तृण धरि ओट कहती वैदेही

तृण धरी ओट कहती वैदेही डॉ शोभा भारद्वाज कोरोना काल में सभी भयभीत हैं ऐसे में संकट मोचन हनुमान ही सहारा हैं .रावण जगा उसने प्रभात के सूर्य को अपनी लाल आँखों से देखा सबसे पहले कैद में रखी गयी सीता का रुख किया उसके पीछे उसकी रानियाँ उंघती हुई आ रही थी , बगल में मन्दोदरी हीरों से जड़ित सोने के पात्र में



नारी तू बस नारी नहीं

नारी तू बस नारी नहीं, सृष्टि का आधार हो तुम।जीवनदाता भाग्यविधाता, जय हो-जय हो नारी तेरी;तेरे विविध रूप और सत्कार हो तुम।।-सर्वेश कुमार मारुत



कैनेडी रॉकर

A Kennedy Rocker or rocking chair is type of chair with two curved bands (also known as rockers) attached to the bottom of the legs, connecting the legs on each side to each other. The rockers contact the floor at only two points, giving the occupant the ability to rock back and forth by shifting th



कोरोना

कोरोना वहां इठला कर खड़ा है,और यहाँ धैर्य, साहस और विश्वास की मंत्रणा चल रही है। धैर्य बोला, थक गया मैं इस से लड़ लड़ के,वापस आ जाता है, ये दुगुनी शक्ति से। धैर्य की बात सुनकर, साहस भी धीमे स्वर से बोला,दुर्बल हो गया हूँ मैं भी, इसकी विविध शक्तियाँ देख कर,इतना धैर्य रख र



बारिस

टिपटिपाती है बारिस, मानों मेघों में हों छेंद।गड़गड़ाती बिजलियाँ, ध्वनि बहुत है तेज़।तीव्र कभी-कभी हौले, जो बड़ा लगाये जोर।कभी इधर-कभी उधर, मानों लगी हो डोर।मेघ वारि भरकर लाए, और दिया निचोड़।और लाओ और लाओ, ऐसी लगी है होड़।।-सर्वेश कुमार मारुत



भगवती सीता की खोज ,लंका में संकट मोचन हनुमान का प्रवेश

भगवती सीता की खोज , लंका में संकट मोचक हनुमान का प्रवेश डॉ शोभा भारद्वाज विशाल सागर को पार कर श्री हनुमान लंका पहुंचे लेकिन नगर में प्रवेश कैसे करें ?वह एक ऊँचे घने वृक्ष की छाया में घुटनों के बल बैठे थे उन्होंने हाथ जोड़ कर कहा मेरा श्री राम पर अटूट विश्वास है वही मुझे मार्ग दिखलायेंगे .सामने चारो



कम्मो

बात पिछले बरस की है... इसीकोरोना के चलते देश भर में लॉकडाउन घोषित हो गया था... हर कोई जैसे अपने अपने घरोंमें कैद होकर रह गया था... ऐसे में प्रवासी मजदूर – जो रोज़ कुआँ खोदकर पानी पीतेहैं – जिन्हें आम भाषा में “दिहाड़ी मजदूर” कहा जाता है - दिल्ली में या और भी जिनशहरों में थे उन सभी को चिन्ता सतानी स्वा



बेटी

बेटी तो बेटी होती हैं,सृष्टि को तो यही संजोती ।सृष्टि ही जीवन का आधार,बेटी हैं खुशियों का भण्डार।।-सर्वेश कुमार मारुत



आयुर्वेद की दिव्यता :- आचार्य अर्जुन तिवारी

*हमारा देश भारत आदिकाल से दिव्य ऋषि - मुनियों का देश रहा है | ऋषि - मुनियों ने सदैव मानव मात्र के कल्याण के लिए ही समस्त ज्ञान प्रसारित किया है | हमारे ग्रन्थों में स्थान - स्थान पर मनुष्यों के लिए दिशा - निर्देश प्राप्त होते हैं | इस संसार का आदिग्रन्थ स्वयंभू वेदों को माना जाता है | हमारे चारों वे



हालात बदले हुए है।

हालात बदले हुए है। शाम दिल्ली में हवाएं रूप, बदल बदल कर आ रही थी। हवाओं ने नीम और जामुन के पत्ते फूल गिरा दिए।चौक-चौराहे में लहराते, तिरंगों को फाड़ कर रख दिए।बादलों की गर्जन से, आसमानी बिजली भी चमक गई।काली खाली सड़को में, सायरन एम्बुलेंस के बज रहे।किसी मे कराहती सासे, या कफ़



दस्तूर निभा देना

रोक दूँ ग़र साँसें औ टूटती नब्ज़ भी,आख़िरी दस्तूर निभा देना हिलाकर मुझको।-सर्वेश कुमार मारुत



जरा दिल को थाम के

कोरोना बीमारी की दूसरी लहर ने पूरे देश मे कहर बरपाने के साथ साथ भातीय तंत्र की विफलता को जग जाहिर कर दिया है। चाहे केंद्र सरकार हो या की राज्य सरकारें, सारी की सारी एक दूसरे के उपर दोषरोपण में व्यस्त है। जनता की जान से ज्यादा महत्वपूर्ण चुनाव प्रचार हो गया है। दवाई, टीका, बेड आदि की कमी पूरे देश मे



सनातन के रहस्स :- आचार्य अर्जुन तिवारी

*इस धरा धाम पर आदिकाल से स्थापित एकमात्र धर्म सनातन धर्म को माना गया है , धीरे-धीरे सनातन धर्म से भी अनेकों शाखाएं निकली जिन्हें लोगों ने अपने अनुसार नाम देकर धर्म बता दिया | सनातन धर्म इतना अलौकिक एवं दिव्य है कि इसे जान पाना , समझ पाना किसी साधारण व्यक्ति के बस की बात नहीं है | वैसे तो कहा जाता



औरु करइ अपराध कोउ :- आचार्य अर्जुन तिवारी

*इस संसार में ईश्वर तो स्वतंत्र है परन्तु जीव परबस है | जीव अपने कर्मों के बस में हैं | जो जैसा कर्म करता है उसे उसका फल भोगना ही पड़ता है | कभी कभी तो ऐसा लगता है कि किसी दूसरे के कर्म का फल कोई दूसरा भोग रहा है परंतु ऐसा नहीं होता क्योंकि जीव इन वाह्यचक्षुओं से कर्मों की सूक्ष्मता को नहीं देख पाता



समस्याएँ और सूर्योदय

आज हरकोई डर के साए में जी रहा है | कोरोनाने हर किसी के जीवन में उथल पुथल मचाई हुई है | जिससे भी बात करें हर दिन यही कहता मिलेगा कि आज उसके अमुकरिश्तेदार का स्वर्गवास हो गया कोरोना के कारण, आज उसका अमुक मित्र अथवा परिचित कोरोना की भेंट चढ़ गया | पूरे के पूरे परिवार कोरोना की चपेटमें आए हुए हैं | हर ओ



कोविड 19 से 2021 तक

कोविड 19 से 2021 तककुदरत की कहर से, शहर गाँव दोनो कॉप गए।थम नही रही सासे, ऑक्सीजन की कमी से।देवालय, विद्यालय, अस्पतालय सब एक हो गए।अज़ान, घण्टियाँ, गुरु वाणी, चर्च प्रार्थना, सब थम से गए।एम्बुलेंस के सायरन से, अब रूह, जान सब काँपने लगी।देख लाशें कब्र और समशान में, आंकड़े धरे के धरे रह गए।कभी दो बूंद ज



हम जानते है।

हम जानते है।हम जानते है कि सबकी अपनी जिंदगी है।पर परिवार सबकी बिरीथिंग पावर है।हम जानते है कि समुंदर का पानी पी नही सकते।उसके शैलाब और उफान से दुनियां काँपती है।हम जानते है अकेले जीने में मजा आता है।मरने के बाद का जनशैलाब, खुद की पहचान होती है।हम जानाते है अमीरी जामा बहुत सुंदर होता है।वह सुंदरता भी



ट्रॉटमैन रोक्किंग चेयर्स

Over 26 pairs of hands transform solid wood into comfortable furniture. All Troutman Rocking Chairs are NOT created equal. This is why Troutman Chairs are the best. Troutman rocking chairs, Classic Shaker Rocker is a medium-sized Shaker-style rocking chair with a higher back for support. The care th



28 अप्रैल 2021

टॉप 8 फल और सब्जियाँ जो है ऑक्सीजन से भरपूर

स्वास्थ्य ताजा खबर टॉप 8 फल और सब्जियाँ जो है ऑक्सीजन से भरपूर अप्रैल 26, 2021 Gyandoor 0 Comments , , ऑक्सीजन से भरपूर फल, ऑक्सीजन से भरपूर सब्जियां, स्वास्थ्य, health tipsEditटॉप 8 ऑक्सीजन से भरपूर फल और सब्जियां : जब आपकी मांसपेशिय



जली चितायें

व्याकुल अति कोरोना ने कहर डहाया हुई प्रचण्ड लाल फिजायें, पर मिल न सकी ऑक्सीजन और यहाँ अति जली चितायें ।1जलाने बड़ी देखो होड़ लगी, प्रतिक्षारत में बैठे करके तैयारी। एक ओर जला-जला पूत रे, दूसरी ओर जली-जली महतारी। 2-सर्वेश कुमार मारुत



आसान हिन्दी  [?]
तीव्र हिंदी  [?]
ऑनस्क्रीन कीबोर्ड  [?]
हिन्दी टाइपिंग  [?]
डिफ़ॉल्ट कीबोर्ड  [?]

(फोन के लिए विकल्प)
X
1 2 3 र्4 ज्ञ5 त्र6 क्ष7 श्र8 (9 )0 --   =
q w e r t y u i o p [   ]
a s d िfि g h  j k l ; '  \
  z x c  v  b n m ,, .. ?/ एंटर
शिफ्ट                                                         शिफ्ट बैकस्पेस
x