दान दो।

दान दो।दान तो सबकुछ कर सकते हैं राजा हरीशचन्द्र की तरह। भारतीय दान दोई हैं।बाद मे न पछताई कोई ।1 कन्यादान (जीवन भर के लिए)(सलाह दान)2 मतदान (पाँच साल के लिए )(गुप्त दान)



व्यक्ति नहीं विचार चुनिए

जब इलेक्शन हाई लेवल का हो तो कैंडिडेट को कौन पूछता है. व्यक्ति नहीं विचार चुनिए. विश्व की सबसे बड़ी लोकतांत्रिक व्यवस्था में एक अकेला थक जाएगा, इसलिए संगठित रूप से चुनाव लड़ने वाले एक विचारधारा के व्यक्तियों का चुनाव जरूरी है. कहीं की ईंट कहीं का रोड़ा भानुमति ने कुनबा जोड़ा वाली विचारधारा का जीतना



जागो मतदाता, जागो

दो एक वर्षों से कई राजनेता सेना के जवानों का अपमानकरने की होड़ में लगे हैं. इन में से एक भी राजनेता ऐसा नहीं है जो सियाचिन की ठंडया रेगिस्तान की चिलचिलाती धूप में आधा घंटा भी रह पाए. जिन कठिनायों का सामनासीमा पर तैनात एक जवान करता है उसका इन्हें रत्ती भर भी अहसास नहीं है. और आश्चर्य की बात तो यह कि इ



न भटको अपने नेक इरादों से

न भटको अपने नेक इरादों से माला जपू श्याम की राम की धनश्याम की जग मे फैला हैं उजियारा तेरे ही नाम का जप-जप कर जीता हैं जग सारा। बनता हैं तूही सहारा जग के बेसहारों का। माला जपू श्याम की राम की घनश्याम की।रहने दे अमन शांति इस जहां मे जहाँ खेलता हैं बचपन गाती हैं जवानी गुनगुनाता हैं बुढ़ापा। करती हैं श्



मतदातों से एक निवेदन-अगली सरकार मज़बूत सरकार

सबसे पहले यह स्पष्ट करना अनिवार्य होगा कि यह अपीलमज़बूत सरकार चुनने के लिये है, मोदी सरकार चुनने के लिये नहीं. अगर आपको लगता हैकि कांग्रेस एक मज़बूत सरकार दे सकती है तो उसे भरपूर बहुमत देकर जितायें. और अगरआप समझते हैं कि बीएसपी, या टीएम्सी या एएपी या कोई अन्य दल या दलों का समूह मज़बूतसरकार दे सकता है त



आपके अनुसार महागठबंधन में से कौन सा नेता मोदी जी को टक्कर दे सकता है? आपको ऐसा क्यों लगता है?

भविष्य जानने के लिए कभी कभी इतिहास में झांकना पड़ता है और वर्तमान को समझना पड़ता है। इस प्रश्न का उत्तर तो एक ही लाइन में है लेकिन इसे सभी पक्ष को ध्यान में रखते हुए समझते हैं। मोदी जी के विषय में अंत में बात करेंगे क्योकि पहले बुरा भाग ही देखना हम पसंद करते हैं।महागठबंधन में सभी दलों में कुछ बातें एक



सुप्रीम कोर्ट के फैसले को ममता ने बताया नैतिक जीत, अगली सुनवाई 20 फरवरी को होगी

लोकसभा चुनाव से पहले पश्चिम बंगाल सरकार और सीबीआई के बीच चल रही लड़ाई अब सियासी अखाडे में तब्दील हो चूकी है। बीते रविवार से पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी धरने पर बैठी हैं। जिसे देख कर लग रहा है, अब यह लड़ाई 2019 के लोकसभा चुनाव की दिशा तय करेगी। यह लड़ाई तय करेगी की दिल्ली की गलियों में किसका



ऐसे लक्षण वाले व्यक्ति होते हैं जन्म से ही अमीर, मिट्टी भी छूने पर बन जाती है सोना

ऐसा कहा जाता है कि व्यक्ति अपनी किस्मत खुद बनाता है क्योंकि व्यक्ति द्वारा किए गए कर्म के अनुसार वह अपनी किस्मत बदल सकता है लेकिन इस दुनिया में बहुत से व्यक्ति ऐसे हैं जो कड़ी मेहनत करते हैं और अच्छे कर्म भी करते हैं इसके बावजूद भी उनकी किस्मत नहीं बदल पाती है। आम भाषा में ये भी कहा जाता हैं कि हर



"गीतिका" अभी है आँधियों की ऋतु रुको बाहार हो जाना घुमाओ मत हवाओं को अजी किरदार हो जाना

मापनी-1222 1222 1222 1222, समान्त- आर का स्वर, पदांत- हो जाना"गीतिका"अभी है आँधियों की ऋतु रुको बाहार हो जानाघुमाओ मत हवाओं को अजी किरदार हो जानावहाँ देखों गिरे हैं ढ़ेर पर ले पर कई पंछीउठाओ तो तनिक उनको सनम खुद्दार हो जाना।।कवायत से बने है जो महल अब जा उन्हें देखोभिगाकर कौन रह पाया नजर इकरार हो जाना



ऐसा क्या खास है की ईशा अंबानी की शादी के एक कार्ड की कीमत है 3 लाख रुपये???

देश के सबसे बड़े करोड़पति परिवार की बेटी ईशा अंबानी और आनंद पीरामल की सगाई के बाद दोनों की शादी की चर्चा ज़ोरों पर है। मुकेश अबांनी और नीता अंबानी की लाडली बेटी ईशा की सगाई इटली में करने के बाद पूरा परिवार दोनों की शादी की तैयारियों में लग गया है। ईशा की शादी की सारी तै



प्यार क्या है?

प्यार दो दिलो के बीचका एक गहरा स्नेह है। जो किसी दूसरी चिजो मे ना मिले वो सुखद एहसास है। गंगा की तरह पवित्र, यमुना की तरह सुंदर और हिमालय की तरह विशाल है, जिसे तोड़ना साधारण मानव के बस की बात नही। कुदरत का दिया हुआ वोतोहफा है जिसमे खुदा



"गीतिका" उग आई ऋतु है चाहत की मत लाना दिल में शामत की

मापनी- 22 22 22 22, समान्त- अत, पदांत- की"गीतिका"उग आई ऋतु है चाहत कीमत लाना दिल में शामत कीदेखो कितनी सुंदर गलियाँ खुश्बू देती हैं राहत की।। जब कोई लगता दीवाना तब मन होता है बसाहत की।।दो दिल का मिलना खेल नहींपढ़ना लिखना है कहावत की।।माना की दिल तो मजनू हैपर मत चल डगर गुनाहत की।।देखो कलियाँ चंचल ह



पूर्व केंद्रीय मंत्री एवं कांग्रेस के वरिष्ठ नेता गुरुदास कामत का हार्ट अटैक से दिल्ली में निधन

पूर्व केंद्रीय मंत्री व वरिष्ठ कांग्रेस नेता गुरुदास कामत का दिल्ली के चाणक्यपुरी इलाके में स्थित प्राइमस अस्पताल में निधन हो गया है। कामत को सांस लेने में दिक्कत होने के बाद सुबह करीब सात बजे अस्पताल लाया गया, जहाँ उनकी मौत हो गई | मौत की वजह हार्ट अटैक थी | वह 63 वर्ष के थे | कामत के नजदीकी बता



पूर्व केंद्रीय मंत्री और वरिष्ठ कांग्रेस नेता गुरुदास कामत का निधन

पूर्व केंद्रीय मंत्री और वरिष्ठ कांग्रेस नेता गुरुदास कामत की बुधवार सुबह दिल के दौरे के बाद नई दिल्ली के एक निजी अस्पताल में निधन हो गया। कामत, अपनी पत्नी महरुखऔर बेटे सुनील के साथ रहते थे | एक परिवार के मित्र के अनुसार, कामत ने सुबह की चाय के दौरान छाती में दर्द की



इस्मत चुगताई उर्फ ‘इस्मत आपा’

आजादी से पूर्व और विभाजन के दौर की सबसेप्रतिष्ठित लेखकों में से एक लेखिका इस्मत चुगताई को, आज 107वीं जयंती पर गूगलने ‘डूडल’ बनाकर अनौखे अंदाज में याद किया है । उनका जन्म 21 अगस्त 1915 को उत्तर प्रदेशके बदायूं में हुआ था और मृत्यु 24 अक्टूबर 1991 को मुंबई में हुई थी ।



ममता बनर्जी के भतीजे अभिषेक बनर्जी ने अमित शाह को कानूनी नोटिस भेजा

ममता बनर्जी केभतीजे और तृणमूलकांग्रेस के सांसदअभिषेक बनर्जी ने बीजेपीअध्यक्ष अमित शाहको सोमवार कोकानूनी नोटिस भेजा | अमितशाह को यह नोटिस उनके अपमानजनकबयान के लिए भेजा है जो उन्होंने 11 अगस्त को एक रैली में दिया था | अभिषेक के वकील ने शाह से 72 घंटों के भीतर माफी माँगने के लिए कहा है| अभिषेक के वकील



“गज़ल” “गज़ल” बहाने मत बनाओ जी धुआँ उठता नहीं यूँ ही

काफिया- आ स्वर रदीफ़-नहीं यूँ ही वज्न- १२२२ १२२२ १२२२ १२२२ “गज़ल” बहाने मत बनाओ जी धुआँ उठता नहीं यूँ ही लगाकर आग बैठे घर जला करता नहीं यूँ हीयहाँ तक आ रहीं लपटें धधकता है वहाँ कोना तनिक जाकर शहर देखों किला जलता नहीं यूँ ही॥सुना है जल गई कितनी इमारत बंद कमरों की खिड़कियाँ रो



“कुंडलिया”ममता माँ की पावनी छाया पिता दुलार।

“कुंडलिया”ममता माँ की पावनी छाया पिता दुलार। वंश बेल सम्यक प्रकृति चर्चित बालक प्यार॥ चर्चित बालक प्यार रार कब करते तरुवर। शिशु से है संसार स्नेह का सागर प्रियवर॥ कह गौतम कविराय हृदय की मोहक क्षमता। खेल रहा प्रिय गोद पिता मन विह्वल ममता॥ महातम मिश्र गौतम गोरखपुरी



मेरी सरकार

अपनी बर्बादियों का हमने यूँ जश्न मनाया है, सितमगर को ही खुद का राज़दार बनाया है. गम नहीं है मुझे खुद अपनी बर्बादी का,सितमगर ने मुझको अपना दीवाना बनाया है.दीवानगी का आलम कुछ यूँ है मेरे यारो, उनकी दिलज़ारी पे हमको मज़ा आया है. लोग त



ए मेरे हमसफ़र (Aye Mere Humsafar )- क़यामत से क़यामत तक

कयामत से कयामत टेक से ऐ मेरे हुमाफ़र के गीत: यह आनंद और मिलिंद द्वारा अच्छी तरह से तैयार संगीत के साथ उदित नारायण द्वारा एक बहुत अच्छा गाया गया गीत है। ऐरे मेर हुमाफ़र गीत महारू सुल्तानपुरी द्वारा खूबसूरती से लिखा गया है।क़यामत से क़यामत तक (Qayamat Se Qayamat Tak )ए मेरे हमसफ़र (Aye Mere Humsafar )



आसान हिन्दी  [?]
तीव्र हिंदी  [?]
ऑनस्क्रीन कीबोर्ड  [?]
हिन्दी टाइपिंग  [?]
अंग्रेजी  [?]

(फोन के लिए विकल्प)
X
1 2 3 र्4 ज्ञ5 त्र6 क्ष7 श्र8 (9 )0 --   =
q w e r t y u i o p [   ]
a s d िfि g h  j k l ; '  \
  z x c  v  b n m ,, .. ?/ एंटर
शिफ्ट                                                         शिफ्ट बैकस्पेस
x