आत्मसम्मान - एक अधिकार

रोज की जिंदगी में हम लोग कई बार ऐसी परिस्थितियों से गुजरते हैं जब हमें समझौते करने पड़ते हैं , कभी रिश्तों में तो कभी अपने सपनों से । रोज ना जाने हम ना चाहते हुए भी जाने कितने समझौते कर लेते हैं सिर्फ यही सोच कर कि ठीक तो है ना । अगर मेरे ये करने से कोई रिश्ता बचता है तो ठीक तो है ना । अगर मेरे ये क



अंतर्राष्ट्रीय सम्मान से सम्मानित हुए कवि अभिनव मिश्र 'अदम्य'

अंतरराष्ट्रीय सम्मान से सम्मानित हुए अभिनव मिश्र अदम्यशाहजहांपुर जिले के एक छोटे से गांव हरिबल्लभपुर के निवासी कवि अभिनव मिश्र अदम्य ने विश्व हिन्दी दिवस पर आयोजित अंतर्राष्ट्रीय प्रतियोगिता में प्रतिभागता की जिसमें उन्हें "अंतरराष्ट्रीय सृजनकार सम्मान 2020" से सम्मानित किया गया। अदम्य जी बहुत खुश



जज़्बात दिल के

"चलो हम भाग कर शादी कर लेते हैं , अगर मेरे पेरेंट्स को पता चला कि मैं तुमसे प्यार करती हू तो मेरे पेरेंट्स मेरी शादी कहीं और करा देंगे "रागनी सुमित को बोल रही थी ,सुमित और रागिनी दोनों कॉलेज फ्रेंड थे दोनों एक दूसरे से प्यार करते थे ,वैसे दोनों की कोई ज्यादा उम्र नहीं थी यही कोई 20 - 22 साल के थे वो



अभिनव मिश्र"अदम्य

प्रतियोगिता के सम्मान पत्र



दुःखित कृषक है बेचारा

विधा-लावड़ी महंगाई की इस दुनिया में, दुःखित कृषक है बेचाराबदल गयी ये दुनियां देखो, बदला है जीवन सारा उठे अंधेरे प्रात सवेरे डोर हाँथ ले बैलों कीफसल उगाने की चाहत मेंचाल लगा दी खेतों कीन धूप से वो विचलित होतेन छांव की चाहत भरतेकरे परिश्रम कठिन हमेशासदा सभी ऋतुएँ सहतेकठिन परस्थिति में किसान तो, कर लेता



अपने पूर्वजों ,मृत्युलोक के प्राणियों की याद में मनाये जाने वाले पर्व

अपने पूर्वज ,मृत्यु लोक के प्राणियों की याद में मनाये जाने वाले पर्व डॉ शोभा भारद्वाज विश्व की लगभग सभी संस्कृतियों में जन्म मृत्यु आत्मा भूत प्रेत पूर्वजों आदि की मान्यता है। पश्चिमी देशों में ‘एक दिन’ का हैलोवीन एवं आल सेंट्स डे पर्व मनाया जाता है। एशिया में वर्ष का सातवाँ महीना, घोस्ट धरती पर



गुरुकुल शिक्षा पद्धति

प्राचीन शिक्षा पद्धति का विलोपन, नवीन शिक्षा पद्धति का आगमन; ऋषि मुनियों द्वारा प्रदत्त शिक्षा ,गुरुकुल पद्धति वाली शिक्षा को नमन;आश्रम में रह कर गुरु और गुरुमाता की सेवा करते हुए शिष्यों का होता अध्ययन;किताबी ज्ञान के साथ साथ वास्तव में मिल



लड़ रहे हैं

छूट गयी है जिंदगी की धूरी लड़ रहे हैं नेता कुर्सी के लिए लड़ रहे हैं लोग धर्म को श्रेष्ठ बनाने के लिए लड़ रहे हैं बच्चे जीत के लिए लड़ रहा है युवा बेरोजगारी के लिए लड़ रहा है सैनिक सरहद बचाने के लिए लड़ रहा है वकील सच झूठ का जामा पहनाने के लिए लड़ रहा है मरीज जिंदगी पाने के लिए लड़ रही है औरत सम्मान



बाजत ( जम कर ठोकना ) अंतर्राष्ट्रीय वृद्ध दिवस

बाजत (जम कर ठोका) अंतराष्ट्रीय वृद्ध दिवस डॉ शोभा भारद्वाज पाँच वर्ष पुरानी बात है | गौतम बुद्ध नगर से नोएडा आने वाली सड़क एक आने वाले ट्रैफिक के लिए एक जाने वाले ट्रैफिक के लिए है रास्ता भूल जाने पर यदि आप लौटना चाहें काफी दूर तक जाने के बाद चौराहा आता है | सड़क क



विश्वास की चादर

विश्वास की चादर फैला, उस पे ईमानदारी को बैठा, इतिहास बदल दिया उसने भारत का है।वर्षों से विश्वभर में जो स्थिति हमारी थी,आज पूरे विश्व में वो साख देश ने कमाई है।स्वच्छता का संदेश फैला जनमानस में,गांव गांव गली गली आज साफ सुथरी है।भ्रष्टाचा



वैष्णव जन तो ते नर कहिये पीर पराई जान रे ( स्वच्छता अभियान )

वैष्णव जन तो ते नर कहिये पीरपराई जान रे (स्वच्छता अभियान ) डॉ शोभा भारद्वाज महात्मा गाँधी जी की 150 वींजयंती के अवसर पर सूर्या संस्थान नोएडा में आयोजित सर्वधर्म समभाव गोष्ठी के अवसरपर विभिन्न धर्म गुरु के भाव पूर्ण प्रवचनों को सुनने का अवसर मिला | सफाईकर्मचारियों द्वारा तैयार जलपान सबने गृहण किया



महिला होने का महत्व : Value of being a woman

महिला होने का महत्व : Value of being a woman स्त्री महिला अर्थार्थ दादी , माँ , पत्नि , बहन , बेटी, बुआ , मासी ,............आदि ..... आदि| इनके बिना घर केवल मकान होता है, घर नहीं। इनकी कमी का अहसास तब होता है, जब वे घर में नहीं होतीं या आपके साथ किसी स्त्री का सम्बंध



कौन दिखे ये अल्हड किशोरी सी

चंचल नैना . फूल सी कोमल , कौन दिखे ये अल्हड किशोरी सी ? रूप - माधुरी का महकता उपवन - लगे निश्छल गाँव की छोरी सी ! मिटाती मलिनता अंतस की मन प्रान्तर में आ बस जाए रूप धरे अलग -अलग से - मुग्ध, अचम्भित कर जाए किसी पिया की है प्रतीक्षित -- लिए मन की चादर कोर



जागो मतदाता, जागो

दो एक वर्षों से कई राजनेता सेना के जवानों का अपमानकरने की होड़ में लगे हैं. इन में से एक भी राजनेता ऐसा नहीं है जो सियाचिन की ठंडया रेगिस्तान की चिलचिलाती धूप में आधा घंटा भी रह पाए. जिन कठिनायों का सामनासीमा पर तैनात एक जवान करता है उसका इन्हें रत्ती भर भी अहसास नहीं है. और आश्चर्य की बात तो यह कि इ



अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस ( 8 मार्च)

8 मार्च को आप भीअंतरराष्ट्रीय महिला दिवस मनाने की तैयारियों में लगे होंगे ।अब तक कुछ लोगों को मैसेज भी भेज दिया होगा और कुछ बहुत ख़ास लोगों को फ़ोन करकेबधाई भी दे दी होगी ।लेकिन क्या आप ये जानते हैं किअंतरराष्ट्रीय महिला दिवस क्यों मनाया जाता है और ये मनाना कब शुरू हु



महिला दिवस क्यों मनाते है ? || Why Celebrate Women's Day

महिला दिवस क्यों मनाते है? प्रत्येक वर्ष के 8 मार्च को विश्व महिला दिवस में मनाया जाता है। यह दिन महिलाओं को सम्मान देने के उद्देश्य से उत्साहपूर्वक मनाया जाता है, और इससे महिला सशक्तिकरण का संदेश भी पूरी दुनिया तक पहुंचाया जाता है। इसक



क्या यूनिफार्म सिविल कोड की जरुरत है

हाल के माननीय सुप्रीम कोर्ट का तीन तलाक कोअसैम्बधानिक करार देने से ,फिर से यूनिफार्म सिविल कोड की मांग समाज मे उठाने लगी है | यूनिफार्म सिविल कोडक्या है ?यहनियमो का वह सेट है जो भारत मे विभिन्न पर्सनल लॉ को समाप्त कर एक ही पर्सनल लॉबनाएगा जो सभी धर्मो पर लागु होगा | हलाकि इस सम्बन्ध मे अभी तक सरकार



प्रश्न - संतान कहां से आती है ? ( कुछ अंश ) : ( प्रश्न - उत्तर, चिंतन 2 )

- प्रश्न - संतान कहां से आती है ? ( कुछ अंश ) : ( प्रश्न - उत्तर, चिंतन 2 )संतान कहां से आती है ?संतान माता पिता से नहीं आती; संतान पति पत्नी के रिश्ते से आती है। समाज के नये सदस्य कहां से आते हैं ?समाज के नये सदस्य माता पिता से नहीं आते; समाज के नये सदस्य पति पत्नी के रिश्ते से आते हैं।। हम इस ब



औरत - मां से पहले पत्नी थी : ( प्रश्न - उत्तर, चिंतन 1 )

औरत - मां से पहले पत्नी थी : ( प्रश्न - उत्तर, चिंतन 1 )आवश्यक है, अनिवार्य है मां का सम्मान;मां, बच्चे का जीवन है, क्यों न हो मां का सम्मान। इस के संबंध में कुछ चर्चा करते हैं;मां पहले पत्नी थी, पत्नी रूप में कितना था सम्मान ??मां का; समाज, व्यक्ति और संतान; करें इतना सम्मान;पहले पहले मां पत्नी थी



आसान हिन्दी  [?]
तीव्र हिंदी  [?]
ऑनस्क्रीन कीबोर्ड  [?]
हिन्दी टाइपिंग  [?]
डिफ़ॉल्ट कीबोर्ड  [?]

(फोन के लिए विकल्प)
X
1 2 3 र्4 ज्ञ5 त्र6 क्ष7 श्र8 (9 )0 --   =
q w e r t y u i o p [   ]
a s d िfि g h  j k l ; '  \
  z x c  v  b n m ,, .. ?/ एंटर
शिफ्ट                                                         शिफ्ट बैकस्पेस
x