बढ़ जाए कही आगे, कुछ करो ना, रोको करोना को. बाते करने से जंगे जीती नहीं जाती, तीर और तलवार से लड़ना पड़ता है. (आलिम)



आसान हिन्दी  [?]
तीव्र हिंदी  [?]
ऑनस्क्रीन कीबोर्ड  [?]
हिन्दी टाइपिंग  [?]
डिफ़ॉल्ट कीबोर्ड  [?]

(फोन के लिए विकल्प)
X
1 2 3 र्4 ज्ञ5 त्र6 क्ष7 श्र8 (9 )0 --   =
q w e r t y u i o p [   ]
a s d िfि g h  j k l ; '  \
  z x c  v  b n m ,, .. ?/ एंटर
शिफ्ट                                                         शिफ्ट बैकस्पेस
x