श्रद्धांजलि

1


ॐ –शांति - पुलवामा के शहीदों को श्रद्धांजलि

ॐ –शांति - पुलवामा के शहीदों कोश्रद्धांजलिपुलवामा के वीरशहीदों को शत-शत श्रद्धांजलि है,कसम हमें एक बूँद भी, बन जाए अब अंजलि है,इतना साहस सेना की आँखों में धूल झोंकी है,शहीदों के लहूसे फिर लटपथ हुई ये चौकी है।सीज़ वार ,सर्जिकल स्ट्राइक, हल नहीं कायरता का ,छ्ल से घातकिया जो, निर्मम वीरों से



पूर्व प्रधान मंत्री स्वर्गीय श्री अटल बिहारी जी को अर्पित श्रद्धा सुमन

पूर्व प्रधान मंत्री स्वर्गीय श्री अटल बिहारी बाजपेयी जी को अर्पित श्रद्धा सुमन डॉ शोभा भारद्वाज स्वर्गीय प्रथम प्रधान मंत्री श्री जवाहर लाल नेहरू ने संसद में अटल जी के पहले भाषण पर अपनी प्रतिक्रिया देते हुए कहा था एक दिन अटल देश के प्रधान मंत्री पद पर पहुंचेगे |श्री अ



राष्ट्र कवि गुप्तजी = दो शब्द

राषटर् कविमानस भवन में आरय़जनजिसकी उतारे आरती।भगवान भारतव्रष मेंगूंजें हमारी भारती।। हिंदी साहित्य के राष्ट्र कवि पद्मभूषण से सम्मानित श्री मैथलीशरणगुप्त जी का जन्म ३ अगस्त,१८८५में उत्तर प्रदेश के जिला झाँसी के चिरगांव में हुआ था.हम सब प्रतिवर्ष जयंती कोकवि दिवस के रूप में मनाते हैं.अपनी पहली काव्य



गोपालदास नीरज जी - श्रद्धांजलि

काव्य मंचों के अपरिहार्य ,नैसर्गिक प्रतिभा के धनी,प्रख्यात गीतकार ,पद्मभूषण से सम्मानित,जीवन दर्शन के रचनाकार,साहित्य की लम्बी यात्रा के पथिक रहे,नीरज जी का जन्म उत्तर प्रदेश के जिला इटावा के पुरावली गांव में श्री ब्रज किशोर सक्सेना जी के घर ४ जनवरी,१९२५ को हुआ था.गरीब परिवार में जन्मे नीरज जी की ज



ऐ भाई ज़रा देखके चलो

ऐ भाई ज़रा देखके चलो ये कौन सा मुक़ाम है, फ़लक नहीं ज़मीं नहीं के शब नहीं सहर नहीं, के ग़म नहीं ख़ुशी नहीं कहाँ ये लेके आ गई हवा तेरे दयार की ||गुज़र रही है तुमपे क्या बनाके हमको दर-ब-दरये सोचकर उदास हूँ, ये सोचकर है चश्मे तरन चोट है ये फूल की, न है ख़लिश ये ख़ार की ||पता नहीं ऊप



“शहंशाह-ए-तरन्नुम” मोहम्मद रफ़ी साहब के जन्म-दिवस पर विशेष

24 दिसम्बर 2017 को मोहम्मदरफी जी के 93वें जन्मदिवस पर गूगल ने उन्हें सम्मानित करतेहुए उनकी याद में डूडल बनाकर उनके गीतों को और उनकी यादों को समर्पित किया |इस डूडल को मुम्बई के चित्रकार साजिद शेख द्वारा बनाया गया ।मोहम्मद रफ़ी (24 दिसम्बर 1924-31जुलाई 1980) जिन्हें दु



“सुकमा, सादर श्रद्धांजलि"

“सुकमा, सादर श्रद्धांजलि ” माँ, बाप, पत्नी, भाई-बहन व बच्चों के साथ देश रो रहा है, शहीदों के पार्थिव को कंधे पर उठाए, साथ ही असमय पर नमन, वंदन और सादर श्रद्धांजलि दे रहे हैं, यही हमारा संस्कार है हम ढ़ो रहे हैं रो रहे हैं कुढ़ रहे हैं, इ



समाजिक लोकलाज का डर बेटियों को बना रहा अपाहिज

वास्तव में बड़ी तकलीफ होती है, ऐसी खबरें पढ़ने के बाद। आज सुबह अखबार का पन्ना पलटा। पहले पन्ने पर खबर छपी थी 11 साल की बच्ची से 55 साल के सख्श ने दरिंदगी की। यह जानकारी हमें इसलिए हो गई कि बच्ची के घरवाले जागरुक थे। पर, अक्सर ऐसा भी होता है कि बेटियों के साथ दरिंदगी होती है। वह चीख समाज में बदनामी क



इस प्यार का दर्दनाक अंत, सपने में भी न सोचा

सच बताऊं तो ये प्रेम कहानी हकीकत की है। हमारे फेसबुक एकाउंट से वह साथी जुड़े भी हैं। इलाहाबाद के ही हैं। आज बातचीत के दौरान जानकारी हुई। बड़ी तकली फहुई। कहानी कुछ इस तरह है...कीर्ति और अंकित दोनों बचपन में बहुत अच्छे दोस्त थे। हों भी क्यों न एक ही मोहल्ले के जो थे। दोनों का दिनभर का अधिकांश समय एक स



भारतीय हॉकी के पूर्व दिग्गज खिलाड़ी मोहम्मद शाहिद का निधन

भारतीय हॉकी टीम के महान खिलाड़ी मोहम्मद शाहिद का 56 साल की उम्र में निधन हुआ। वो काफी समय से किडनी और लीवर की परेशानी से जूझ रहे थे।भारत के सर्वश्रेष्ठ हॉकी खिलाड़ियों में शुमार शाहिद, मॉस्को ओलम्पिक-1980 में स्वर्ण पदक जीतने वाली भारतीय टीम का हिस्सा थे। ओलम्पिक में भारत का यह आखिरी स्वर्ण पदक था।प





1
आसान हिन्दी  [?]
तीव्र हिंदी  [?]
ऑनस्क्रीन कीबोर्ड  [?]
हिन्दी टाइपिंग  [?]
डिफ़ॉल्ट कीबोर्ड  [?]

(फोन के लिए विकल्प)
X
1 2 3 र्4 ज्ञ5 त्र6 क्ष7 श्र8 (9 )0 --   =
q w e r t y u i o p [   ]
a s d िfि g h  j k l ; '  \
  z x c  v  b n m ,, .. ?/ एंटर
शिफ्ट                                                         शिफ्ट बैकस्पेस
x