1


‘‘फेक’’ ‘‘एनकाउंटर’’ को ‘‘वैध‘‘ बनाने के लिए ‘‘कानून‘ क्यों नहीं बना देना जाना चाहिए?

‘‘विकास दुबे एनकाउंटर’’ (मुठभेड़) पूरे देश में ही नहीं, बल्कि अंतरराष्ट्रीय स्तर पर भी चर्चित है। यह घटना न केवल स्वयं ‘‘सवालों में सवाल’’ लिये हुये है, बल्कि उपरोक्त ‘‘शीर्षक’’ प्रश्न भी पुनः उत्पन्न करता है। लगभग हर ‘एनकाउंटर’ के बाद उस पर हमेशा प्रश्नचिन्ह अवश्य लगते रहे हैं। उक्त ‘प्रश्नचिन्ह’ क



गांव के प्रत्येक वर्ग के लोगों को जागरूक बनाना

अब तक हिंदी न्यूज़ /प्रजायगराज/मेजा/पट्टीनाथ राय गांव के प्रत्येक वर्ग के लोगों को जागरूक बनाना हमारी प्राथमिकता__ श्यामराज यादव अध्यक्ष भारतीय जनता पार्टी सिरसा मण्डलआज नेहरू युवा केंद्र प्रयागराज युवा खेल मंत्रालय भारत सरकार के निर्देशन में मेजा के राष्ट्रीय युवा स्वयंसेवक रविशंकर द्वारा निरंतर जन



मध्यम वर्ग,एक निरीह प्राणी

मै मध्यम वर्ग,एक निरीह प्राणी हूं, लॉकडॉउन की घोषणा हुई ,छुट्टियों का सोच मुझे बड़ी खुशी हुई,कुछ दिन घर में बीते हंसी खुशी,धीरे धीरे काफुर हुई सारी खुशी।सब्जी खत्म, आटा खत्म,दूध की किल्लत,दाल चांवल के डिब्बे बोलने लगे ,बीबी की आवाज़ सुन,माथे पर आईं सलवट।अंदर सुनो ना ,तो बा



भारतीय संस्कृति, हिन्दी और भारत का बाल एवम् युवा वर्ग

<!--[if gte mso 9]><xml> <w:WordDocument> <w:View>Normal</w:View> <w:Zoom>0</w:Zoom> <w:TrackMoves/> <w:TrackFormatting/> <w:PunctuationKerning/> <w:ValidateAgainstSchemas/> <w:SaveIfXMLInvalid>false</w:SaveIfXMLInvalid> <w:IgnoreMixedContent>false</w:IgnoreMixedC



मैं रहूँ या न रहूँ भारत ये रहना चाहिए

मैं रहूँ या न रहूँ भारत ये रहना चाहिए डॉ शोभा भारद्वाजएक सैनिक की कर्त्तव्य निष्ठा देश के प्रति निष्ठा को दर्शाती पंक्तियाँ | बार्डर पर पाकिस्तानी सेना के निरंतर बरसते गोले आतंकियों की घुसपैठ उनसे लड़ते सीमा के सजग प्रहरी जिनकी वजह से हम सुरक्षित हैं देश सशक्त है | दुःख हुआ दिल्ली में मचे उपद्रव और



न भटको अपने नेक इरादों से

न भटको अपने नेक इरादों से माला जपू श्याम की राम की धनश्याम की जग मे फैला हैं उजियारा तेरे ही नाम का जप-जप कर जीता हैं जग सारा। बनता हैं तूही सहारा जग के बेसहारों का। माला जपू श्याम की राम की घनश्याम की।रहने दे अमन शांति इस जहां मे जहाँ खेलता हैं बचपन गाती हैं जवानी गुनगुनाता हैं बुढ़ापा। करती हैं श्



हिन्दुस्तान हमारा है. (भाग-१)

जब पूरी दुनियां मानवाधिकार और वर्ग सघर्ष कर रही थी, तब हिन्दुस्तान अपनी आज़ादी की लड़ाई लड़ रहा था. दुनियां की सबसे पहली मानवाधिकार की लड़ाई शायद फ्रांस में 1789 में लड़ी गई थी. उसके बाद ये आग जल्दी ही पुरे यूरोप में लगने लगी और फिर अमेरिका तक पहुँच गई. उस



पूर्व प्रधान मंत्री स्वर्गीय श्री अटल बिहारी जी को अर्पित श्रद्धा सुमन

पूर्व प्रधान मंत्री स्वर्गीय श्री अटल बिहारी बाजपेयी जी को अर्पित श्रद्धा सुमन डॉ शोभा भारद्वाज स्वर्गीय प्रथम प्रधान मंत्री श्री जवाहर लाल नेहरू ने संसद में अटल जी के पहले भाषण पर अपनी प्रतिक्रिया देते हुए कहा था एक दिन अटल देश के प्रधान मंत्री पद पर पहुंचेगे |श्री अ



आग है लगी हुई हर तरफ यहाँ वहाँ (Aag Hai Lagi Hui Har Taraf Yahan Wahan )- स्वर्ग नरक

Aag Hai Lagi Hui Har Taraf Yahan Wahan Lyrics of Swarg Narak (1978): This is a lovely song from Swarg Narak starring Sanjeev Kumar, Jeetendra, Vinod Mehra and Moushumi Chatterjee. It is sung by Mohammad Rafi and composed by Rajesh Roshan.स्वर्ग नरक (Swarg Narak )आग है लगी हुई हर तरफ यहाँ वहाँ (Aag



नहीं नहीं कोई तुमसा हसीन (Nahi Nahi Koi Tumsa Haseen )- स्वर्ग नरक

Nahi Nahi Koi Tumsa Haseen Lyrics of Swarg Narak (1978) is penned by Anand Bakshi, it's composed by Rajesh Roshan and sung by Asha Bhosle and Kishore Kumar.स्वर्ग नरक (Swarg Narak )नहीं नहीं कोई तुमसा हसीन (Nahi Nahi Koi Tumsa Haseen ) की लिरिक्स (Lyrics Of Nahi Nahi Koi Tumsa Haseen )नहीं नहींहो



लीना ो लेना दिल तूने छीन (Leena O Leena Dil Tune Cheena )- स्वर्ग नरक

लीना ओ लीना दिल ट्यून चेना फिल्म स्वर्ग नारक के गीत किशोर कुमार द्वारा गाए जाते हैं, इसका संगीत राजेश रोशन द्वारा रचित है और गीत आनंद बक्षी द्वारा लिखे गए हैं।स्वर्ग नरक (Swarg Narak )लीना ो लेना दिल तूने छीन (Leena O Leena Dil Tune Cheena ) की लिरिक्स (Lyrics Of Leena O Leena Dil Tune Cheena )ले



स्वर्ग नरक (Swarg Narak )

'स्वर्ग नारक' 1 9 78 की हिंदी फिल्म है जिसमें संजीव कुमार, जीतेन्द्र, विनोद मेहरा, मौसुमी चटर्जी, शबाना आज़मी, तनुजा, जगदीप, ओम शिवपुरी, राज मेहरा, शम्मी, विक्रम गोखले, कोमिला विर्क, आदिल अमान, बीरबल, पंढरीबाई, मुख्य भूमिका में कामिनी कौशल, हेलेन, शोभिनी सिंह, फरीता बॉयस, विजयलक्ष्मी, बेबी गोवरी और



पाकिस्तान में अहमदियों को मुस्लिम नहीं माना जाता

पाकिस्तान के पंजाब प्रांत में रबवाह शहर के लोग बीते 41 साल से चुनावों में वोट नहीं डालते। दरसअल, 1977 में तत्कालीन प्रधानमंत्री जुल्फिकार अली भुट्टो ने उन्हें गैर-मुस्लिम वर्ग में वोट का अधिकार दिया। इससे वे नाराज हो गए और तभी से अपने मताधिकार का इस्तेमाल करना



समर-यात्रा

आज सवेरे ही से गाँव में हलचल मची हुई थी। कच्ची झोंपड़ियाँ हँसती हुई जान पड़ती थीं। आज सत्याग्रहियों का जत्था गाँव में आयेगा। कोदई चौधरी के द्वार पर चँदोवा तना हुआ है। आटा, घी, तरकारी, दूध और दही जमा किया जा रहा है। सबके चेहरों पर उमंग है, हौसला है, आनन्द है। वही बिंदा अहीर, जो दौरे के हाकिमों के पड़ाव





1
आसान हिन्दी  [?]
तीव्र हिंदी  [?]
ऑनस्क्रीन कीबोर्ड  [?]
हिन्दी टाइपिंग  [?]
डिफ़ॉल्ट कीबोर्ड  [?]

(फोन के लिए विकल्प)
X
1 2 3 र्4 ज्ञ5 त्र6 क्ष7 श्र8 (9 )0 --   =
q w e r t y u i o p [   ]
a s d िfि g h  j k l ; '  \
  z x c  v  b n m ,, .. ?/ एंटर
शिफ्ट                                                         शिफ्ट बैकस्पेस
x