अंतिम विदाई

बरसात का मौसम था | शाम से ही हल्की-हल्की बारिश होते - होते रात में कडकडाती बिजली के साथ किसी तूफानी घटना की ओर इशारा करने लगी । पत्नी तो मेरी बाहों में बंधते ही मेरे प्यार को रो



पान का खोखा

पान काखोखा पहली हीनज़र मे दिया उसने धोखा।हम भी नकम थे उसीके गली मे,रख दियापान का खोखा।जब भीनिकलती वो अपनी गले से,नजरेलड़ाके वो, नज़रे चुराती वो।कभीइतराकर कभी मुस्कराकर,हमे वोजलाती, हमे वो जलाती।जाती कहाँथी, हमे न बताती,हम भी उसीकी यादों मे जलने लगे...पहली हीनज़र मे दिया उसने धोखा।हम भी नकम थे उसीके गली



पसंद

वो अम्मा है ना,अरे वही जो गली में एक घर छोड़ कर अगले ही घर में रहती हैं। हां दीदी, वही अम्मा जिनकी पलकें उनके बालों का साथ निभाते हुए सफेद हो गयी हैं। अच्छा.. वो अम्मा , जिनका मुंह पान की पींग से भरा और होंठ लाल रहते हैं। हां जीजी वहीं लम्बी सी गोरी अम्मा। उनको देख कभी कभी सोचती हूं कि ये अम्मा अभी



कठोर परिश्रम, कड़ी मेहनत के बाद भी नहीं मिलता फल, तो पान के पत्ते से करे टोटके

आप जीवन में कठिन परिश्रम, कड़ी मेहनत करते है लेकिन आपको आपकी मेहनत का उचित फल नहीं मिलता है, तो आपको बड़ा दुख होता है और मन को निराशा ही मिलती है। ऐसे में क्या करे तो बहुत ही सरल



कुछ यूं होती है जापानी शैली में बनी हिंदी कविता

<!--[if gte mso 9]><xml> <w:WordDocument> <w:View>Normal</w:View> <w:Zoom>0</w:Zoom> <w:TrackMoves/> <w:TrackFormatting/> <w:PunctuationKerning/> <w:ValidateAgainstSchemas/> <w:SaveIfXMLInvalid>false</w:SaveIfXMLInvalid> <w:IgnoreMixedContent>false</w:IgnoreMixedContent> <w:AlwaysShowPlaceh



कुछ लोग जो ज्याद जानते है.

हिन्दुस्तान की एक ख़ासियत है कि यहाँ के लोग बहुत कुछ जानते, यानी दुनियां के लोगो से ज्यादा. इतिहास से लेकर विज्ञान तक सब जानते है. एक गाना था " कुछ लोग जो ज्यादा जानते है इंसान को कम पहचानते है ये पूर्व है पूर्व वाले हर जान क



जानिए क्यों रहते है जापानी लोग हमेशा खूबसूरत और जवान ?

<!--[if gte mso 9]><xml> <w:WordDocument> <w:View>Normal</w:View> <w:Zoom>0</w:Zoom> <w:TrackMoves></w:TrackMoves> <w:TrackFormatting></w:TrackFormatting> <w:PunctuationKerning></w:PunctuationKerning> <w:ValidateAgainstSchemas></w:Val



मोदी, राहुल सहित जानिए कौन नेता है शाकाहारी और कौन है मांसाहारी ?

हम सभी ने बचपन में शाकाहारी, मांसाहारी और सर्वाहारी के बारे में सुना या पढ़ा होगा। ऐसा सच भी है कि दुनिया में तीन तरह के लोग होते हैं जिसमें एक शाकाहारी होते हैं, दूसरे मांसाहारी और तीसरे सर्वाहारी होते हैं। शकाहारी में सब्जियां, फल और दूध से बनी चीजें आती हैं लेकिन मांसाहारी में मांस, मच्छी के साथ



हिरोशिमा पर परमाणु हमले को बयां करती हैं ये 13 तस्वीरें

दुनिया के इतिहास में ऐसी-ऐसी घटनाएं हुई हैं कि बहुत से लोग प्रभावित हुए हैं और इसके बारे में हमें हमारे पूर्वजों से पता चला है। जिस तरह से भारत अंग्रेजों का गुलाम बन गया था वैसे ही दूसरे देशों के साथ भी बहुत कुछ हुआ है जिसके प्रमाण इतिहास में मिलते हैं। कुछ ऐसा ही 6 अ



जिधर जिंदगी उधरी मौत।

जिधर जिंदगी उधरी मौत।आज की भागदौड़ भरी जिंदगी में, किसी को फुरसत कहाँ?सुबह की हड़बड़ी में पानी का टैंकर, गली में हॉर्न बजा रहा था।स्वच्छता अभियान के तहत, एक सावला लड़का झाडू लगा रहा था।मन कुंछित दबे पांव, मजदूर काम पर जा रहा था।मौत किसको कहाँ ले जाए? यह जाने वाले को पता न था।भागा वह भी था, भूखा पेट रोटी



कितना खतरनाक है सफेद पानी ? महिलाएं जाने इसके घरेलू इलाज

आज के दौर में महिलाओं का बोलबाला है और हर क्षेत्र में महिलाएं मजबूती के साथ आगे बढ़ रही हैं लेकिन कुछ ऐसी चीजें हैं जिनकी वजह से महिलाएं खुद को थका और असहाय समझने लगती हैं। जिसमें अनियमित पीरियड्स में शारीरिक कमजोरी और उनकी योनि से सफेद



गर्मी में पानी का स्तर बनाए रखते हैं यह आहार

शरीर के लिए पानी किसी अमृत से कम नहीं है। वैसे तो शरीर को बीमारियों से मुक्त करने और स्वस्थ रहने के लिए हर मौसम में पानी का पर्याप्त मात्रा में सेवन करना चाहिए। लेकिन गर्मी के मौसम में यह आवश्यकता बढ़ जाती है और ऐसे में सिर्फ पानी के जरिए प्यास बुझाना या शरीर में पानी का स्तर बनाए रखना संभव नहीं होता



मुफत में मिलने वाली चीजे महंगी क्यों हो रही हैं?

पेड़ो की ठंडी हवा ऐसी में बदल गई . नदी में बहने वाला पानी, निर्मल नाम की बोतले में बदल गया.बाल्टी में रखा दूध पैकिटों में बदल गया .जो कभी बिकते नहीं थे आज बिकने लगे .



पानी को पानी रहने दो

पानी को पानी रहने दोनदी अकेले बहकर अनेको घाट बनाती थी। हर घाट निराला होता था।पनघट मे पानी भारी बाल्टी रस्सी से खीच कर औरत सुस्ताती थी।भर मटका कलस फुरसत मे सखी सहेलियों से बतियाती थी, बेटी बहू।चरवाहा बैठ पेड़ की छांव मे मन से गीत गुंगुनाता, गीले होठो से। जानवर तालाबो मे डुबकी लगाते तैरते इतराते ले



आ गया गर्मियों का मौसम, पीएं नारियल पानी

मौसम बदलते ही शरीर की आवश्यकताएं भी बदल जाती हैं। खासतौर से, गर्मी के मौसम में शरीर को अधिक पानी की जरूरत होती है। लेकिन महज पानी की मदद से शरीर की कमी पूरी कर पाना संभव नहीं है। ऐसे में अगर आप हेल्दी तरीके से शरीर को हाइडेट रखना चाहते हैं तो नारियल पानी का चयन करें। गर्मी में नारियल पानी अमृत से कम



इन पांच चीजों का प्रयोग अपने खानपान में करते रहेंगे, तो पा सकते हैं, दुबली पतली काया

हर व्यक्ति चाहता है, कि उसका शरीर एकदम परफेक्ट और फिट हो, लेकिन ये इतना आसान नहीं है, कि बिना प्रयास किए उसे पाया जा सके । परफेक्ट बॉडी पाने के लिए खाने-पीने पर ध्यान देना होगा । नियमित व्यायाम करना होगा । इस लेख में हम आपको बताने जा रहे हैं ऐसे कुछ फलों के बारे में ज



बच्चों से लेकर बूढ़ों तक के लिए गुणकारी है तांबे के बर्तन का पानी

हम सभी ने बचपन में कभी न कभी अपने बड़ों से सुना है कि हर रोज सुबह उठकर तांबे के बर्तन में रखा पानी पीना चाहिए। बहुत से घरों में तो आज भी बड़े-बुजुर्ग खाली पेट सबसे पहले तांबे के बर्तन में रखा पानी पीते हैं। लेकिन क्या आप जानते हैं कि तांबे के बर्तन में रखा पानी पीने से सेहत को किस तरह लाभ पहुंचता है।



पानी की कमी होने पर शरीर में दिखते हैं यह बड़े बदलाव

कहते हैं कि जल ही जीवन है। अर्थात पानी के बिना व्यक्ति के जीवन की कल्पना भी नहीं की जा सकती। वैसे भी मनुष्य के आधे से अधिक शरीर पानी से ही बना है। यह पानी ही शरीर की कार्यप्रणाली को सही तरह से कार्य करने के लिए प्रेरित करता है और अगर इसकी कमी हो जाए तो व्यक्ति को कई गंभीर समस्याओं का सामना करना पड़ता



पानी को अच्छे स्वास्थ्य का स्रोत बनाने के 5 तरीके

आयुर्वेद विज्ञान में साफ और ताजे पानी को अमृत के समान माना गया है, साफ और ताजा पानी आपके मन, शरीर और त्वचा को सुन्दर और स्वस्थ बनाता है । आज हम आपको वो पांच तरीके बताएंगे जिससे आप अपने पानी की सेहत को और अधिक बढ़ा सकते हैं तुलसी तुलसी कसारा है, जिसका मतलब है कि यह खांसी और सर्दी का दोनों का इलाज करत



डिलीवरी के बाद निकली तोंद करती है शर्मिन्दा, बस करिए यह छोटा-सा काम

महिलाएं हमेशा ही अपनेलुक्स को लेकरकाफी सजग रहतीहै। उम्र कापड़ाव चाहे जोभी हो, लेकिनवह हमेशा हीफिट, हेल्दी वआकर्षक दिखना चाहती हैं।लेकिन जैसे-जैसेसमय का पहियाघूमता है तोशरीर में भीबदलाव आता है।खासतौर से, मांबनने के साथस्त्री के शरीरमें कई बड़ेबदलाव आसानी सेदेखे जा सकतेहै



आसान हिन्दी  [?]
तीव्र हिंदी  [?]
ऑनस्क्रीन कीबोर्ड  [?]
हिन्दी टाइपिंग  [?]
डिफ़ॉल्ट कीबोर्ड  [?]

(फोन के लिए विकल्प)
X
1 2 3 र्4 ज्ञ5 त्र6 क्ष7 श्र8 (9 )0 --   =
q w e r t y u i o p [   ]
a s d िfि g h  j k l ; '  \
  z x c  v  b n m ,, .. ?/ एंटर
शिफ्ट                                                         शिफ्ट बैकस्पेस
x