1


अच्छे -बुरे सामाचार माध्यम

यह सोचना स्वाभाविक है कि बहुमत से चुनाव जीतनेवाला व्यक्ति बाकी लोगों की तुलना में अधिक लोकप्रियहोगा। तब यहस्वाभाविक है कि मैंआश्चर्यचकित हो जाऊं जब इस व्यक्ति को राष्ट्रीय मीडिया में अधिकतम बुरा-भला कहा जाए।दूसरी ओर, दुनिया भर में होने वाली उसकी प्रशंसा भी मुझे आश्च



बिहार के इस रिक्शा चालक को पांच बार खत लिख चुके हैं पीएम मोदी, जानिए क्या है वजह

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अपनी एक ऐसी छवि बनाई है जिसका देश में ही नहीं विदेशों में भी हर कोई दीवाना है। हर आम व्यक्ति की ये ख्वाहिश बन गए है कि उसे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से मिलना है, हर कोई चाहता है कि उसकी मुलाकात पीएम मोदी से हो जाए और यही वजह है कि पीएम मोदी जहां जाते हैं, वहां भीड़ उमड़



वो पहला खत मेरा "तेरे नाम का"..........

वो पहला खत मेरा "तेरे नाम का"..........वो पहला खत मेरा “तेरे नाम का”……….मेरी प्यारी (******)हर वक़्त हमें तेरी मौजूदगी का एहसास क्यूँ है,जब याद करता दिल तुझे, तूँ पास क्यूँ है…ये क्या है क्यूँ है,कुछ समझ नहीं आता,तेरे न होने से आज दिल उदास क्यूँ है…कल तेरे न आने से,मैं सा



माननीय सुषमा स्वराज जी।

सुषमा स्जीवराज जी नमस्कार !! विषय :- #अबकी बारी नोटा भारी !! मैं एक मध्यम वर्गीय सामान्य नागरीक हुँ। कुछ दिनों से पासपोर्ट विवाद चल रहा है और आपने भी एक दिन से भी कम समय में पासपोर्ट विवाद सुलझा लिया। मैं इस पर कोई व



कलम का सिपाही ( लेख )

कलम के सिपाही की विरासत को यूँ बदनाम ना करो, सिपाही हो कलम के तुम यूँ किसी के प्यादे ना बनो.ये दो लाइने कलम के सिपाही मुंशी प्रेमचंद को समर्पित है, और उन पत्रकारों , लेखकों, कवियों और शायरों को उनका धर



भारत के टॉप 5 न्यूज़ एंकर जिनका वेतन सुनकर आपके होश उड़ जाएंगे !

खबर की रोचकता सिर्फ खबर में ही नहीं होती बल्कि उसे पेश करने का तरीका भी खबर के प्रति हमारी दिलचस्पी बनाए रखने का अहम तरीका है। आजकल टेलीविज़न न्यूज़ प्रसारित करने का सबसे व्यापक तरीका है और दर्शकों को न्यूज़ से जोड़े रखने में मुख्य भूमिका होती है न्यूज़ एंकर की। आजकल हर जगह प्



तुलसीदास जयंती

सम्पूर्ण भारतवर्ष में गोस्वामी तुलसीदास के स्मरण में तुलसी जयंती मनाई जाती है| श्रावण मास की सप्तमी के दिन तुलसीदास की जयंती मनाई जाती है| इस वर्ष यह 17 अगस्त 2018 के दिन गोस



चलते चलते मेरी ये बात याद रखना

ये भाई ! पापी पेट का सवाल है भीख मागों या कलम को असलहा बना डाका डालो । अपनी पत्रकारिता के सफर पर कुछ यूं गुनगुने का मन कर गया। " ज़िंदगी का सफ़र है ये कैसा सफ़र कोई समझा नहीं कोई जाना नहीं है ये कैसी डगर चलते हैं सब मगर कोई समझा नहीं कोई जाना नहीं" अब जब इस जिंदगी के सफर की पहेलियों से उभर कर



किली जेनर और बॉयफ्रेंड ट्रेविस ने कराया फोटोशूट

किली जेनर और ट्रेविस स्कॉट इस महीने के जीक्यू पत्रिका के कवर पर चित्रित होंगे। ट्रैविस अपने ड्रेडलॉक्स में काले धारीदार सूट के साथ दिख रहे है, जबकि किली को काले पोशाक में देखा जाता है। पत्रिका ने दृश्य क



भारतीय तिथिपत्र

भारतीय तिथिपत्र चाँद्र-सौर (LuniSolar) तिथिपत्र है जिसमें मास की गणना चंद्रमा की गति पर आधारित है और वर्ष सूर्य की गति पर।चंद्रमा को पृथ्वी की एक परिक्रमा करने में २७.३ दिन लगते हैं किंतु इस बीच पृथ्वी भी सूर्य की कक्षा में लगभग ३० अं



खगोलशास्त्र और ज्योतिष - भाग 5

यह लेख मेरे द्वारा कुछ WhatsApp समूहों पर १८ अगस्त २०१६ से २७ नवम्बर २०१६ तक सम्प्रेषित चर्चा का संकलन है. पाठकों की सुविधा के लिए इसे 6 खण्डों में प्रकाशित कर रहा हूँ.आज की चर्चा का विषय है चन्द्रमा की कलाएँ जिन्हें अंग्रेज़ी में phases of moon कहते हैं। आपमें स



खुला ख़त, आपकी (ज़ीरो बटे सन्नाटा) इण्टरनेट स्पीड के नाम

नमस्कार!!! खुला ख़तपिछले कुछ समय से ट्रेंड पर चल रहा है। मुख्यतः ये ख़त किसी (गैर) ज़िम्मेदार संस्थाको उससे त्रस्त एक अस्तित्त्वहीन(मान लो) मानुस के बीच संवाद स्थापित करने का साधनहोता है, जिसको (गैर) ज़िम्मेदार संस्था को छोड़कर बाकी सब पढ़ लेते हैं। आज अपनी ज़िन्दगीसे त्रस्त होकर मैंने भी एक ख



Sketches from Life: प्रेमी पेपर्स

जबसे ये पनामा पेपर्स की ख़बर आई है नींद खराब हो गई है. पहले पहल तो पनामा के नाम पर पनामा सिगरेट की याद आई पर फिर गौर से पूरी खबर पढ़ी तो देखा मामला धन दौलत का है और इसमें काला सफ़ेद रंग भी है. ये तो बहुत सतर्क रहने वाली बात है साहब. इसलिए अप



ईमानदारी जिंदा है अभी तक

ईमानदारी जिंदा है अभी तक आदरणीय राणोजी नमस्कार!      पिछले एक महीने से मैं लगातार सोच रहा था कि, आपकोकिस प्रकार से शुक्रिया अदा करूँ, लेकिन समझ नहीं पा रहाथा। इस भागती-दौड़ती स्वार्थी और मतलबी दुनियां में आपकी ईमानदारी और सरल स्वभाव मेरे लिए एक सुखद एहसास ही नहीं बल्किआर्थिक रूप से भी लाभकारी रहा है।



तेरा क्या होगा रे 'जीएसटी'!

... इस नई व्यवस्था से अर्थव्यवस्था को 60 लाख करोड़ रुपये का महत्वपूर्ण फायदा होगा. गौरतलब है कि लोकसभा में ये बिल पहले ही पास हो चुका है, लेकिन राज्यसभा में इसकी राह में बार-बार रोड़े अड़ा दिए जाते हैं, जिसके लिए कांग्रेस सीधे तौर पर जिम्मेदार मानी जा रही है और इसके लिए उसकी खासी आलोचना भी हो चुकी है.



अंग्रेजी हवा में हिन्दी की सुगंध

आजकल अंग्रेजी लिखना, पढना व बोलना सिर्फ जरूरत नहीं एक चलन बन गया है । अंग्रेजी मात्र एक भाषा न रहकर एक लिबास बन गई है, एक ऐसा लिबास जो आपके पढ़े-लिखे और बुद्धिजीवी होने का प्रमाण है पर यह भी एक भ्रम ही है ऐसे अंग्रेजी प्रेमियो का । हालाँकि आज भी हिन्दी पाठको की संख्या में और हिन्दी साहित्य, उपन्यास



चिट्ठी आयी है, आयी है ... Satire on letter writing, Ravish Kumar, Rohit Sardana, Journalism!

आजकल चिट्ठियों की बड़ी चर्चा है और हो भी क्यों न आखिर कंप्यूटर, स्मार्टफोन के युग में कोई 'चिट्ठी' लिखे तो यह बात 'एंटीक' सा लगता है और बड़े लोगों को तो वैसे भी 'एंटीक' चीजें पसंद होती हैं. चिट्ठियों का इतिहास हम देखते हैं तो इसे 'प्रेम-पत्र' के रूप में कहीं ज्यादा मान्यता प्राप्त रही है. मसलन कुछ साल



दर्शन सम्बन्धी प्रयासों और साहित्य के लिंक

अब तक जितनी भी कवितायेँ और लेख यहाँ प्रकाशित हैं सभी हमारी पहले के अलग अलग पेजों से लिए गए हैं .यहां पर मैं अपने सभी लिंक्स दे रहा हूँ जो शायद आपके लिए भी उपयोगी रहें : Society for Positive Philosophy and Interdisciplinary Studies (SPPIS) Haryana http://sppish.blogspot.in Philosophy





1
आसान हिन्दी  [?]
तीव्र हिंदी  [?]
ऑनस्क्रीन कीबोर्ड  [?]
हिन्दी टाइपिंग  [?]
डिफ़ॉल्ट कीबोर्ड  [?]

(फोन के लिए विकल्प)
X
1 2 3 र्4 ज्ञ5 त्र6 क्ष7 श्र8 (9 )0 --   =
q w e r t y u i o p [   ]
a s d िfि g h  j k l ; '  \
  z x c  v  b n m ,, .. ?/ एंटर
शिफ्ट                                                         शिफ्ट बैकस्पेस
x