1


लोहड़ी और मकर संक्रान्ति

मकरसंक्रान्ति – सूर्य की उत्तरायण यात्रा का पर्व “ॐभूर्भुवः स्वः तत्सवितुर्वरेण्यं भर्गो देवस्य धीमहि धियो यो नः प्रचोदयात् |”यजु. ३६/३ हमसब उस प्राणस्वरूप, दुःखनाशक, सुख स्वरूप, श्रेष्ठ, तेजस्वी, पापनाशक, देवस्वरूपपरमात्मा को अपनी अन्तरात्मा में धारण करें, और वह ब्रह्म हमारी बुद्धि कोसन्मार्ग में प



पुरुषोत्तम मास का महात्म्य

🌸🌸🌸🌸🌸🌸🌸🌸🌸🌸 हरे कृष्ण, *पुरुषोत्तम मास के कुछ सामान्य नियम* ----- सामान्य इसलिए कहा गया क्योंकि काफी कठिन कठिन नियम भी हैं ।इसलिए जो इस कलियुग में सर्वसाधारण कर सके उन्हीं नियमों को यहां बताया जा रहा है ।1 -- ब्रह्म मुहूर्त में स्नान (नदी ,कुआं ,जलाशय ,तालाब आदि ) परंतु अब तो बाथरूम में ह



Pratlipi - इंटरनेट पर अपनी भाषा में स्वयंप्रकाश मंच

Pratlipi एक ऐसा प्लेटफॉर्म है जहां खुले विचारों से आप कुछ भी लिख सकते हैं। ये एक ऑनलाइन वेबसाइट है जहां पर आप किसी भी विषय पर लिखकर खुद पब्लिश कर सकते हैं। इसका मुख्यालय बैंगलुरू में है और इस वेबसाइट पर आ



चेहरे से तिल और मस्सा हटाने के आसान उपाय

अक्सर चेहरे के तिल को खूबसूरती से जोड़कर बताया जाता है लेकिन अगर ये बड़े होते चले गए तो मस्सा बन जाते हैं और फिर ये चेहरे की खूबसूरती में ग्रहण लगा देते हैं. जब तिल चेहरे में ज्यादा हो जाते हैं तो लड़कियां उन्हें चेहरे से हटाने के लिए कई तरह के जतन करती हैं और इसकी वजह से कभी-कभी वे कुछ ऐसी चीजों का



तिल के तेल के फायदे और नुकसान- Til Oil Benefits in Hindi

Til Oil Benefits in Hindi- कुदरत ने बहुत सी ऐसी चीजें दी हैं जिनके फायदों का लाभ हम उठाते हैं. अगर हम तेलों की बात करें को बहुत सी चीजों के तेल निकाले जाते हैं और उनसे मानव जाति को कई तरह के फायदे होते हैं. उन्हीं में से एक है तिल का तेल जिसका ज्यादातर उपयोग पूजाघर में किया जाता है. तिल के तेल को सभ



कातिल

जब कहीं जाने का रास्ता ना मिला ,तेरा दामन हमने थाम लिया. मौत को ही ज़िंदगी समझ हमने, ख़ुशी से लगा गले हमने लिया. नादान मुहब्बत थी हमारी इतनी,कातिल को महबूब अपना मान लिया. तेरे हर ज़ुल्म से दर्द होता है मगर, क्या करे तुझे ख़ुदा जो अप



*तिलका छंद*

शिल्प:- [सगण सगण(112 112), दो-दो चरण तुकांत (6वर्ण प्रति चरण ) "तिलका छंद" नयना पुलके मनवा हरषे।। चढ़ती बदरी अतुरी बखरी।। भिगती मछली छलकी गगरी।। कुमली बदनी सह सू-नयनी।। नयना चतुरी रसना मधुरी।। चितवे नगरी महके डगरी।। सजना अयना छवि सू-नयना।। घरनी घरकी सुलक्ष





1
आसान हिन्दी  [?]
तीव्र हिंदी  [?]
ऑनस्क्रीन कीबोर्ड  [?]
हिन्दी टाइपिंग  [?]
डिफ़ॉल्ट कीबोर्ड  [?]

(फोन के लिए विकल्प)
X
1 2 3 र्4 ज्ञ5 त्र6 क्ष7 श्र8 (9 )0 --   =
q w e r t y u i o p [   ]
a s d िfि g h  j k l ; '  \
  z x c  v  b n m ,, .. ?/ एंटर
शिफ्ट                                                         शिफ्ट बैकस्पेस
x