1


ये 10 तस्वीरें गवाह हैं कि इतिहास में महिलाएं कितनी थी स्वतंत्र

आज के समय में महिलाओं की दशा काफी चिंताजनक है, क्योंकि जितना खुलापन आज के दौर में महिलाओं में देखने को मिल रहा है उतनी ही वारदातें उनमें हो रही हैं। सबसे ज्यादा पर्दा मुस्लिम धर्म में होता है और ये बहुत पुरानी प्रथा है जो आज तक चल रही है। मगर विदेशी लड़कियों में खुलापन आज से नहीं बल्कि उस समय से है



अगर समलैंगिकता विदेशी संस्कृति, मानसिक विकृति है तो शास्त्रों में 8 जगहों पर इसका वर्णन क्यों है?

भारतीय दंड संहिता का सेक्शन 377, जिसके अंतर्गत आपसी सहमति से बने समलैंगिक संबंध आपराधिक थे, अब आपराधिक नहीं रहेंगे. 6 सिंतबर 2018 को सुप्रीम कोर्ट के जीफ़ जस्टिस दीपक मिश्रा ने ऐतिहासिक फ़ैसला सुनाते हुए कहा कि Homosexuality या समलैंगिकता अपराध नहीं है.दीपक मिश्रा के शब्द



देखिए टेक्नोलोजी के नाम पर विदेशी से क्या आ रहा है और उसके क्या परिणाम सामने आ रहे है

कोई विदेशी कंपनी हमको टेक्नोलॉजी देने नहीं आ रही है और वह कभी आएंगे भी नहीं क्योंकि जो उनके पास लेटेस्ट टेक्नो



यहाँ और वहां

पिछले दिनों एक यूरोपियन महिला का हमारे घर आना हुआ. उन्होंने सुबह 11 बजे होटल का भुगतान कर दिया था और सामान समेट कर होटल मैनेजर के पास जमा कर दिया था. पर वापसी फ्लाइट के लिए एयरपोर्ट रात 11 बजे पहुंचना था. अब लगातार होटल लॉबी में अकेले बैठना भी मुश्किल काम था और टीवी देखना





1
आसान हिन्दी  [?]
तीव्र हिंदी  [?]
ऑनस्क्रीन कीबोर्ड  [?]
हिन्दी टाइपिंग  [?]
डिफ़ॉल्ट कीबोर्ड  [?]

(फोन के लिए विकल्प)
X
1 2 3 र्4 ज्ञ5 त्र6 क्ष7 श्र8 (9 )0 --   =
q w e r t y u i o p [   ]
a s d िfि g h  j k l ; '  \
  z x c  v  b n m ,, .. ?/ एंटर
शिफ्ट                                                         शिफ्ट बैकस्पेस
x