मकर



मकर, कुम्भ और मीन राशि के लिए गुरु का मकर में गोचर

मकर, कुम्भ और मीन राशि के जातकों के लिए गुरु का मकर मेंगोचरसोमवार 29 मार्च 2020, चैत्र शुक्ल षष्ठी को 27:55 (अर्द्धरात्र्योत्तर तीन बजकर पचपन मिनट) के लगभग आयुष्मान योग और कौलवकरण में गुरुदेव का गोचर मकर राशि में हुआ था | लेकिन 14मई 2020 को रात्रि 7:47 केलगभग वक्री होते हुए गुरु तीस जून 2020 को सूर्



कर्क, सिंह और कन्या राशि के लिए गुरु का मकर में गोचर

कर्क, सिंह और कन्या राशियों के लिए गुरु का मकर में गोचरसोमवार29 मार्च 2020, चैत्र शुक्ल षष्ठीको 27:55 (अर्द्धरात्र्योत्तर तीन बजकर पचपन मिनट) के लगभगआयुष्मान योग और कौलव करण में गुरुदेव का गोचर मकर राशि में हुआ था | लेकिन 14मई 2020 को रात्रि 7:47 केलगभग वक्री होते हुए गुरु तीस जून 2020 को सूर्योदय स



गुरु का मकर में गोचर

मेष,वृषभ और मिथुन राशि के जातकों के लिए गुरु का मकर में गोचरसोमवार 29 मार्च 2020, चैत्र शुक्ल षष्ठी को 27:55 (अर्द्धरात्र्योत्तरतीन बजकर पचपन मिनट) के लगभग आयुष्मान योग और कौलव करण में गुरुदेव का गोचर मकरराशि में हुआ था | लेकिन 14 मई 2020 कोरात्रि 7:47 के लगभग वक्री होते हुए गुरु तीस जून 2020को सूर्



गुरु का मकर में गोचर

सभी बारह राशियों के लिए गुरु का मकर में गोचरआज जब सारा विश्व कोरोना वायरस के आक्रमण से जूझ रहा है ऐसे में कुछलोगों का आग्रह कि गुरु के मकर राशि में गोचर के सम्भावित परिणामों के विषय मेंलिखें – हमें हास्यास्पद लगा | किन्तु फिर भी, मित्रों केअनुरोध पर प्रस्तुत है सभी बारह राशियों पर गुरुदेव के मकर राश



गुरु का मकर में गोचर

गुरु का मकर में गोचरआज जब सारा विश्व कोरोना वायरस के आक्रमण से जूझ रहा है ऐसे में कुछलोगों का आग्रह कि गुरु के मकर राशि में गोचर के सम्भावित परिणामों के विषय मेंलिखें – हमें हास्यास्पद लगा | किन्तु फिर भी, मित्रों केअनुरोध पर प्रस्तुत है गुरुदेव के मकर राशि में गोचर के सम्भावित परिणामों पर एकदृष्टि



मंगल का मकर में गोचर

मंगल का मकर में गोचरचैत्र कृष्णचतुर्दशी यानी रविवार 22 मार्च को दिन में दो बजकर चालीस मिनट के लगभग विष्टि करण और शुभ योग में मंगलका गोचर अपनी उच्च राशि मकर में होगा | सूर्योदय के समय त्रयोदशी तिथि रहेगी, किन्तु मंगल के गोचर के समय चतुर्दशी तिथि होगी | इस समय मंगल उत्तराषाढ़नक्षत्र पर होगा | मकर राशि



सभी बारह राशियों के लिए शनि का मकर में गोचर

Saturn transit in Capricornशनि का मकर में गोचरमाघ मास की अमावस्या को यानी शुक्रवार 24 जनवरी 2020 को दिन में नौ बजकर अट्ठावन मिनट के लगभग अनुशासन और न्याय का कारक मानाजाने वाला ग्रह शनि तीन वर्षों से भी कुछ अधिक समय गुरु की धनु राशि में व्यतीतकरके चतुष्पद करण और वज्र योग में उत्तराषाढ़ नक्षत्र पर रहते



मीन राशि के लिए शनि का मकर में गोचर

शनि का मकर में गोचरमाघ मास की अमावस्या को यानी शुक्रवार 24 जनवरी 2020 को दिन में नौ बजकर अट्ठावन मिनट के लगभग अनुशासन और न्याय का कारक मानाजाने वाला ग्रह शनि तीन वर्षों से भी कुछ अधिक समय गुरु की धनु राशि में व्यतीतकरके चतुष्पद करण और वज्र योग में उत्तराषाढ़ नक्षत्र पर रहते हुए ही अपनी स्वयं कीराशि म



मकर व कुम्भ राशियों के लिए शनि का मकर में गोचर

शनि का मकर में गोचरमाघ मास की अमावस्या को यानी शुक्रवार 24 जनवरी 2020 को दिन में नौ बजकर अट्ठावन मिनट के लगभग अनुशासन और न्याय का कारक मानाजाने वाला ग्रह शनि तीन वर्षों से भी कुछ अधिक समय गुरु की धनु राशि में व्यतीतकरके चतुष्पद करण और वज्र योग में उत्तराषाढ़ नक्षत्र पर रहते हुए ही अपनी स्वयं कीराशि म



वृश्चिक व धनु राशि के जातकों के लिए शनि का मकर में गोचर

वृश्चिक तथा धनु राशि के जातकों के लिए शनि का मकर में गोचरमाघ मास की अमावस्या को यानी शुक्रवार 24 जनवरी 2020 को दिन में नौ बजकर अट्ठावन मिनट के लगभग अनुशासन और न्याय का कारक मानाजाने वाला ग्रह शनि तीन वर्षों से भी कुछ अधिक समय गुरु की धनु राशि में व्यतीतकरके चतुष्पद करण और वज्र योग में उत्तराषाढ़ नक्ष



कन्या व तुला राशियों के लिए शनि का मकर में गोचर

कन्या और तुला राशि के जातकों के लिए शनि का मकर में गोचरकल के लेख में शनि के मकर राशि में गोचर के सिंह राशि के जातकों परसम्भावित प्रभावों के विषय में चर्चा की थी, आज कन्या और तुला राशि के जातकों परशनि के मकर में गोचर के सम्भावित प्रभावों पर संक्षेप में दृष्टिपात... किन्तु ध्यान रहे, ये सभी परिणाम साम



२०२० में आने वाली संक्रान्तियों की सूची

संक्रान्ति 2020 और मकर संक्रान्तिॐ घृणि: सूर्य आदित्य नम: ॐमाघ कृष्णपञ्चमी यानी पन्द्रह जनवरी को सूर्योदय से पूर्व दो बजकर नौ मिनट (चौदह जनवरी कोअर्द्धरात्र्योत्तर) के लगभग भगवान भास्कर गुरुदेव की धनु राशि से निकल कर महाराजशनि की मकर राशि में गमन करेंगे और इसके साथ उत्तर दिशा की ओर उनका प्रस्थान आरम



उत्तरायण उत्सव (मकर संक्रांति)

यह सत्य है कि मनुष्य के जीवन की दिशा और दशा में परिस्थितियों का बहुत बड़ा योगदान होता है। लेकिन खुशियों का संबंध मनुष्य की प्रकृति और उसके दृष्टिकोण से होता है। जीवन प्रतिपल परिवर्तित होता है। प्रत्येक दिन नवीन चीजें घटित होती हैं। नवीनता का बोध होना आवश्यक है। उससे भ



तिल गुड़ खाइए मीठा - मीठा बोलिए - मकर संक्राति

हल्दी और कुमकुम का टीकालगाकर हो शुभारंभ.तिल और गुड़ की मिठास वाणी में जाए घुल.सुगंधित सुमन से सुवासित हो मनमंदिर.अनंत आकाश में अपना अस्तित्व दर्ज कराए रंगबिरंगी पतंग.धनु राशि स



कर्क राशि के लिए शनि के मकर में गोचर के सम्भावित प्रभाव

शनि का मकर में गोचरकल के लेख में शनि के मकर राशि में गोचर के मिथुन राशि के जातकों परसम्भावित प्रभावों के विषय में चर्चा की थी, आज कर्क राशि के जातकों पर शनि के मकरमें गोचर के सम्भावित प्रभावों पर संक्षेप में दृष्टिपात... किन्तु ध्यान रहे, ये सभी परिणाम सामान्य हैं | किसीकुण्डली के विस्तृत फलादेश के



बुध का मकर में गोचर

बुधका मकर में गोचरमाघ कृष्ण तृतीया यानी सोमवार तेरह जनवरीको प्रातः 11:35 के लगभग विष्टि करण और आयुष्मान योग में बुध कागोचर मकर राशि में हो जाएगा | बुध इस समय उत्तराषाढ़ नक्षत्र पर है तथा अस्त है |यहाँ से 19 जनवरी को बुध श्रवण नक्षत्र और 27 जनवरी को धनिष्ठा नक्षत्र पर भ्रमण करता हुआ अन्त में तीस जनवरी



मिथुन राशि के लिए शनि का मकर में गोचर

शनि का मकर में गोचरकल के लेख में शनि के मकर राशि में गोचर के वृषभ राशि के जातकों परसम्भावित प्रभावों के विषय में चर्चा की थी, आज मिथुन राशि के जातकों पर शनि के मकरमें गोचर के सम्भावित प्रभावों पर संक्षेप में दृष्टिपात... किन्तु ध्यान रहे, ये सभी परिणाम सामान्य हैं | किसीकुण्डली के विस्तृत फलादेश के



वृषभ राशि के जातकों के लिए शनि का मकर में गोचर

शनि का मकर में गोचरकल के लेख में शनि के मकर राशि में गोचर के मेष राशि के जातकों पर सम्भावितप्रभावों के विषय में चर्चा की थी, आज वृषभ राशि के जातकों पर शनि के मकरमें गोचर के सम्भावित प्रभावों पर संक्षेप में दृष्टिपात... किन्तु ध्यान रहे, ये सभी परिणाम सामान्य हैं | किसीकुण्डली के विस्तृत फलादेश के लि



मेष राशि पर शनि के मकर में गोचर के सम्भावित प्रभाव

शनि का मकर में गोचरकल के लेख में शनि के मकर राशि में गोचर के समय आदि के विषय में चर्चा कीथी, आज सभी राशियों पर शनि के मकर में गोचर के सम्भावित प्रभावों पर चर्चा...किन्तु ध्यान रहे, ये सभी परिणाम सामान्य हैं | किसीकुण्डली के विस्तृत फलादेश के लिए केवल एक ही ग्रह के गोचर को नहीं देखा जाताअपितु उस कुण्



शनि का मकर में गोचर

शनि का मकर में गोचरमाघ मास की अमावस्या को यानी शुक्रवार 24 जनवरी 2020 को दिन में नौ बजकर अट्ठावन मिनट के लगभग अनुशासन और न्याय का कारक मानाजाने वाला ग्रह शनि तीन वर्षों से भी कुछ अधिक समय गुरु की धनु राशि में व्यतीतकरके चतुष्पद करण और वज्र योग में उत्तराषाढ़ नक्षत्र पर रहते हुए ही अपनी स्वयं कीराशि म



आसान हिन्दी  [?]
तीव्र हिंदी  [?]
ऑनस्क्रीन कीबोर्ड  [?]
हिन्दी टाइपिंग  [?]
डिफ़ॉल्ट कीबोर्ड  [?]

(फोन के लिए विकल्प)
X
1 2 3 र्4 ज्ञ5 त्र6 क्ष7 श्र8 (9 )0 --   =
q w e r t y u i o p [   ]
a s d िfि g h  j k l ; '  \
  z x c  v  b n m ,, .. ?/ एंटर
शिफ्ट                                                         शिफ्ट बैकस्पेस
x