1


टिक टॉक स्टार फ़ैसु अपनी टीम 07 को मिस करते है | आई डब्लयू एम बज

टिक टॉक स्टार फ़ैसू इंटरनेट का नया क्रश है और लड़कियों उसके सुपर-स्मार्ट स्टाइल से और उसके प्यारे डैशिंग लुक पर फिदा है। फैसू टिक्कॉक के नए सुपरस्टार हैं जो अपने अद्भुत टिक्कॉक वीडियो के साथ प्रसिद्धि हैं। उन्हें हाल ही में ” द बेस्ट इन्फ्लुएंसर” अवार्ड भी मिला और हाल ही



टिकटोक स्टार आवेज़ दरबार फ़ैसु के समर्थन में आए | आई डब्लयू एम बज

आवेज दरवार भारत के सबसे लोकप्रिय पुरुष टिक टोक सितारों और यू ट्यूब व्यक्तित्वों में से एक है।उन्होंने कॉलेज के त्योहारों में एक डांसर के रूप में अपनी यात्रा शुरू की। उनके अनुसार, कॉलेज के त्योहारों में कोरियोग्राफ़िंग ने उनकी रचनात्मकता का विस्तार करने और मंच पर उनकी प्रत



क्या महिमा है मौन साधना की?

मौन की महिमा अपरंपार है, इसके महत्व को शब्दों के जरिए अभिव्यक्त करना संभव नहीं है।प्रकृति में सदैव मौन का साम्राज्य रहता है। पुष्प वाटिका से हमें कोई पुकारता नहीं, पर हम अनायास ही उस ओर खिंचते चले जाते हैं। बड़े से बड़े वृक्षों से लदे सघन वन भी मौन रहकर ही अपनी सुषमा से सारी वसुधा को सुशोभित करते है



साधना - - दिनचर्या के कार्यों के साथ - साथ

^^^^^ साधना - - दिनचर्या के कार्यों के साथ - साथ ^^^^^ ()साधना, जिसके लिए अलग समय देने की आवश्यकता नहीं;ऐसी साधना की बात करें। साधना, जो दिन प्रतिदिन के कार्यों को करते हुए की जा सके;ऐसी साधना की बात करें।। स्वयं से जुड़े रहना;होश में बने रहना;बड़ी उपलब्धियां हैं;उन्हे



औरत ने जनम दिया मर्दों को (Aurat Ne Janam Diya Mardon Ko )- साधना

Aurat Ne Janam Diya Mardon Ko Lyrics of Sadhna : Aurat Ne Janam Diya Mardon Ko is a beautiful hindi song from 1958 bollywood film Sadhna. This song is composed by N. Dutta. Lata Mangeshkar has sung this song. Its lyrics are written by Sahir Ludhianvi. साधना (Sadhna )औरत ने जनम दिया मर्दों को (Aurat



साधना (Sadhna )

'साधना' 1 9 58 की हिंदी फिल्म है जिसमें सुनील दत्त, वैजयंतीमाला, अलहाद राधा कृष्णन, नंदिनी, रविकांत और लीला चिटनीस प्रमुख भूमिका निभाते हैं। हमारे पास साधना का एक गीत गीत है। एन दत्ता ने अपना संगीत बना लिया है। लता मंगेशकर ने इन गीतों को गाया है जबकि साहिर लुधियानवी ने अपने गीत लिखे हैं।इस फिल्म के



ज्ञानयोग की एक सुलभ साधना

दुनियाँ में लक्ष्मी, विद्या, प्रतिष्ठा, बल, पद, मैत्री, कीर्ति, भोग, ऐश्वर्य आदि को बड़ा फल माना जाता है। यह सब -ज्ञान-रूपी वृक्ष के फल हैं। ज्ञान के अभाव में इनमें से एक भी वस्तु प्राप्त नहीं हो सकती। इस लोक के सारे सुख ज्ञान के ऊपर निर्भर हैं, परलोक का सुख भी ज्ञान द्वारा ही सम्पादित होता हैं। विव





1
आसान हिन्दी  [?]
तीव्र हिंदी  [?]
ऑनस्क्रीन कीबोर्ड  [?]
हिन्दी टाइपिंग  [?]
डिफ़ॉल्ट कीबोर्ड  [?]

(फोन के लिए विकल्प)
X
1 2 3 र्4 ज्ञ5 त्र6 क्ष7 श्र8 (9 )0 --   =
q w e r t y u i o p [   ]
a s d िfि g h  j k l ; '  \
  z x c  v  b n m ,, .. ?/ एंटर
शिफ्ट                                                         शिफ्ट बैकस्पेस
x