जीवित भगवान हैं माता पिता :-- आचार्य अर्जुन तिवारी

*सनातन धर्म में अनेक देवी - देवता कहे गये हैं जिनको मनुष्य अपनी श्रद्धा के अनुसार मानता एवं पूजता है | प्रत्येक देवी - देवता का एक प्रमुख स्थान है यथासमय ये सभी देवशक्तियाँ अपना कार्य करती रहती हैं | यदि आंकलन किया जाय कि सर्वश्रेष्ठ कौन है तो यह थोड़ा असम्भव है क्योंकि सभी देवशक्तियाँ एक दूसरे की प



मानव जीवन क्या है...

जीवन क्या है..? या मृत्यु क्या है..? क्या कभी आपने इसे समझने की चेष्टा की है..? नहीं, जरूरत ही नहीं पड़ी। मनुष्य ऐसा ही है.. तो क्या सोच गलत है...जी बिल्कुल नहीं, ये तो मनुष्यगत स्वभाव है। जरा उनके बारे में सोचिए जिन्होंने हमें ज्ञान की बाते



22 जून 2020

पूजा की विधि

https://devastuti.blogspot.com/2020/06/things-to-keep-in-mind-related-to.html?m=1



Positive thinking के फायदे जरूर जाने

Positive thinking (सकारात्मक सोच) से जीवन मे कामयाब कैसे हो। जानने का मौका जाने। Positive thinking ke fayde jarur jane Positive thinking एक ऐसा शब्द जिससे आज का हर व्यक्ति परिचित है। आज का प्रत्येक इंसान इसे समझता व मानता भी है। लेकिन फिर भी पता नही हम लोग इस पर पूरी तरह अ



देश की अर्थव्यवस्था एन.एस.अजनबी

📑💵उस देश की अर्थव्यवस्था 💰 मे कैसे सुधार होगा। जहां का राजा मन की बात 📻 रेडिओ 📟 पर करता हो जबकि वर्तमान समय में लोग रेडिओ का प्रयोग कम कर रहे हैं। एन.एस.अजनबी नोट:- मेरा राजनीतिक पार्टी से संबंध ना जोड़ें |



नीतेश अजनबी

🚗 दहेज लेना कोई गुनाह नही* 💰आज के वर्तमान सत्र में दहेज लेना कोई गुनाह नहीं क्योंकि कन्या पक्ष के हमेशा यह सोचते हैं कि मेरी बेटी को ससुराल में कोई काम न करना पड़े और मेरी बेटी की शादी ऐसे घर में हो जहां पर नौकर नौकरानी कार्यरत हों और मेरी बेटी बैठकर हुकूमत चलाए अब इस क्रिया में लड़की पक्ष के गरीब



सद्गुरु जग्गी वासुदेव के 25 आध्यात्मिक विचार | Sadhguru Jaggi Vasudev Quotes in Hindi

इंसान अपनी जिंदगी में बहुत सी चीजों को लेकर परेशान रहता है और अगर उसे कोई अच्छे से समझा दे तो उसे एक दिलासा मिल जाता है। ऐसे कई आध्यात्मिक गुरू हैं जो जिंदगी के बारे में बहुत सारी अच्छी बातें बताते हैं, उनमें से एक हैं सद्गुरु जग्गी वासुदेव (Sadhguru Jaggi Vasudev) जी



Albert Einstein Quotes अल्बर्ट आइंस्टीन के Top 10 Quotes In Hindi.

विज्ञान के विभिन्न रहस्यों से पूरी दुनिया को चकित करने वाले महान वैज्ञानिक Albert Einstein ने 20 वी सदी के सबसे प्रभावशील भौतिक विज्ञानी के रूप में अपने अविष्कारों के द्वारा पूरी दुनिया को बदल दिया |इन्होने ही दुनिया को सापेक्षता का सिद्धांत दिया और इसे ही आधुनिक भौतिकी की आधारशिला माना जाता है | आइ



Sketches from Life: बुद्ध का मार्ग - 7

दस प्रश्न गौतम बुद्ध अपने उपदेशों के दौरान उठाए गए सवालों का जवाब भी देते थे. सवाल किसी के भी हों शिष्य के, साधू-संत के, व्यापारी के, यात्री के या फिर किसी राजा के. वे सभी को यथा योग्य उत्तर देते थे. फिर भी कुछ प्रश्न ऐसे थे जिनका बुद्ध ने



कभी अपने दिल की भी सुनो

<!-- wp:paragraph -->वास्तव में हमे जो करने की इच्छा हे वो हम नहीं कर पाते और जो समय हमसे करवाता हे ,हम फिर थक हार कर वही करने लगते हे ,जहा सभी लोग भागते दिखाई देते हे बस वही भागने लगते हे ...............रुको .................और सोचो इस रेस में हम कहा जाकर रुकेंगे



नौकरी को बहुत ज्यादा अहमियत देने की जरुरत नहीं

समय इतना बदल चुका है पर हममें से बहुतायत उसी पुराने ख्यालात के साथ जी रहे हैं | मेरा यह वक्तब्य थोड़ा अमर्यादित किस्म का लग सकता है लेकिन मै यह बात पूरी जिम्मेवारी के साथ कह रहा हूँ | इस वक्तब्य के म



क्यों बेअसर हो जाते है मोटिवेशनल विचार कुछ वक्त बाद ?

<!--[if gte mso 9]><xml> <w:WordDocument> <w:View>Normal</w:View> <w:Zoom>0</w:Zoom> <w:TrackMoves/> <w:TrackFormatting/> <w:PunctuationKerning/> <w:ValidateAgainstSchemas/> <w:SaveIfXMLInvalid>false</w:SaveIfXMLInvalid> <w:IgnoreMixedContent>false</w:IgnoreMixedC



हिंदी भाषा का दबदबा कहां तक?

क्या हिंदी भाषा वैश्विक भाषा है या ये केवल भारत तक ही सिमित है?



गिद्ध

गिद्ध ये नाम सुनते ही वह पक्षी स्मरण होआता है,जो मृत प्राणियों को अपना आहारबनाता है।पर अब सुना है कि गिद्धों की संख्या कम हो गई है या यूं कहें कि आदमी मेंगिद्ध की प्रवृति ने जन्म ले लिया है,जो जिंदाइंसानों को भी अपना शिकार बना लेती है।शायद यही कारण है कि गिद्ध अब नहीं



थोड़ा नए ख़याल



जीवन के अध्याय पढ़कर देखें अच्छा लगेगा

जीवन के अध्याय जिन्दगी में हर पल एक नई चुनौतियों को लेकर आता हैं,जो असमान संघर्षो से भरा होता हैं.इस पल को सामने पाकर कोई सोचने लगता हैं कि शायद मेरे जीवन में नया चमत्कार होने वाला हैं.अर्थात् सभी के मन में चमत्कार की आशा पैदा होने लगती हैं.चुनौतियां जो इंसानी जीवन क



बल बुद्धि निधान राम को समर्पित वीर हनुमान

बल बुद्धि निधान राम को समर्पित वीर हनुमान ( साहित्यक लेख ) डॉ शोभा भारद्वाज अनेक बाधाओं को पार कर श्री हनुमान लंकापहुंचे लेकिन नगर में प्रवेश कैसे करें ?वह एक ऊँचे घने वृक्ष की छाया में घुटनोंके बल बैठे थे उन्होंने हाथ जोड़ कर कहा मेरा श्री राम में अटूट विश्वास है वहीमुझे मार्ग दिखलायेंगे |साम



मैं का भाव

अपनापन, भाईचारा'मैं' के भाव ने सब को माराइस में अपनेपन की छाँव नहीं'मैं' हूँ, 'हम' का भाव नहीं 'मैं' में स्वार्थ हरा-भरा लालच में लिपटा, अपने निमित्त 'मैं' से आपस का भाईचारा मराऊपर उठने की मनसा'हम' का मनोभाव नहीं 'मैं' के उद्धार करण मेंऔरों की बड़ती से मन झुलसा



22 मार्च 2019

थकावट, अकेलापन और तनाव से निपटने के लिए एक सरल विधि।

“मुझे पता चला कि जब मैंने अपने विचारों पर विश्वास किया था, तो मुझे पीड़ा हुई, लेकिन जब मैंने उन पर विश्वास नहीं किया, तो मुझे पीड़ा नहीं हुई, और यह कि यह हर इंसान के लिए सच है। स्वतंत्रता उतनी ही सरल है। मुझे अपने भीतर एक खुशी मिली जो कभी गायब नहीं हुई, एक पल के लिए भी नहीं। वह आनंद सभी में है, हमेश



आशा और सफलता

जीवन में सफलता प्राप्त करनी है तो सोच सकारात्मक बनाए रखने के साथ ही मन मेंआशा को जगाए रखना आवश्यक है | सकारात्मक सोच और आशावान व्यक्ति से किसी भी प्रकारकी निराशा और चिन्ता कोसों दूर भागते हैं जिसके कारण उसका मन और शरीर दोनों स्वस्थबने रहते हैं और वह अपनी सफलता के लिए उचित दिशा में प्रयास कर पाता है…



आसान हिन्दी  [?]
तीव्र हिंदी  [?]
ऑनस्क्रीन कीबोर्ड  [?]
हिन्दी टाइपिंग  [?]
डिफ़ॉल्ट कीबोर्ड  [?]

(फोन के लिए विकल्प)
X
1 2 3 र्4 ज्ञ5 त्र6 क्ष7 श्र8 (9 )0 --   =
q w e r t y u i o p [   ]
a s d िfि g h  j k l ; '  \
  z x c  v  b n m ,, .. ?/ एंटर
शिफ्ट                                                         शिफ्ट बैकस्पेस
x