तक



मुक्तक

"मुक्तक"सु-लोहड़ी खिचड़ी गई, अब शुभ प्रयाग स्नान।गंगा जी के धाम में, बिन आधार न दान।बिनु कोरोना जाँच के, सुखी न संगम द्वार-रोज सभाएँ हो रहीं, धरना धर्म किसान।।-1बंधन हिंदू धर्म पर, लगता है चहुँ ओर।बिनु मुर्गे की बाग के, कहाँ द्वार पर भोर।पौराणिक मेला स्वयं, भरता है प्रति वर्ष-अब संगम भय खा रहा, कोरोना



चौराहे की बतकही

"चौराहे की बतकही"झिनकू भैया अपने गाँव के एक मध्यम किसान हैं, अच्छी खेती करते हैं, प्रति वर्ष करीब चार लाख का गल्ला, नजदीकी सरकारी खरीद केंद्र पर बिक्री कर देते हैं। कुछ सरकारी अनुदान इत्यादि भी मिल ही जाता है। अभी अभी कृषि कानून जो सरकार ने दोनों सदनों से पारित किया है उससे वे संतुष्ट भी हैं। कर्मठी



चौपाई मुक्तक

गणतंत्र दिवस पर वीर सपूतों को सादर नमन, जय हिंद, जय माँ भारती......! "चौपाई मुक्तक "उड़ता हुआ भारती झंडा, भागा चीन देखकर डंडा। बहुत दिनों के बाद मिले तुम, सुन ले घटिया तेरा पंडा। वीर हमारे कुल के थाती, बच के रहना री उतपाती-मारेंगे रोने ना देंगे, फूटा चीन तुम्हारा भंडा।। महातम मिश्र 'गौतम' गोरखपुरी



मुक्तक

सुलगते आग को मै इश्क़ बता देता हूँइस तरह लफ्ज़ों का मै जाल बना देता हूँजो मेरे इश्क में पतंगों से जल गये यारोंउन्ही को आज से आशिक करार देता हूँ ©®डॉ नरेन्द्र कुमार पटेल



अटल जी की जयंती

#मुक्तक रत्न पुरुष बन विश्व पटल पर, नाम देश का बढा गया।हिन्द देश का कलम सिपाही, पाठ सहिष्णुता पढ़ा गया।आज जयंती पर उसकी आ, मिलके शीश नवाएं हमइतिहासों के पन्नो पर जो, नाम अटल इक चढ़ा गया।अदम्य



चेहरे पर मुस्कान लौटाती आशाएं

बुंदेलखण्ड की हीरा नगरी कहे जाने वाला पन्नाजिला वास्तव में आदिवासी बहुल क्षेत्र है। इसी पन्ना जिले के देवेन्द्रनगरविकासखण्ड के ग्राम फुलवारी



जंगल में जवानों की मौत का ताण्‍डव कब तक?

जंगल में जवानों की मौत का ताण्‍डव कबतक?सवाल यही है कि हमारे जंगलों में हमारेजवानों का खून बहने का सिलसिला आखिर कब खत्‍म होगा? नक्‍सली समस्‍या शुरू होने के बाद से जवानो और कई बडे नेताओं सहित कितनेही लोगों का खून बह चुका है कि यह अगर सूख नहीं जाता तो एक नदी का रूप ले सकता था:यह सब जानते हुए भी खून बहन



सपाइयों ने कैंडल मार्च निकाल हाथरस की बेटी को श्रद्धांजलि अर्पित की

अब तक हिंदी न्यूज़ /प्रयागराज /मेजा विधानसभा के ग्रामसभा ऊँचडीह चैराहे से सरदार पटेल जी के प्रतिमा तक सपाइयों ने कैंडल मार्च निकाल हाथरस की बेटी को श्रद्धांजलि अर्पित की।बता दे की समाजवादी पार्टी के नेता डॉ देवी सिंह पटेल जी के नेतृत्व में सैकड़ो युवा ऊँचडीह चौराहे पर हाथरस मे हुई दरिंदगी से बहन की मौ



मरीजों सा हुआ है अब हमारा हाल कुछ ऐसा

मरीजों सा हुआ है अब, हमारा हाल कुछ ऐसा ।सुने हर बात दिल की जो, हमारा यार है ऐसा ।।गयी क्यों फेर के नजरें, ज़माने के बहाने से ।इशारो में दिया उसने, मुझे पैगाम कुछ ऐसा ।।



मुक्तक, हिंदी दिवस

हिंदी दिवस की हार्दिक बधाई ( "हिंदी है पहचान हमारी" शब्द साधना सबसे न्यारी" "मुक्तक"हिंदी ही पहचान है, हिंदी ही अभिमान।कई सहेली बोलियाँ, मिलजुल करती गान।राग पंथ कितने यहाँ, फिर भी भारत एक-एक सूत्र मनके कई, हिंदी हुनर महान।।-1एक वृक्ष है बाग का, डाल डाल फलदार।एक शब्द है ब्रम्ह का, पढ़ न सका संसार।पूज



पेरियार ललई सिंह यादव की जयंती समारोह

अब तक हिंदी न्यूज़ /प्रयागराज /मेजा/लोहड़ी आज पीपल्स पार्टी ऑफ इंडिया डेमोक्रेटिक के तत्वावधान में आज मेजा विधनसभा के लोहड़ी जिला कार्यालय पर पेरियार ललई सिंह यादव की जयंती मनाई गई।जिसकी अध्यक्षता जिला अध्यक्ष मा. रोहित लाल पटेल जी ने किया कार्यक्रम का संचालन मा.जगत बहादुर यादव प्रदेश उपाध्यक्ष जी ने क



मुक्तक

"मुक्तक"राखी में इसबार प्रिय, नहीं गलेगी दाल।जाऊँगी मयके सजन, लेकर राखी लाल।बना रखी हूँ राखियाँ, वीरों से है प्यार-चाल चीन की पातकी, फुला रहा है गाल।।सीमा पर भाई खड़े, घर में मातर धाम।वर्षा ऋतु राखी लिए, बुला रही ले नाम।भैया अपने हाथ से, बाँध रही हूँ स्नेह-क्या कर लेगा चाइना, कर दो काम तमाम।।महातम मि



मुक्तक

"मुक्तक"चलो अब जा मिलें उनसे जो यादों में विचरते हैं।कभी अपने रहें होंगे तभी दर पर भटकते हैं।सुना है वक्त अपने आप भर देता है जख्मों को-मगर निशान हैं अपने जो उड़ उड़ कर दहकते हैं।।गर्वित है यह दिन सखे, गर्वित है यह रात।इसी निशा के गर्भ में, थी स्वतंत्र सौगात।पंद्रह को लाली खिली, माह अगस्त विराट-नमन सपू



मुक्तक

"मुक्तक"बादल वर्षा ले गया, हर्षित लाली व्योम।रविकर की अद्भुत छटा, चिपका तन में रोम।हरियाली गदगद हुई, आयी भाद्री तीज-राधे चित मुस्कान मुख, ऋतु अनुलोम विलोम।।सजनी साजन के लिए, है निर्जल उपवास।प्यास लगी मन जोर की, पति पूजा है खास।बिन साजन पावस कहाँ, पत्नी बिनु कहँ चैन-माँ भारत की गोंद में, व्रत सुखकर अ



मुक्तक

"मुक्तक"आज गर्मी ने किया बेहाल है।रे कोरोना अब तेरा क्या हाल है।घूम आया विश्व में कुंहराम कर-देख भारत में रुकी वह चाल है।।सिर झुका कर जा जहाँ से आया था।रे कोरोना जा जहाँ तू जाया था।आदमी को आश्रय देता भारत है-चीन बौना है तुझे भरमाया था।।महातम मिश्र, गौतम गोरखपुरी



अपना दल एस कौशांबी में कार्यकर्ताओ की बैठक

अब तक हिंदी न्यूज़ /प्रयागराज/अपना दल एस कौशांबी*आज दिनाक 29/08/2020 को अपना दल एस के *प्रदेश अध्यक्ष (विधायक सोराव) मा- डॉ जमुना प्रसाद सरोज जी को मुरतगंज बाईपास पर रीशिवड किया गया और फिर कौशांबी जिले के मंझनपूर विधान सभा के मासनीपूर गाँव में अपना दल एस के सक्रिय कार्य कर्ता श्री राजेश सरोज जी के य



संदीप कुमार मिश्रा को तहसील मंत्री मेजा और संजीव उपाध्याय जी को महा मंत्री मेजा के पद से सम्मनित किया गया

अजय विश्कर्मा तहसील अध्यक्ष मेजा के उपस्थिति में मनोज कुमार बिन्दतहसील उपाध्यक्ष मेजा प्रधानमंत्री जन कल्याणकारी योजना के पद से सम्मनित किया गया जिसमे संदीप कुमार मिश्रा कोतहसील मंत्री मेजा औरसंजीव उपाध्याय जी कोमहा मंत्री मेजा के पद से सम्मनित किया गया।



फरिस्ता बने -वरिष्ठ समाज सेवी संदीप कुमार मिश्रा ने किया घायल बच्चे की मदद

अब तक हिंदी न्यूज़ /मेजा/ पटिया मौके पर पहुँच कर -वरिष्ठ समाज सेवी संदीप कुमार मिश्रा ने किया घायल बच्चे की मददराशिद अली 6 वर्ष पिता मोहर्रम अली जो कि अपने घर से खेत की तरफ जा रहा था. उतने में बाइक सवार से टक्कर होने से गम्भीर रूप से सर में काफी चोट आयी तुरंत सी.एच. सी. रामनगर ले आया गया तुरंत एस. आर



चीन ईरान के बढ़ते सम्बन्ध , कारण ट्रम्प सरकार द्वारा लगाये आर्थिक प्रतिबन्ध

चीन ईरान के बढ़ते सम्बन्ध , कारण ट्रम्प सरकार द्वारा लगाये आर्थिक प्रतिबन्ध डॉ शोभा भारद्वाज क्रूड आयल काला सोना एवं गैस का भंडार होने के बाद भी आर्थिक मोर्चे पर ईरान पिछड़ता चला गया देश में पूरी तरह सस्ते राशन की व्यवस्था की गयी आवश्यकता का सामान कार्ड पर शिरकतों ( स



मुक्तक

मुक्तकआंसुओं के घर शमा रात भर नहीं जलती , आंधियां हों तो कली डाल पर नहीं खिलती |



आसान हिन्दी  [?]
तीव्र हिंदी  [?]
ऑनस्क्रीन कीबोर्ड  [?]
हिन्दी टाइपिंग  [?]
डिफ़ॉल्ट कीबोर्ड  [?]

(फोन के लिए विकल्प)
X
1 2 3 र्4 ज्ञ5 त्र6 क्ष7 श्र8 (9 )0 --   =
q w e r t y u i o p [   ]
a s d िfि g h  j k l ; '  \
  z x c  v  b n m ,, .. ?/ एंटर
शिफ्ट                                                         शिफ्ट बैकस्पेस
x