1


किन्नर नहीं दीदी हूँ।

किन्नर नहीं दीदीहूँ।पो... सरपट रेल चलीछुक-छुक पो... चटाक पटाक ताली बजातीदीदी आई|अरे वो जीजा शाली को ध्यानदो,चुलबुला लड़का बोला किन्नर तोलगती नहीं हो| अरे बेटा किन्नर को छोड़ बुआहूँ तेरी,सामने बैठे युवक का नोच गालक्या सोच रहा हैं?दे-दे दस पाँच रुपया तेरा भलाहोगा, सफर सुहाना होगा| घर जाते ही बी॰बी बच



बसों, ट्रेनों, बाज़ारों में क्यों बजाते हैं किन्नर अजीब ढंग से ताली ? जाने वजह

किन्नरों को ही हमेशा समाज में अलग ही नज़रों से देखा जाता है समाज में इतने बदलाव होने के बावजूद इन लोगों को वो सम्मान नहीं मिला जो मिलना चाहिए। आपने किन्नरों को कई जगह देखा होगा. कभी चौराहों पर तो कभी किसी ट्रेन में. तो कभी यूं ही बाज़ार में. पर शायद कभी इन्हें आम नज़रों



अर्द्ध कुम्भ के अवसर पर प्रयाग राज में किन्नर अखाड़े का शाही स्नान

अर्द्ध कुम्भ के अवसर पर प्रयाग राज में किन्नर अखाड़े का शाही स्नान डॉ शोभा भारद्वाज प्रसिद्ध समाज सेवी आध्यात्मिक गुरु अजय दास ने किन्नरों को अपने आश्रम में स्थान देकरकिन्नर अखाड़ा बनाया ऋषिवर कई वर्षों से किन्नरों के कल्याण एवं उनकी दशा सुधारनेके लिए प्रयत्न शील थे | क



मैं सौ साल तक कैसे जिऊँ?

मैं सौ साल तक कैसे जिऊँ? नीलम भागी मुझे आजकल एक ही चिंता हर समय सताती है, वो ये है कि मैं ऐसा क्या करुँ कि मेरी उम्र सौ साल हो। इसलिए आयु बढ़ाने के जितने भी नुस्ख़े, मुझे जहाँ से भी मिलते हैं, मैं उन्हे ले ले





1
आसान हिन्दी  [?]
तीव्र हिंदी  [?]
ऑनस्क्रीन कीबोर्ड  [?]
हिन्दी टाइपिंग  [?]
डिफ़ॉल्ट कीबोर्ड  [?]

(फोन के लिए विकल्प)
X
1 2 3 र्4 ज्ञ5 त्र6 क्ष7 श्र8 (9 )0 --   =
q w e r t y u i o p [   ]
a s d िfि g h  j k l ; '  \
  z x c  v  b n m ,, .. ?/ एंटर
शिफ्ट                                                         शिफ्ट बैकस्पेस
x