इनके दिल को तो देखो....❤️

किसी ने यादों की अलमारी बना लिया ,किसी ने ग़मो का स्टोर रूम।।और इनके दिल को तो देखो, घुम्मकड़, अभी तक रहा है घूम।।इसकी चारदीवारी में रहते हैं कई किरायेदार,किराया देते नहीं पर बातें रोज करते हैं शानदार।।फिर बिना दिए रेंट ये छोड़ कर कहते हैं See You Soon इनके दिल को तो देखो..अभी तक रहा है घूम...कभी खुश ह



ग्राम पोसारी मैं घटित घटना पर आधारित

ग्राम पोसारी मैं घटित घटना पर आधारितअपनी बेटी को सरेआम तमाचा मारना और टांगे तोड़ना सिखाएं रोटी गोल बेलना वह कभी भी दिखा सकती है Kalam से क्रांति युवा लेखक BIJENDRA CHANDEL VILLAGE- RASEDA SONADIH CEMENT PLANT DISTRIC BALODABAZAR BHATAPARA CG.CONTENT -7389722188Gmail -bijendrachandel@855Gmail.c



कोरोना

कोरोना वहां इठला कर खड़ा है,और यहाँ धैर्य, साहस और विश्वास की मंत्रणा चल रही है। धैर्य बोला, थक गया मैं इस से लड़ लड़ के,वापस आ जाता है, ये दुगुनी शक्ति से। धैर्य की बात सुनकर, साहस भी धीमे स्वर से बोला,दुर्बल हो गया हूँ मैं भी, इसकी विविध शक्तियाँ देख कर,इतना धैर्य रख र



भगवती सीता की खोज ,लंका में संकट मोचन हनुमान का प्रवेश

भगवती सीता की खोज , लंका में संकट मोचक हनुमान का प्रवेश डॉ शोभा भारद्वाज विशाल सागर को पार कर श्री हनुमान लंका पहुंचे लेकिन नगर में प्रवेश कैसे करें ?वह एक ऊँचे घने वृक्ष की छाया में घुटनों के बल बैठे थे उन्होंने हाथ जोड़ कर कहा मेरा श्री राम पर अटूट विश्वास है वही मुझे मार्ग दिखलायेंगे .सामने चारो



जरा दिल को थाम के

कोरोना बीमारी की दूसरी लहर ने पूरे देश मे कहर बरपाने के साथ साथ भातीय तंत्र की विफलता को जग जाहिर कर दिया है। चाहे केंद्र सरकार हो या की राज्य सरकारें, सारी की सारी एक दूसरे के उपर दोषरोपण में व्यस्त है। जनता की जान से ज्यादा महत्वपूर्ण चुनाव प्रचार हो गया है। दवाई, टीका, बेड आदि की कमी पूरे देश मे



बल बुद्धि विद्या निधान श्री हनुमान ( हनुमान जयंती के उपलक्ष में )

बल बुद्धि विद्या निधान श्री हनुमान (हनुमान जयंती के उपलक्ष में )डॉ शोभा भारद्वाज ब्रम्हा सृष्टि का निरंतरनिर्माण कर रहे थे सृष्टि निर्माण से लेकर अब तक जीवन कोचलाने वाली वायू प्राणियों के जीवन का आधार है इससे जीवधारी हवा में साँस लेते हैवृक्ष एवं पेड़ पौधे वायु को शुद्ध करते हैं .मंद पवन बह रही थीक



तिरंगे का अपमान करने वाले कौन थे ?

तिरंगे का अपमानकरने वाले कौन थे ?डॉ शोभा भारद्वाज 26 जनवरी की शाम ,हमारे एरिया में सब्जी वाले सब्जीबेचने आये उन्होंने मुझे देखा घेर कर खड़े हो गये उनके चेहरे से दुःख साफ़ झलक रहाथा सब एक साथ बोलने लगे आंटी जी आज का दिन हम कभी नहीं भूल सकते 26 जनवरी कैसाहंगामा मचाया है, लाल किले पर से हमारा तिरंगा झंडा



तिरंगा

तिरंगाडॉशोभा भारद्वाज 15 अगस्त 1947 पहला स्वाधीनता दिवस ,लाल किले से देशके पहले प्रधान मंत्री श्री जवाहरलालनेहरू ने तिरंगा फहराया था, लहराता हुआ झंडा शान बान के साथ आजादी का संदेश दे रहा था. आजाद भारत केनागरिक घरों से निकल कर लाल किले के मैदान में इकठ्ठे हो कर आजादी का जश्न मना रहेथे ‘अपने’ राष्ट्र



माटी

माटी को संवारने वाला अन्न का दाता काली सड़कों पर अपने हक के लिए अड़ा है। खुले रूप से मिले सबको ताजा ताजा, पैकेटों में बंद होकर बिकने वाली चीजें, उनके हक और न्याय के लिए अड़ा है। लाल बहादुर शास्त्री ने दिया था नारा... "जय जवान जय किसान" आज दोनों को एक दूसरे के सामने खड़ा देखा है। राजनिति ने बेटियां,



एक डॉक्टर की मौत

हमारे लिए पिछलेकाफी समय से महामारियों का जैसे अस्तित्व ही ख़त्म हो गया था। लेकिन तभी किसीपुराने पीपल की चुड़ैल की छम-छम करती दस्तक सुनाई देने लगीं। एड्स, डेंगू, सॉर्स, इबोला,जीका और निपाह से हम अभी पूरी त



मां

माँ! तुम्हारी बस इतनी सी कहानी।दर्द-दुख-सुख-बच्चे औ, कुर्बानी।जन्म देकर जननी जब तुम बन गई।मानो खुद की खुद से ही ठन गई।अपने सपने और शौक हुए पुराने।बच्चों के सुख-दुख निज तुमने माने।नौ माह कोख और जनन की पीड़ा।तुम सह गए समझ प्रिय-बाल-क्रीड़ा।



‘‘न्यूटन के गति‘‘ का नियम क्या ‘‘अपराधिक राजनीति पर भी लागू होता है?

‘‘न्यूटन‘‘ क्या भारतीय राजनीति को ‘‘न्यूट्रल‘‘ कर देगें?मैं विज्ञान का छात्र रहा हूं। बचपन में मैंने पढ़ा है कि ‘‘न्यूटन के गति‘‘ के तीसरे नियम के अनुसार ‘‘हर क्रिया के बराबर (समान) और विपरीत प्रतिक्रिया होती है‘‘। प्रसिध्द वैज्ञानिक ‘‘न्यूटन‘‘ ने अपनी पुस्तक ‘‘प्रिंसीपिया मैथमैटिका‘‘ (वर्ष 1687) के



भारत की विदेश नीति में गांधी वाद की समाप्ति

भारत की विदेश नीति में गांधी वाद की समाप्ति डॉ शोभा भारद्वाज भारत सरकारपाकिस्तान को विभाजन समझौते के अनुसार 55 करोड़ रु० अभी नहींदेना चाहती थी क्योंकि सरदार पटेल जैसे नेताओं को भय था पाकिस्तान इस धन का उपयोगभारत के खिलाफ जंग छेड़ने में करेगा. गांधी जी ने आमरण अनशन आरम्भ कर दिया पाकिस्तान की हरकत पर



बाजत ( जम कर ठोकना ) अंतर्राष्ट्रीय वृद्ध दिवस

बाजत (जम कर ठोका) अंतराष्ट्रीय वृद्ध दिवस डॉ शोभा भारद्वाज पाँच वर्ष पुरानी बात है | गौतम बुद्ध नगर से नोएडा आने वाली सड़क एक आने वाले ट्रैफिक के लिए एक जाने वाले ट्रैफिक के लिए है रास्ता भूल जाने पर यदि आप लौटना चाहें काफी दूर तक जाने के बाद चौराहा आता है | सड़क क



अब सुन लो हमारी।

अब सुन लो हमारी।देश-विदेश में फैली कोरोना महामारी।आसाम-बिहार में बाढ़ की महामारी।उत्तरप्रदेश में इनकाउंटर की महामारी।राजस्थान में राजनीति की महामारी।मध्यप्रदेश में बन गई सरकार हमारी।भारत के बाकी राज्य दबासँकोच की जिंदगी में।पाकिस्तान नेपाल चीन बन गए दुश्मन हमारे। हो जिसमें दम, वह खरीद ले सरकारी संपत्



निजता के अधिकार को और कितनी बार चुनौती ?

निजता के अधिकार को और कितनी बार चुनौती ?फिर एक बार फोन टेपिंग सुर्खियों में र्है. पूरे भारत में लगभग 6000 से ज्यादा फोन रोज टैप होते हैं. अक्सर नेताओं, बड़े लोगों और कभी- कभी फिल्मी सितारों के फोन भी टैप हो जाते हैं. बहुत से लोगों ने फोन टेपिंग की खबर सुनी है लेकिन बहुत कम लोग जानते हैं कि आखिर यह क



कोरोना की मार

वाह! क्या हाल और समाचार है? सावन की बौछार है। कोरोना की मार है। बनती बिगड़ती सरकार है, चुनाव कराने के लिए आयोग हर हाल में तैयार है। बाहरवी में बहुत से बच्चे 90% से पार है। वही दसवीं कक्षा का रिजल्ट पिछली बार से बेकार है। चीन, पाकिस्तान सीमा पर कर रहा वार है। इधर नेपाल भी कर रहा तकरार है। यूपी में



डाँन की 774 किलोमीटर यात्रा, किसने की मदद?

डाँन की 774 किलोमीटर यात्रा, किसने की मदद?अंतत: डाँन का अंत,कोई ड्रामा काम नहीं आ पाया! मौत के बाद कई राज दब गये?बिल्कुल फिल्मी स्टाइल पर डाँन विकास दुबे कानपुर से सत्रह किलोमीटर पहले भौती में पुलिस की गोली का शिकार हो गया. पूरे उत्तर



वृद्धाश्रम

वृद्धाश्रम.....पहले तो होते नहीं थे क्यूंकि पहले के वृद्ध खुद को वृद्ध समझते थे। आज के वृद्ध पहले जैसे नहीं रहे।पहले वृद्ध अपने नाती पोतों में व्यस्त होते थे।आज के बुजुर्ग फोन टीवी और लैपटॉप में।बदलाव आया है सबमें पहले के बुजुरगों को बच्चो की हर एक्टिविटी से मतलब होता था आज के बुज़ुर्ग को सिर्फ फोन



क्या परिपक्व होते लोकतंत्र में ‘‘सरकारे’’ ‘‘गिराई’’ जाती है? अथवा ‘‘बनाई’’ जाती है?

राजस्थान में राज्य सभा के हो रहे चुनाव के संदर्भ में कांग्रेस का यह बयान आया है कि, राजस्थान में भी भाजपा ने मध्य प्रदेश के समान ही‘ ऑपरेशन कमल‘ पर अमल करना शुरू कर दिया है। भाजपा खरीद फरोख्त के द्वारा लोकतांत्रिक रूप से चुनी गई सरकार को गिराने का प्रयास कर रही है। विधायक दल के सचेतक द्वारा इसकी भ्



आसान हिन्दी  [?]
तीव्र हिंदी  [?]
ऑनस्क्रीन कीबोर्ड  [?]
हिन्दी टाइपिंग  [?]
डिफ़ॉल्ट कीबोर्ड  [?]

(फोन के लिए विकल्प)
X
1 2 3 र्4 ज्ञ5 त्र6 क्ष7 श्र8 (9 )0 --   =
q w e r t y u i o p [   ]
a s d िfि g h  j k l ; '  \
  z x c  v  b n m ,, .. ?/ एंटर
शिफ्ट                                                         शिफ्ट बैकस्पेस
x