सफर

उल्टियां कर देती हैं सफर का मजा किरकिरा, अपनाएं यह उपाय

घूमना तो हर किसी को पसंद होता है। परिवार के सदस्यों व दोस्तों के साथ मौज-मस्ती करते हुए नई जगह पर घूमना यकीनन किसी के लिए भी जीवन के बेहतरीन लम्हों में से एक होता है। लेकिन वहीं बहुत से लोग ऐसे भी होते हैं, जिन्हें घूमना तो पसंद होता है लेकिन फिर भी वह उससे बचते हैं। इसका मुख्य कारण होता है सफर के द



सफर जारी है 31-10-2018

#सफर_जारी_है_31/10/2018 मुसाफिर चल पड़ा है अपने सफ़र पर । वैसे तो अब दीपावली अवकाश चल रहे हैं। परंतु आज पटेल जयंती पर विद्यालय में विशेष कार्यक्रम आयोजित है तो घर से विद्यालय की तरफ प्रस्थान किया है। मौसम बदलाव की तरफ बढ़ रहा है ‌। आजकल सुबह कुछ ठंड रहती है । विद्यालय समय पर पहुंचना है तो पहली बस



सफर जारी है



सफर सफर सफर

सफर_जारी_है.....सूरतगढ़ से सफर शुरू हो चुका है । बस में ज्यादा भीड़ नहीं है। बस मंथर गति से आगे बढ़ रही है । एक दो सवारियों को छोड़कर सभी अपनी अपनी सीट पर विराजमान। मैं और असलम भाई अपनी बातों में मशगूल हैं। हमारी सीट के बराबर एक महाशय खड़े हैं। कोशिश करने पर उनको बैठने की जगह मिल सकती है लेकिन हमार



हम थे जिनके सहारे (Hum The Jinke Sahare )- सफर (लता मंगेशकर)

हम फिल्म सफार से जिन्के सहारे गीत। लता मंगेशकर ने इस दुखद गीत को गाया है। कल्याणजी और आनंदजी ने अपना संगीत बना लिया है और गीत इंडिवार से हैं।सफर (Safar )हम थे जिनके सहारे (Hum The Jinke Sahare ) (लता मंगेशकर)की लिरिक्स (Lyrics Of Hum The Jinke Sahare )हम थे जिनके सहारेवह हुये न हमारेडूबी जब दिल



जीवन से भरी तेरी आँखें (Jeevan Se Bhari Teri Aankhen )- सफर

Jeevan Se Bhari Teri Aankhen Lyrics song from Safar movie is sung by Kishore Kumar. Indeevar has written its lyrics and music is composed by Kalyanji, Anandji.सफर (Safar )जीवन से भरी तेरी आँखें (Jeevan Se Bhari Teri Aankhen ) की लिरिक्स (Lyrics Of Jeevan Se Bhari Teri Aankhen )जीवन से भरी तेरी आँ



जो तुमको हो पसंद वही बात कहेंगे (Jo Tumko Ho Pasand Wohi Baat Kahenge )- सफर

जो तुम्को हो पासंद वही बाट कांजी फिल्म सफार से गीत मुकेश द्वारा गाया जाता है, इसका संगीत कल्याणजी और आनंदजी द्वारा रचित है और गीत इंडिवार द्वारा लिखे गए हैं।सफर (Safar )जो तुमको हो पसंद वही बात कहेंगे (Jo Tumko Ho Pasand Wohi Baat Kahenge ) की लिरिक्स (Lyrics Of Jo Tumko Ho Pasand Wohi Baat Kaheng



ज़िन्दगी का सफ़र है ये कैसा सफर (Zindagi Ka Safar Hai Ye Kaisa Safar )- सफर

जिंदगी का सफार, है ये कैसा सफार फिल्म सफार से एक दुखद गीत है। किशोर कुमार ने गाया है। इंडिवार ने अपने गीत लिखे हैं जबकि कल्याणजी और आनंदजी ने अपना संगीत बना लिया है।सफर (Safar )ज़िन्दगी का सफ़र है ये कैसा (Zindagi Ka Safar Hai Ye Kaisa Safar ) की लिरिक्स (Lyrics Of Zindagi Ka Safar Hai Ye Kaisa Saf



सफर (Safar )

"Safar" is a 1970 hindi film which has Rajesh Khanna, Sharmila Tagore, Aruna Irani, Feroz Khan, Ashok Kumar, I S Johar, Mahesh Kumar, Brahmachari, Iftekhar, Birbal, Sachin Pilgaonkar, Jagdish Raaj, Ratan, Parshuram, Narbada Shankar and Nadira in lead roles. We have 4 songs lyrics and 4 video songs



चलते चलते मेरी ये बात याद रखना

ये भाई ! पापी पेट का सवाल है भीख मागों या कलम को असलहा बना डाका डालो । अपनी पत्रकारिता के सफर पर कुछ यूं गुनगुने का मन कर गया। " ज़िंदगी का सफ़र है ये कैसा सफ़र कोई समझा नहीं कोई जाना नहीं है ये कैसी डगर चलते हैं सब मगर कोई समझा नहीं कोई जाना नहीं" अब जब इस जिंदगी के सफर की पहेलियों से उभर कर



Sketches from Life: ये तो राम जाने

बॉस तो बॉस होता है और हर एक का कोई बॉस होता है. और उस बॉस का भी कोई बॉस होता है और उस बॉस के ऊपर भी एक कमबखत होता है. खैर छोड़िये हमें तो अपने बॉस से मतलब है जो कि झुमरी तल्लिय्या के रीजनल मैनेजर है.आइये आप को मिलवा देते हैं गोयल साब स



ग़ज़ल ( दिल में दर्द जगाता क्यों हैं )

 ग़ज़ल ( दिल में दर्द जगाता क्यों हैं ) - Sahityapedia



एलपीजी गैस रिफिल ऑनलाइन बुक करने का तरीका How to book LPG Gas refill Online

एलपीजी गैस रिफिल ऑनलाइन बुक करने का तरीका How to book LPG Gas refill Onlineसिलिंडर बुकिंग हिस्ट्री एवं अपने बैंक खाते में हुए सब्सिडी ट्रांसफर की हिस्ट्री देखेंView Cylinder Booking History/ Subsidy Transferविजिट :- http://www.safaltasutra.com/2016/07/how-to-book-lpg-gas-refill-online.html



प्रभु जरनल टिकट पर सफर कराने वाले टिटियों पर मेहरबान, टिकट रद्द कराने वालों की हो रही जेब ढीली

करोड़ों रुपये के घाटे से जूझ रहे रेल मंत्रालय की आमदनी बढ़ाने के लिए रेल मंत्री सुरेश प्रभु ने सफर करने वाले यात्रियों का ट्रेन में सफर करना मुश्किल कर दिया है. आलम यह है कि अगर ट्रेन के प्लेटफार्म से छूटने के चार घंटे पहले आप अपना आरक्षण टिकट निरस्त करने नहीं पहुंचे तो आपको एक फूटी कौड़ी भी रेल विभाग



यात्रा वृतांत

नैनीताल से चल कर लखनऊ एवम् अरब देश आबूधाबी होते हुये समुद्र किनारे बसे एक छोटे एवम सुंदर ब्यवस्थित देश कुवैत पहुँचा हूँ ।इस के संबंध् में शीघ्र ही अपने अनुभव आगामी लेख में प्रस्तुत करूँगा ।



केप टाउन के विहंगम दृश्य (यात्रा वृत्तांत)-१

"जीवन", भगवान का एक सुंदर उपहार है जो हमें अपने अनुभवों से सीखकर अपने आप को विकसित करने का अवसर प्रदान करता है। यात्रा, एक ऐसा अनुभव है जो हमारे दिल को सुनहरी यादों के साथ सिक्त कर देता है। हमारी केप टाउन यात्रा, एक अप्रत्याशित यात्रा थी जिसने हमारी ज़िन्दगी में नए रंग भर दिए|दुनिया में कुछ चुनिदा





1
आसान हिन्दी  [?]
तीव्र हिंदी  [?]
ऑनस्क्रीन कीबोर्ड  [?]
हिन्दी टाइपिंग  [?]
डिफ़ॉल्ट कीबोर्ड  [?]

(फोन के लिए विकल्प)
X
1 2 3 र्4 ज्ञ5 त्र6 क्ष7 श्र8 (9 )0 --   =
q w e r t y u i o p [   ]
a s d िfि g h  j k l ; '  \
  z x c  v  b n m ,, .. ?/ एंटर
शिफ्ट                                                         शिफ्ट बैकस्पेस
x