लो



बुरे लोगों के साथ बुरा क्यों नहीं होता

बुरे लोगों के साथ बुरा क्यों नहीं होता एक साधक ने एक यश प्रश्न किसी आचार्य के आगे रख दिया कि है आचार्य बुरे लोगों के साथ बुरा क्यों नहीं होता उन्हें उनके बुरे कर्मों की सजा क्यों नहीं मिलती अपितु अच्छे लोगों के साथ ही सदैव बुरा क्यों होता है।आचार्य दो मिनट मौन रहने के पश्चात बोले वत्स तुम्हारे प्र



आखिर! ‘न्याय’-‘इंसाफ’! इंसानियत एवं ‘न्यायप्रिय’ तरीके से ‘कैसे’ व ‘कब’ मिलेगा। ‘‘जन भावनाओं’’ से ‘‘न्याय व्यवस्था’’ नहीं ‘‘लोकतंत्र’’ चलता है।

6 दिसम्बर सुबह जैसे ही टीव्ही पर हैदराबाद की रेप पीडि़ता ‘‘दिशा’’ की वीभत्स हत्या के चारों अभियुक्तों के एनकाउंटर में मारे जाने की खबर आयी, लगभग पूरे देश में एक अजीब सी खुशी का माहौल पसर गया। तब से चारांे तरफ अधिकांश खुशी ही खुशी व्यक्त करते हुये एक ही आवाज आ रही है कि ‘‘इंसाफ’’ मिल गया है। देश में



लोकतंत्र .......?

कैसा है ये लोकतंत्र ?जहाँ जनता है, ओछी मानसिकता और भ्रष्ट राजनीति की शिकार !यहाँ हर दिन नया मुद्दा , मुद्दे पर बहस होती है ,मरती है तो केवल जनता , राजनीति आराम से सोती है। त्रस्त हो चुकी है जनता , अवसाद की शिकार, मासूम जल रहे हैं या जला दिए जा रहे हैं। इंसानियत को गिरता देखकर भी हम गूंगे , बहरे ब



संविधान दिवस (26 नवम्बर)

: संविधान की प्रस्तावना : हम भारत के लोग, भारत को एक संपूर्ण प्रभुत्व संपन्न, समाजवादी , धर्मनिरपेक्ष, लोकतंत्रात्मक गणराज्य बनाने के लिए तथा उसके समस्त नागरिकों को सामाजिक, आर्थिक और राजनीतिक न्याय, विचा



लोकतंत्र में

लोकतन्त्र में जायज कुछ चीजें ऐसी हैं कि कब उनका रूप नाजायज़ हो जाये कुछ कह नहीं सकते । एक है किसी मांग को लेकर आंदोलन और जुलूस। नहीं कह सकते कि कब ये हिंसक और विध्वंसकारी हो जाये । कुछ नारे कनफ्यूज करते हैं ,और डराते भी हैं । उनमें एक है "हमें चाहिये आज़ादी"। बड़े संघर्ष और बलिदानों के बाद तो देश को आज़



और कितनी दूर

और कितनी दूरपूछू गर एक सवाल माँ से मै कौन हूँ, कहाँ से आया हूँ?यह शायद ही माँ बता पाए तू कौन हैं, कहाँ से आया हैं?बस वह अपनी व्यथा ही कह सकती, तू कैसे आया हैं?हैं इश्क हमे उनसे बस एक रात का, हम बिस्तर हुए| रात याद हैं मुझे जबसे धड़कने बढ़ी,और तू बढने लगा|हा मेरी कोख मे



शरद ऋतु

🌹सिंहावलोकनी दोहा मुक्तक🌹"""""""""""""""""""""""दस्तक देती शरद ऋतु , मन मुखरित उल्लास ।जूही की खुशबू उड़े, पिया मिलन की आस।।आस किसी की मैं करूँ , जो ना आएं पास ।बाट निहारें दृग विकल टूट रहा विश्वास ।।🌹🌹🌹🌹🌹🌹🌹व्यंजना आनंद ✍



शरद ऋतु

🌹सिंहावलोकनी दोहा मुक्तक🌹"""""""""""""""""""""""शरद ऋतु करे आगमन, मन होए उल्लास ।जूही की खुशबू उड़े, पिया मिलन की आस।।आस किसी की मैं करूँ , जो ना आएं पास ।नित देखू राह उसकी, जाता अब विश्वास ।।🌹🌹🌹🌹🌹🌹🌹व्यंजना आनंद ✍



बिटिया मेरी हुई सियानी

🧚🏻‍♂🧚🏻‍♂🧚🏻‍♂🧚🏻‍♂🧚🏻‍♂🧚🏻‍♂🧚🏻‍♂ लोक गीत÷÷÷ बिटिया मेरी हुई सियानी """""""""""""****"""""""""बिटिया रानी अब तो हुई है सियानी।मुझे बोलेगी छोटी परी अब नानी।। होsssss माँ के अंगना में खेली- कूदीकरती रहती थी हरदम ठिठोलीबड़े जतन से पिता पढ़ायेपढ़ा कर उसे राह दिखायेघर की र



Archana Ki Rachna: Preview " मैं बदनाम "

ऐसा क्या है जो तुम मुझसेकहने में डरते हो पर मेरे पीछे मेरी बातें करते हो मैं जो कह दूँ कुछ तुमसे तुम उसमें तीन से पांचगढ़ते होऔर उसे चटकारे ले करदूसरों से साँझा करते होमैं तो हूँ खुली किताबबेहद हिम्मती और बेबाक़रोज़ आईने में नज़रमिलाता हूँ अपने भीतर झाँक, फिरऐसा क्या है जो



Archana Ki Rachna: Preview "मैं हूँ नीर "

मैं हूँ नीर, आज की समस्या गंभीरमैं सुनाने को अपनी मनोवेदनाहूँ बहुत अधीर , मैं हूँ नीरजब मैं निकली श्री शिव की जटाओं से ,मैं थी धवल, मैं थी निश्चलमुझे माना तुमने अति पवित्रमैं खलखल बहती जा रही थीतुम लोगों के पापों को धोती जा रही थीपर तुमने मेरा सम्मान न बनाये रक्खाऔर मुझे



गिलोय अर्क - बच्चों कि समस्याओं का सरल आयुर्वेदिक उपचार

गिलोय को आयुर्वेदमें अमृता कहाजाता है। यह इसलिए क्योंकी यह अमृत के सामानहै। इसका सेवनप्रत्येक आयु वर्गका व्यक्ति करसकता है। इसकाआकार पान के पत्ते कीतरह होता है।बच्चों को स्वस्थरखने के लिए भी यहअत्यंत लाभकारी है।6 वर्ष से 10 वर्षतक के बच्चोंको इसका सेवनकराया जा सकता है। असलमें बच्चों कीरोग प्रतिरोधक



गिलोय अर्क - संपूर्ण शारीरिक समस्याओं का आयुर्वेदिक समाधान

गिलोय एक ऐसीआयुर्वेदिक औषधी है,जिसका सेवन हर आयु वर्गका व्यक्ति करसकता है। इसकाआकार पान के पत्ते कीतरह होता है और यहबेल के रूप में पाईजाती है। गिलोयको गुडुची केनाम से भी जाना जाताहै। इसका वैज्ञानिकनाम टीनोस्पोरा कोर्डीफोलियाहै। इस औषधी का उपयोगप्राचीनकाल से एकख़ास घटक के रूप सेआयुर्वेदिक में कियाजाता



गिलोय अर्क - समस्त शारीरिक समस्याओं में लाभकारी आयुर्वेदिक औषधी

गिलोय आयुर्वेद की एक ऐसी औषधीहै, जिसका सेवनहर उम्र का व्यक्ति कर सकता है। यहबेल के रूप में पाईजाती है और इसका आकारपान के पत्तेकी तरह होताहै। प्रत्येक आयुवर्गके लोगों केलिए यह बहुत लाभदायक होती है।यह मानव शरीरकी रोग प्रतिरोधकक्षमता को बढ़ानेमें बहुत मददगारहोती है। इसी कारण इसकासेवन करने वालेबीमार होने



कश्मीर धर्मांधता व सेकूलर इंडिया !

वर्तमान समय में संसार में कहीं भारत या इंडिया के संबंध में चर्चा होती होगी तो कश्मीर उसका अभिन्न विषय बनकर जनसामान्य के मस्तिष्क की रेखाओं पर उभरता होगा ! आखिर है क्या कश्मीर ? हम इस बात पर तर्क व चर्चा कुछ सामान्य प्रश्नों से करेंगे “कहा जाता है जो प्रश्नों की अभिलाषा व प्रश्नों की गंभीरता को नहीं



संपूर्ण परिवार की समस्याओं का सरल आयुर्वेदिक उपाय - गिलोय अर्क

गिलोय एक ऐसीऔषधी है जो सभी रोगोंमें लाभकारी साबितहोती है। इस औषधी केइतने गुण तथा लाभ हैंकी आयुर्वेद मेंइसको अमृता केनाम से भी जाना जाताहै। गिलोय पानके पत्तों केआकार की एक बेल होतीहै। इसकी सबसेबड़ी खासियत यहहोती है की यह जिसभी पेड़ पर चढ़ जातीहै उसके गुणोंको भी अपने में ध



टिक - टाॅक के बाजार मे

मुजरा करते दिख रही है लड़कियाँटिक - टाॅक के बाजार मे यू ही बदनाम है हम लड़के इस संसार मेलड़कियाँ नाचती दिख रही है टिक - टाॅक के बाजार मे फर्क क्या है उसमे और तुममे जो कोठे पर नाचती है संसार मेआज बड़े घरो के बेटियाँ नाचती हैटिक - टाॅक के बाजार मे कोई नाचती है पैसा के लिए सरेआम इस संसार मेकोई लाइक और शेयर



तु भारत की शान है

तु भारत की शान है तु भारत की मान हैतु ही भारतवासी के लिए भगवान् हैहमारा भारतीय सेना महान है।जब जब देश मे खतरा मंडरायातु उठ खड़ा हुआ क्योंकि भारत मे बस एक तु ही महान है।बस एक तु ही भारत का जान है।तु भारत की शान है।जब जब कश्मीर पर कोई अत्याचार हुआतू उसका मुँह तोड़ जबाव दिया।इन्सान के रूप मे तु



मैं ही सही हूँ, सबसे बड़ा भ्रम

मैं ही सही हूँ, सबसे बड़ा भ्रम : I'm right, The biggest fallacyमैं ही सही हूँ ""तस्वीरें दीवारों से ही नहीं, दिल से भी उतर जाती हैं उनकी , जिन्हें अपने पर खुदा होने का गुरुर होता है। बस जाती हैं यादें दिलों में उनकी , जिन्होंने दिलों को फ़तेह किया होता है। न रहता है ता



भविन भानुशाली के टिक टॉक पर 5 मिलियन फॉलोअर्स पूरे हुए | आई डब्लयू एम बज

प्रसिद्ध टिक टॉक स्टार भविन भानुशाली ने अपने फैन्स को अपने एक्टिंग और डांस से बहुत प्रभावित किया है। उन्होंने काफी कम उम्र में बहुत कुछ हासिल कर लिया है। वह काफी काफी मेहनत करते है और इसी से उन्हें सफलता और प्रसिद्धि मिली है।उनके टिक टॉक विडियोज बहुत अच्छे होते है जिसके क



आसान हिन्दी  [?]
तीव्र हिंदी  [?]
ऑनस्क्रीन कीबोर्ड  [?]
हिन्दी टाइपिंग  [?]
डिफ़ॉल्ट कीबोर्ड  [?]

(फोन के लिए विकल्प)
X
1 2 3 र्4 ज्ञ5 त्र6 क्ष7 श्र8 (9 )0 --   =
q w e r t y u i o p [   ]
a s d िfि g h  j k l ; '  \
  z x c  v  b n m ,, .. ?/ एंटर
शिफ्ट                                                         शिफ्ट बैकस्पेस
x