मोदी ने अपने नाम के आगे से चौकीदार हटाया, वजह भी बताई

लोकसभा चुनाव 2019 में धमाकेदार जीत दर्ज करने के बाद पीएम मोदी ने अपने नाम से चौकीदार शब्द हटा लिया है. उन्होंने खुद इस बारे में ट्वीट करके जानकारी दी. पीएम का ये ट्वीट अंग्रेजी में है. उन्होंने अपने ट्वीट में औरों को भी यही करने को कहा है. मोदी ने लिखा है-वक्त आ गया है कि चौकीदार वाली भावना को अगले



मोदी जी की पाकिस्तान के प्रति विदेश नीति में चाणक्य नीति की झलक

मोदी जी की पाकिस्तान के प्रति विदेश नीति में चाणक्य नीति की झलक डॉ शोभा भारद्वाज 2014 में मोदी जी के नेतृत्व लोकसभा का चुनाव लड़ा जा रहा था आलोचक प्रश्न उठारहे थे भाजपा की विदेश नीति क्या है ? सत्तापर आसीन होने के बाद विदेश नीति विशेषज्ञ उनको विदेश नीति समझाने उनसे मिलने भीआये | मोदी जी ने अपने श



मोदी पहेलियाँ

नरेंद्र दामोदर दास मोदी, वर्तमानप्रधानमंत्री, भारत से संबन्धित पहेलियाँ। <!--[if !supportLists]-->1- <!--[endif]-->पूर्ण बहुमत कीसरकार बनायी। कैसे?<!--[if !supportLists]-->2- <!--[endif]-->नोट बंदी जैसाबड़ा कदम लिया, जनता को थोड़ी बहुत असुविधा हुई फिर भी जनता ने साथ दिया। क्यों ?<!--[if !supportL



व्यक्ति नहीं विचार चुनिए

जब इलेक्शन हाई लेवल का हो तो कैंडिडेट को कौन पूछता है. व्यक्ति नहीं विचार चुनिए. विश्व की सबसे बड़ी लोकतांत्रिक व्यवस्था में एक अकेला थक जाएगा, इसलिए संगठित रूप से चुनाव लड़ने वाले एक विचारधारा के व्यक्तियों का चुनाव जरूरी है. कहीं की ईंट कहीं का रोड़ा भानुमति ने कुनबा जोड़ा वाली विचारधारा का जीतना



चुनाव , मेनिफेस्टो ,और कुछ भी

चुनाव, मेनिफेस्टो और कुछ भी भारत में चुनाव उत्सव, तमाशा, जंग, उद्योग सब कुछ है। कभी ये समुद्र मंथन सा लगता है जिसके परिणामस्वरूप रत्न और विष दोनों निकलते हैं। इसमें कौन देवता हैं और कौन दानव ज्ञानी ही समझसकते हैं। हर एक पक्ष खुद को देवता और सामने वाले को दानव कहता है ।इसमें मोहनी अवतार नहीं होता। प



चुनाव, मेनिफ़ेस्टो और कुछ भी ।

चुनाव, मेनिफेस्टो और कुछ भी भारत में चुनाव उत्सव, तमाशा, जंग, उद्योग सब कुछ है। कभी ये समुद्र मंथन सा लगता है जिसके परिणामस्वरूप रत्न और विष दोनों निकलते हैं। इसमें कौन देवता हैं और कौन दानव ज्ञानी ही समझसकते हैं। हर एक पक्ष खुद को देवता और सामने वाले को दानव कहता है



बिगड़े नेताओं के ‘‘बिगडे़ बोल’’-‘‘विवादित बोल’’! फायदा-नुकसान कितना!

भारतीय राजनीति में हमेशा से ही ‘‘बयानवीर’’ मीडिया में सुर्खिया पाते रहे है। विभिन्न राजनैतिक पार्टियों के कुछ नेतागण अपने बेवाक बयानों के माध्यम से सुर्खियाँ बटोरनें के उदे्श्य से ऐसे बयान देते रहते है, जिसके परिणाम स्वरूप उनकी छाप एक चर्चित चेहरे की होकर वे माने जाने



भारत का हाल इस चुनावी राजनीति के माहौल में – शुभम महेश

देश में इस समय चुनाव का माहौल चल रहा है। राजनीतिक पार्टीओ के समर्थक चुनाव प्रचार में लगे है और हम मतलब जनता अपने-अपने कामो में व्यस्त है। इस व्यस्त जनता को अपने देश में क्या चल रहा है इस से कोई मतलब नहीं है और जिन्हे लगता है की देश को वाकई में बदलाव की जरुरत है उनकी कोई सुनता नहीं है। तो इस पूरी बात



सिंहासन मूक बना बैठा है - शुभम महेश द्वारा लिखी गई | Shubham Mahesh

1लगता है सिंहासन मूक बना बैठा हैपहले वो जिसको मौनी कहता थाअब वो खुद मौन बना बैठा है2लगता है जनता अब तो कृद्ध दिखाई देती हैतुम्हारी इस चुप्पी में सवा अरब की चीख सुनाई देती हैलगत



चुनावी नारे

विकिपेडिया के अनुसार “नारा, राजनीतिक, आर्थिक र्और अन्य संदर्भों में, किसी विचार याउद्देश्य को बारंबार अभिव्यक्त करने के लिए प्रयुक्त एक आदर्श वाक्य या सूक्ति है।”भारत के स्वतत्रता सग्राम में नारों ने जनमानस मेंजान फूकने का काम किया था। उस समय के कुछ नारे थे –इंकलाब जि



गली गली में शोर है ...

बचपनमें हमने भी नगर पालिका वार्ड्स इत्यादि चुनाव में बिना किसी भेद भाव या राजनीति केआयाराम के जुलूस में शामिल होकर नारे लगाए थे “गली गली में शोर है गयाराम चोर है” औरगयाराम के जुलूस में शामिल होकर नारे लगाए थे “ गली गली में शोर है आयाराम



बाबा जयगुरुदेव राजनैतिक संगत का गठन किया गया

जयपुर। बाबा उमाकांत महाराज के सानिध्य में संचालित बाबा जयगुरुदेव धर्म विकास संस्था द्वारा संबंध बाबा जयगुरुदेव राजनैतिक संगत की एक राष्ट्रीय गोष्ठी में लखनऊ कार्यक्रम में बाबा जयगुरुदेव राजनीतिक संगत का गठन किया गया। राजनैतिक संगत के राष्ट्रीय प्रभारी आशुतोष शर्मा (जय



चुनावी मौसम में

चुनावी मौसम में झूठ पर झूठ बोली जाएगी,खाई जाएगी,परोसी जाएगी,झूठ चासनी में डुबायी जाएगी। बड़े प्यार से खिलायी जाएगी। उसकी बन्दिशें हटायी जाएंगी। चुनाव की होली है। कई हफ्तों खेली जायेगी। कीचड़ उछाल खेली जायेगी। झूठ को मौका है अभी जी भर के इतराएगी । आखिर में उसकी असली जगह जनमत द्वारा दिखा दी जायेगी।



चुनावी वादों से आगे

जैसे-जैसे चुनाव का मौसम नजदीक आता है, राजनीतिक वर्ग के पास करने के लिए बहुत से काम होते हैं। लेकिन आम नागरिकों को अपने काम में कटौती करनी पड़ती है, क्योंकि उनके ऊपर नारों की बमबारी की जाती है। साधारण नागरिकों को अलग-अलग राजनीतिक दलों से आने वाली सूचनाओं और आख्यानों को चुपचाप नहीं सुनना चाहिए। उन्हें



नीति व नियम :--- आचार्य अर्जुन तिवारी

*आदिकाल से इस धराधाम का पालन राजा - महाराजाओं के द्वारा होता आया है | किसी भी राजा के सफल होने के पीछे मुख्य रहस्य होता था उसकी नीतियाँ | अनेक नीतिज्ञ सलाहकारों से घिरा राजा राजनीति , कूटनीति एवं राष्ट्रनीति पर चर्चा करके ही अपने सारे कार्य सम्पादित किया करता था | कब , किस समय , कौन सा निर्णय लेना ह



लोकतन्त्र

लोकतन्त्रलोकतन्त्र,आज़ादी, अभिव्यक्ति की स्वतन्त्रता,संप्रदायवाद,सेकुलर ये बड़े बड़े शब्द राजनेता और राजनीतिक पार्टियों द्वारा हर दिन अनेकों बारप्रयोग किये जाते हैं। संसद में आये दिन होने वाला हँगामा और पूरे पूरे सत्र संसदन चलने देना भी लोकतन्त्र है। इसमेंबदलाव आना चाहिये। यूं तो सड़क पर भी आप को सभ्य



आपके अनुसार महागठबंधन में से कौन सा नेता मोदी जी को टक्कर दे सकता है? आपको ऐसा क्यों लगता है?

भविष्य जानने के लिए कभी कभी इतिहास में झांकना पड़ता है और वर्तमान को समझना पड़ता है। इस प्रश्न का उत्तर तो एक ही लाइन में है लेकिन इसे सभी पक्ष को ध्यान में रखते हुए समझते हैं। मोदी जी के विषय में अंत में बात करेंगे क्योकि पहले बुरा भाग ही देखना हम पसंद करते हैं।महागठबंधन में सभी दलों में कुछ बातें एक



नार्थ कोरिया की महिला सैनिकों के साथ होता है जानवरों जैसा बर्ताव, नर्क सा जीवन है नार्थ कोरिया

सैनिकों का काम सबसे सम्मान वाला होता है. वह देश की रक्षा बिना किसी स्वार्थ के करते हैं. इन सैनिकों की वजह से ही हम अपने घरों पर चैन की नींद सो पाते हैं. लेकिन जब देश की रक्षा करने वाले के साथ ही हैवानियत जैसा सलूक किया जाये तब आप क्या कहेंगे? जी हां, ऐसा भी होता है कि जिन



13 साल की उम्र में प्रियंका गांधी ने किया था रॉबर्ट को प्रपोज, तब वाड्रा ने दिया था ऐसा जवाब

लोकसभा चुनाव से ठीक पहले कांग्रेस ने एक बड़ा दांव खेला है। जी हां, कांग्रेस ने प्रियंका गांधी को मैदान में उतार दिया है। बुधवार को प्रियंका गांधी को यूपी का कांग्रेस की महासचिव बनाया गया है। ऐसे में हर कोई प्रियंका गांधी से जुड़ी छोटी छोटी चीज़ों के बारे में जानने के लिए



Kumbh 2019: तस्वीरों में देखें मॉरीशस पीएम प्रविंद जुगनाथ का कुंभ दर्शन

मॉरीशस के प्रधानमंत्री प्रविंद जुगनाथ गुरूवार को पत्नी कोविता रामदीन के साथ कुंभ आए हैं। हम आपको उनके कुंभ दर्शन की फोटोज दिखाएंगे। मॉरीशस के प्रधानमंत्री प्रवींद्र जुगनाथ ने पत्नी कविता जुग नाथ के साथ त्रिवेणी बांध स्थित बड़े हनुमान मंदिर में पूजन किया। वाराणसी से वह वि



आसान हिन्दी  [?]
तीव्र हिंदी  [?]
ऑनस्क्रीन कीबोर्ड  [?]
हिन्दी टाइपिंग  [?]
अंग्रेजी  [?]

(फोन के लिए विकल्प)
X
1 2 3 र्4 ज्ञ5 त्र6 क्ष7 श्र8 (9 )0 --   =
q w e r t y u i o p [   ]
a s d िfि g h  j k l ; '  \
  z x c  v  b n m ,, .. ?/ एंटर
शिफ्ट                                                         शिफ्ट बैकस्पेस
x