गीत/गीतिका उठती है कुछ बात हृदय में क्योंकर सत्य विसारा जाए

गीत/गीतिकाउठती है कुछ बात हृदय मेंक्योंकर सत्य विसारा जाएजा देखें रावण की बगियासीता समर निहारा जाए।।छुवा नहीं उसने जननी कोजिसने धमकाया अवनी कोपतितों को बतलाया जाएगिन राक्षस को मारा जाएसीता समर निहारा जाए।।संविधान सर्वोत्तम कृति हैजीवन अपनी अपनी वृति हैनैतिक मूल्य सँवारा जाएन कि संपति जारा जाएधर्म कथ



आलोक कौशिक की कुछ साहित्यिक कृतियां

👇 'आलोक कौशिक' की कुछ साहित्यिक कृतियों को इस लिंक पर Click करके पढ़ें:- 👇Some Literary Works Of Alok Kaushik



दोहा

महोदय आपको सादर प्रणाम मैंने कुछ दोहे आपको लिंक में भेंजे है आपको अच्छा लगे तो सूचित करे ...और प्रकाशित कर सके तो बड़ी कृपा होगी बहुत बहुत धन्यबाद रुपेश धनगर मथुरा 9410490520 9760986966



चेताबनी शायरी by नीतेश शाक्य

सोने के पीछे सोना भुला दिया, खजाना भूल के खजाना लुटा दिया | दौलत के खजाने के पीछे , दिल का खजाना भुला दिया | जान गए मन की तेरी, तू औरों के दिल मे बसी | तू है पराये दिल की चिड़िया, समझे नहीं मेरे दिल के कभी|| जिस-जिस को धोखा मिला, सोचले वह अब मुझे जीने का मौका



बोझ

लघुकथाबोझक्या पुरूष, क्या स्त्री, क्या बच्चे , सब के सब आधुनिकता के घोड़े पर सवार फैशन की दौड़ में भाग रहे थे और वह किसी उजबक की तरह ताक रहा था । गाँव से आया वह पढा लिखा आदमी, भूल से , एक भव्य माल में घुस आया था और अब ठगा-सा खड़ा था।उसकी नजर एक आदमी पर पड़ी जो एक स्टील के बेंच पर बैठा था। उसके पास



कुछ

चलते-चलते कह दिया था उनसे कुछ, ना जाने क्या समझे कर गए ऐसा कुछ. डरता हूँ कहने से फिर न समझ ले कुछ, फिर ना कर दे वो ऐसा कि मैं रहूं ना कुछ. (आलिम)



01 अगस्त 2019

हमारे किये कर्मो के मूल्यांकन की विनाशकारी आदत।

आप अपने दिन से गुजर रहे हैं, और एक अखबार समीक्षक की तरह, लगातार प्रशंसा और आलोचना करने के लिए चीजों की तलाश में है।क्या यह सही था ? कमाल का काम किया ! Youtube पर बहुत अधिक समय बिताया? ख़राब ! जैसे आप शीशे के सामने खड़े हो, और आपका शरीर भद्दा दिख रहा है?हम जो कुछ भी करते है



जिंदगी सिगरेट-सी

धीमे-धीमे सुलगती,जिंदगी सिगरेट-सी।तनाव से जल रही,हो रही धुआं-धुआं।जिंदगी सिगरेट-सी,दुख की लगी तीली !भभक कर जल उठी,घुलने लगा जहर फिर!सांस-सांस घुट उठी,जिंदगी सिगरेट- सी ।रोग दोस्त बन गए,फिज़ा में जहर मिल गए।ग़म ने जब जकड़ लिया,खाट को पकड़ लिया।मति भ्रष्ट हो चली,जिंदगी सिगरेट- सी।धीमे-धीमे जल उठी,फूंक



"याद आते हैं वो बचपन के दिन "

बचपन के दिन - कल याद आ गया मुझको भी अपना बचपनखुश हुई बहुत पर आँख तनिक सी भर आयी गांवों की पगडण्डी पर दिन भर दौड़ा करती कुछ बच्चों की दीदी थी। दादी की थी राजदुलारी रोज़ सुनती छत पर दादाजी से परियो की कहानी झलते रहते वो पंखा पर थक कर मैंसो जाती घर कच्चे थे चाची लीपा



रिश्तों की



माँ

पहला शब्द पहला टीचर पहला स्कूल मेरी माँ . पहला संश पहला दोस्त पहला प्यार मेरी माँ सुपर माँ है मेरी माँ



07 फरवरी 2019

जाने देने का अभ्यास।

ऐसा समय होता हैं जब हमारा दिमाग किसी चीज से कसकर चिपक जाता है, और यह शायद ही कभी मददगार होता है:मैं सही हूं, दूसरा व्यक्ति गलत है। वह व्यक्ति अपना जीवन गलत तरीके से जी रहा है, उसे बदलना चाहिए।मेरी प्राथमिकता सबसे अच्छा तरीका है, अन्य गलत हैं। यही वह चीज है जो मैं चाहता हूं, मैं कुछ और नहीं चाहता।मुझ



05 फरवरी 2019

जीवन की खीज से निपटने के लिए एक मंत्र।

जब में ये लिख रहा हु, मेरी एक बहस हुई है, दिन की सुरुवात में, नींद की कठिनाइय, जीवन में बदलाव, एक कार्यभार जो बहुत अधिक है।जैसा कि आप कल्पना कर सकते हैं, इस सब को तनावपूर्ण, कष्टप्रद, कठिन और बस आम तौर पर चूसने जैसा देखने का एक तरीका है। मैं इसे इस तरह से बिल्कुल नहीं देखता, लेकिन उस मानसिकता में उत



24 जनवरी 2019

हर दिन समय निकलना, वो करने के लिए जिससे आपको प्यार हैं।

हमारे दिन अक्सर उन चीज़ों से भरे होते हैं जो हमें करने पड़ते हैं, और हम जो कुछ करते हैं उससे तनाव और थकावट से खुद को तसल्ली देते हैं… इसलिए हम जो करना चाहते हैं उसे खत्म कर देते हैं।उस बारे में एक सेकंड के लिए सोचें: हमारे दिन चीजों से भरे होते हैं, और आराम करने वाले सामान होते हैं। उन चीजों के लिए



22 जनवरी 2019

यह एक समस्या नहीं है, यह एक अनुभव है।

"पूरी तरह से जीवित, पूरी तरह से मानव और पूरी तरह से जागृत होने के लिए लगातार घोंसले से बाहर फेंक दिया जाता है।" ~Pema Chodronजीवन की अपनी डाउन अवधि होती है: आपका बॉस आपसे नाखुश है, आपका व्यवसाय संघर्ष कर रहा है, आप अपने जीवन के प्यार के साथ संघर्ष कर रहे हैं, आपके वित्त तंग हैं, आप अच्छी नींद नहीं ल



21 जनवरी 2019

सब कुछ पवित्र के रूप में देखने का जादू।

जब हम सुबह उठते हैं, हम में से बहुत से लोग अपने फोन या कंप्यूटर पर स्वचालित रूप से चले जाते हैं और ऑटोपायलट पर हमारी ऑनलाइन दुनिया के माध्यम से पढ़ना, संदेशों की जांच करना, चीजों की प्रतिक्रिया देना और चलना शुरू कर देते हैं।हम अपने दिन को इस तरह से गुजारते हैं, हम जितना बेहतर कर सकते हैं, तनाव से नि



18 जनवरी 2019

8 मुख्य पाठ साधारण जीवन जीने के लिए।

पिछले दर्जन सालों से, मैं (अपेक्षाकृत) सरल जीवन जी रहा हूं। कभी-कभी, मेरे जीवन की जटिलता बढ़ती है, और मैं बस जीने की अपनी प्रतिबद्धता को नवीनीकृत करता हूं।एक साधारण जीवन जीना, वापस पार करने के बारे में है, ताकि आपके पास सांस लेने के लिए जगह हो। यह कम के साथ करने के बारे में है, क्योंकि आपको एहसास है



16 जनवरी 2019

निर्भीकता: खालीपन से भागना कैसे रोकें।

हम अपने हर उपलब्ध स्थान को भरने, अधिक कार्यों में व्यस्त रहने, संदेशों का जवाब देने, सोशल मीडिया और ऑनलाइन साइटों की जाँच करने, वीडियो देखने में बिताते हैं।हम अपने जीवन में खाली जगह से डरते हैं।परिणाम अक्सर एक निरंतर व्यस्तता, निरंतर व्याकुलता और परिहार, ध्यान की कमी, हमारे जीवन से संतुष्टि की कमी ह



कुछ कुछ - किस्त तीसरी ( व्याकरण - भाषा की, जीवन की : मैं और हम )

***** कुछ कुछ - किस्त तीसरी ***** *** व्याकरण - भाषा की, जीवन की *** ** मैं और हम *



कुछ कुछ - किस्त दूसरी

हिंदी भाषा के अनुसार, हम जो हिंदी काम लाते हैं, उसे सुधारने का एक छोटा प्रयास। हम जो बोलना / कहना चाहते हैं, तो उच्चारण का ध्यान रखना आवश्यक है, तभी हमें सफलता मिलेगी, तब हम वो बोल पाएंगे। इसी तरह हम जो लिखना चाहते हैं, तो हम वही लिखें



आसान हिन्दी  [?]
तीव्र हिंदी  [?]
ऑनस्क्रीन कीबोर्ड  [?]
हिन्दी टाइपिंग  [?]
डिफ़ॉल्ट कीबोर्ड  [?]

(फोन के लिए विकल्प)
X
1 2 3 र्4 ज्ञ5 त्र6 क्ष7 श्र8 (9 )0 --   =
q w e r t y u i o p [   ]
a s d िfि g h  j k l ; '  \
  z x c  v  b n m ,, .. ?/ एंटर
शिफ्ट                                                         शिफ्ट बैकस्पेस
x