भारतवासियों को संविधान दिवस (26 नवम्बर) की हार्दिक बधाई ।

सभी भारतवासियों को संविधान दिवस (26 नवम्बर) की हार्दिक बधाई । भारत गणराज्य का संविधान 26 नवम्बर 1949 को बनकर तैयार हुआ था। संविधान सभा के निर्मात्री समिति के अध्यक्ष डॉ॰ भीमराव आंबेडकर जी ने भारत के महान संविधान को 2 वर्ष 11 माह 18 दिन में 26 नवम्बर 1949 को पूरा कर राष्ट्र को समर्पित किया। गणतंत्र



Constitution day special : डॉ भीमराव अंबेडकर के जीवन का अनसुना पहलु, क्यों की थी ब्राह्मण महिला से शादी ?

संविधान दिवस(Constitution day ) हर साल 26 नवंबर को भारत मनाया जाता है।26 नवंबर 1949 को पूरे दो साल,11 महीने ,18 दिन में भारतीय संविधान (Constitution Of India) तैयार किया गया। डॉ. भीमराव आंबेडकर ने इस संविधान को बनाया और देश को समर्पित क



आईसीसी: 20 वीं वर्षगांठ पर न्यायालय को सुदृढ़ बनाना

(न्यूयॉर्क) - अंतर्राष्ट्रीय आपराधिक न्यायालय (आईसीसी) के सदस्य देशों को न्याय देने के लिए चुनौतियों को चुनने के मामले में अदालत के लिए अपना समर्थन बढ़ाना चाहिए, मानवाधिकार वॉच ने आज कहा। अदालत की संस्थापक संधि, रोम संविधान, 17 जुलाई, 1 99 8 को 20 साल पहले अपनाया गया था।ह्यूमन राइट्स वॉच एंड एमनेस्ट



आईसीसी: 20 वीं वर्षगांठ पर न्यायालय को सुदृढ़ बनाना

(न्यूयॉर्क) - अंतर्राष्ट्रीय आपराधिक न्यायालय (आईसीसी) के सदस्य देशों को न्याय देने के लिए चुनौतियों को चुनने के मामले में अदालत के लिए अपना समर्थन बढ़ाना चाहिए, मानवाधिकार वॉच ने आज कहा। अदालत की संस्थापक संधि, रोम संविधान, 17 जुलाई, 1 99 8 को 20 साल पहले अपनाया गया था।ह्यूमन राइट्स वॉच एंड एमनेस्ट



धारा 370 - “एकात्मकता या अलगाव"

धारा 370 हमारे संविधान का एक महत्वपूर्ण अंग है यह धारा संविधान के 21वे भाग में समान्वित है जिसका शीर्षक है "अस्थायी, परिवर्तनीय और विशेष प्रावधान" यह भारतीय संविधान कि एक विशेष धारा है जिसके द्वारा ‘जम्मू-कश्मीर’ राज्य को सम्पूर्ण भारत में अन्य राज्यों कि अपेक्षा कुछ विशेष अधिकार प्राप्त है I हम



संविधान दिवस (26 नवम्बर)

समस्त भारतीय परिवार को संविधान-दिवस की हार्दिक शुभकामनाएँ एवं बधाइयाँ ....



दलित वर्ग के प्रतिनिधि और पुरोधा थे डाॅ. भीमराव रामजी अंबेडकर

डाॅ. भीमराव आम्बेडकर का जन्म 14 अप्रैल, 1891 को महाराष्ट्र के रत्नागिरि जिले के अम्बावड़े गांव में हुआ था। उनके पिता का नाम श्रीरामजी सकवाल तथा माता का नाम भीमाबाई था। उनके "आम्बेडकर" नाम के म



राजनीति का देश पर प्रभाव

किसी भी देश की राजनीति उस देश के विकास देशवासियों के हितार्थ होती है. भारत में पहले राजतंत्र था. तमाम राजा अपने प्रभुत्व अपनी शक्ति और पराक्रम से अपने राज्य काविस्तार करते थे.राजाओं की आपसी लड़ाई दुश्मनी के कारण ही भारत गुलाम हो गया.आठ सौ साल गुलामी झेलने के बाद बड़ी त्याग तपस्या और वलिदान के बाद भारत





1
आसान हिन्दी  [?]
तीव्र हिंदी  [?]
ऑनस्क्रीन कीबोर्ड  [?]
हिन्दी टाइपिंग  [?]
अंग्रेजी  [?]

(फोन के लिए विकल्प)
X
1 2 3 र्4 ज्ञ5 त्र6 क्ष7 श्र8 (9 )0 --   =
q w e r t y u i o p [   ]
a s d िfि g h  j k l ; '  \
  z x c  v  b n m ,, .. ?/ एंटर
शिफ्ट                                                         शिफ्ट बैकस्पेस
x