लॉक

1


अपने अपने लॉक डाउन - दिनेश डाक्टर

अपने अपने लॉक डाउन दिनेश डाक्टर "तो और क्या खबर है "- सिंह साहेब ने गुप्ता जी पूछा ।"खबर तो वही कल वाली है । तब्लीगियों की वजह से केस बढ़ते जा रहे है । साले हरामी जगह जगह थूक रहें है , पेशाब कर रहे है, कमरों के सामने हग रहे है । अब तो मजदूर भी भाग रहें है । वैसे अमरीका का बहुत बुरा हाल है । ला



अल्पविराम

कभी ऐसा भी वक्त आता है जब रुकता है सब कामबस समझ लो तुम, यह है जीवन का अल्पविरामजो अब बंद है, वह चल पड़ेगाअंदर जो भी है, वह निकल पड़ेगाबढ़ती हुई रफ्तार को मिल गया आरामबस समझ लो तुम, यह है जीवन का अल्पविरामअटकते हैं कम ताकि सांस ले पाएपीछे छूटे वक्त को हम पास ले पाएदेर होगी हमको छूने के लिए मुकामबस सम



लॉकडाउन-किरण उम्मीद की !

वैश्विक माहमारी कोरोना के कारण देश भर में 3 May, 20 तक लॉकडाउन केकारण जनजीवन थम सा गया है। प्रधानमंत्री जी की अपील पर 22 March ,20 के जनता कर्फ्यू से ही सभी 130 करोड़ भारतीय, देश-दुनियाजहां के दुश्मन कोरोना जिसकी प्रकृति परमाणु बम फटने जैसी प्रतीत होती है,



जिंदगी का सफर

लॉक डाउन बढ़े नही ! कोरोना से कोई मरे नही।हाथ कभी मिलाए नही, सामाजिक दूरी बनाए रहे।नजर कभी झुके नहीं, रिस्ते कभी टूटे नही।सैनिक तुम बढ़े चलो! डॉक्टर तुम बढ़े चलो!सफाई कर्मचारियों से अनुरोध है,कोरोना से डरे नहीं गली,मकान को सेनेटाइज करते रहो। मास्क ग्लब्स हटाना नही।लॉकडाउन अब बढ़े नही , कोरोना से कोई



बस ! दो हफ्ते और !! - दिनेश डाक्टर

बस! सिर्फ पन्द्रह दिन और !!डॉ दिनेश शर्मामुझे लगता है कि कोरोना के खिलाफ इस महायुद्ध में कुछ अपवादों को छोड़कर जिस तरह देश की बड़ी जनता ने पिछले आठ दिनों में धैर्य, संकल्प और साहस का परिचय दिया है - वो पूरी दुनिया के लिए एक मिसाल बनने वाला है । जिस कठोर व्यवस्था और लॉक





1
आसान हिन्दी  [?]
तीव्र हिंदी  [?]
ऑनस्क्रीन कीबोर्ड  [?]
हिन्दी टाइपिंग  [?]
डिफ़ॉल्ट कीबोर्ड  [?]

(फोन के लिए विकल्प)
X
1 2 3 र्4 ज्ञ5 त्र6 क्ष7 श्र8 (9 )0 --   =
q w e r t y u i o p [   ]
a s d िfि g h  j k l ; '  \
  z x c  v  b n m ,, .. ?/ एंटर
शिफ्ट                                                         शिफ्ट बैकस्पेस
x