World Wide Web के 30 साल पूरे होने पर गूगल ने समर्पित किया खास डूडल

सर्च इंजन गूगल के साथ साथ अधिकतम वेबसाइट्स का वजूद इंटरनेट की वजह से ही है. WWW (World Wide Web) यानी वर्ल्डवाइड वेब की 30वीं सालगिरह पर गूगल ने अपना खास डूडल समर्पित किया है. वैश्विक स्तर पर सूचनाओं का खजाना हासिल करने की तकनीक के प्रतीक के रूप में इस डूडल को समर्पित किय



जब भी कोई मृत परिजन सपने में आता है, तो आपकी ज़िन्दगी में होते है ये 8 बदलाव

जीवन और मरण जीवन का सबसे बड़ा सत्य है. जो दुनिया में आता है, उसे एक न एक दिन जाना ही होता है. हम में से कई लोग ऐसे होंगे जिन्होंने अपनी ज़िन्दगी में अपनों को दुनिया छोड़ कर जाते देखा होगा. ऐसे में कुछ वाकये इस तरह के भी हो जाते हैं, जब लोगों को उनके मरे हुए नज़दीकी व्यक्ति सपने में नज़र आ जाते हैं. इस दौ



नासा के अनुसार वैश्विक स्तर पर पेड़-पौधे लगाने में भारत और चीन सबसे आगे

आम अवधारणा के विपरीत नासा के एक ताजा अध्ययन में पाया गया है कि भारत और चीन पेड़-पौधे लगाने के मामले में विश्व में सबसे आगे हैं। सोमवार को जारी इस अध्ययन में बताया गया कि दुनिया 20 वर्ष पहले की तुलना में अधिक हरी भरी हो गई है। उपग्रह से मिले आंकड़ों एवं विश्लेषण के आधार पर



क्षुद्रग्रह के प्रभाव के कारण पृथ्वी पर महाद्वीपों का निर्माण हुआ!

एक अध्ययन रिपोर्ट के अनुसार, 3.8 अरब साल पहले अंतरिक्ष से क्षुद्रग्रहों द्वारा पृथ्वी पर भारी बमबारी से हमारे ग्रह पर अल्प काल में विकसित क्रस्ट के निर्माण में सहयोग मिला, जिसके बाद महाद्वीपों का निर्माण हुआ।दक्षिण अफ्रीका में विटवाटरसैंड विश्वविद्यालय... और पढ़ें



इस तारीक को पूर्ण चंद्रग्रहण, ‘सुपर ब्लड मून’ की तरह होगा

एक विशेष खगोलीय घटना इस रविवार यांनी 20 जनवरी की रात के लिए कैलेंडर में शामिल हो चुका है और विशेषज्ञ पहले से ही इस घटना की भाविष्यवाणी कर रहे हैं: Sky and Telescope Magazine पत्रिका कहती है, ”पूर्णता के लिए पूरे 62 शानदार मिनट”।‘2019 का एकमात्र पूर्ण चंद्रग्रहण,’ NASA कहत



चंद्रमा के दूरस्थ सतह की जाँच के लिए CHANG’E-4 अंतरिक्ष यान को चीन ने भेजा

चीन चंद्रमा के दूर वाली सतह पर अपने अंतरिक्ष यान Chang’e-4 को एक ऐसी जगह की खोज में लगायगा जो कि इतने करीब होने के बावजूद हमारे लिए लगभग पूरी तरह से अज्ञात है। चीन के राष्ट्रीय अंतरिक्ष प्रशासन (CNSA) का लक्ष्य चांद की सतह पर अज्ञात दक्षिण ध्रुव-ऐटकेन बेसिन (सबसे बड़े, स



नासा ने नए साल की पूर्व संध्या पर हमारे सौरमंडल से बाहर अभी तक के सबसे दूर वाली तस्वीरें खींची!

एक ऐतिहासिक अंतरिक्ष कार्यक्रम की खबर सुनने के लिए दुनिया भर के वैज्ञानिक नए साल की पूर्वसंध्या का इंतजार कर रहे थे। नासा के एक अंतरिक्ष यान से सबसे दूर वाली फोटो के लिए जूम किया। यह संभवतः सबसे पुराना, ब्रह्मांडीय पिंड है, जो अल्टिमा थूले( लगभग चार बिलियन मील (6.4 बिलियन



विश्वास, अविश्वास, और विज्ञान मार्ग गाथा ( मनन - 3 )

* विश्वास,अविश्वास,और विज्ञान मार्ग गाथा * ( मनन - 3 )विश्वास-मार्ग,अविश्वास-मार्ग,और विज्ञान-मार्ग की यह गाथा है;जानना है, क्या हैं इनको करने के आधार-मार्ग, और समझना इनकी गाथा है।01।बिना जाने ही स्वीकार कर लेना *विश्वास* है;निज अनुभव में आधार नह



क्या मनुष्य चिकन युग में प्रवेश कर गया है?

आपका आखिरी मांसाहारी भोजन चिकन होने की संभावना काफी ज्यादा है। आखिर क्यों ना हो? यह सस्ते मांसाहारी श्रेणी में जो आता है। चिकन सबसे अधिक खपत होने वाला मांसाहारी खाना है, यह सिर्फ भारत के लिए नहीं है, बल्कि पूरी दुनिया बहुत ज्यादा चिकन का



Geminids Meteor: आज होगी तारों की बारिश!, जानें आज का Google Doodle क्यों है खास?

आज रात, आपको Geminids Meteor Shower (जेमीनीड मीटियोर शॉवर) नामक एक शानदार ब्रह्मांडीय शो आकाश में दिखाई देगा। Google ने अपने डूडल के माध्यम से यह याद दिलाया है कि हमें इस वार्षिक खगोलीय घटना को देखना नहीं भूलना चाहिए। जबकि नासा ने कहा है कि यह खगोलीय घटना साल का सबसे



मृतक दाता से प्राप्त गर्भाशय को प्रत्यारोपित कर हुआ विश्व के प्रथम बच्चे का जन्म

ब्राजील के डॉक्टर ने मृतक दाता से प्राप्त गर्भाशय को एक महिला में प्रत्यारोपित करने के बाद पैदा हुए दुनिया के पहले बच्चे के बारे में जानकारी दी है। इससे पहले ग्यारह जन्मों में प्रत्यारोपित गर्भ का उपयोग किया जाता रहा है, लेकिन एक जीवित दाता



भारत का सबसे वजनी सैटेलाइट GSAT-11 लांच, तेज हो जाएगी इंटरनेट की स्पीड

भारतीय अंतरिक्ष एजेंसी ISRO ने बुधवार को अपने अब तक के सबसे वजनी सैटेलाइट का प्रक्षेपण कर दिया। भारतीय समयानुसार मगंलवार-बुधवार की रात में दक्षिणी अमेरिका के फ्रेंच गुयाना के एरियानेस्पेस के एरियाने-5 रॉकेट से ‘सबसे अधिक वजनी’ उपग्रह GSAT-11 को लॉन्च किया गया। सैटेलाइट बु



Arecibo Message: Google ने डूडल बनाकर 44 साल पहले धरती के बाहर भेजे गए संदेश का सालगिरह मनाया

Google ने डूडल बनाकर आज अरेसीबो संदेश(Arecibo message in hindi) की 44 वीं वर्षगांठ मनाया। यह ब्रॉडकास्ट काफी शक्तिशाली था, लेकिन आज तक इसका रिस्पॉन्स मेसेज( Arecibo message meaning) नहीं मिला। गूगल के मुताबिक भेजा गया अरसीबो(Arecibo message explained) मेसेज अपने तय लक्ष्य



प्रेम - परिभाषा

मानसिक अनुभूतियों की एक संज्ञातम्यक व् सर्वमान्य परिभाषाये रचना भौतिक पदार्थो और उसकी क्रियावों की परिभाषों के बनाने जितना सरल नहीं लगता है, क्योकि भौतिक परिभाषाओ के लिए स्थायी परिमंडल निश्चित है और कम भी



नासा का अंतरिक्ष यान सूर्य के सबसे निकटतम दूरी पर!

एक नासा अंतरिक्ष यान पिछले इतिहास की तुलना में सूरज के करीब आ गया और उम्मीद है कि वह कई और रिकॉर्ड तोड़ देगा। ‘जॉन्स हॉपकिंस विश्वविद्यालय एप्लाइड फिजिक्स लैब’ में इस मिशन को नियंत्रित किया गया। सौर जांच मिशन टीम नासा पार्कर पहली बार सूर्य के इतने करीब... और पढ़ें



सूरज के केंद्र से ज्यादा तापमान उत्पन्न करने पर असीमित स्वच्छ उर्जा का उत्पादन!

एक ब्रिटिश परमाणु संलयन रिएक्टर सूर्य के केंद्र से ज्यादा गर्म तापमान तक पहुंच गया, जिससे असीमित स्वच्छ ऊर्जा बनाने की दिशा में एक बड़ा कदम साबित हुआ। ऑक्सफोर्डशायर के वैज्ञानिकों ने अपने टोकोमाक रिएक्टर को 15 मिलियन डिग्री सेल्सियस (59 मिलियन डिग्री फारेनहाइट) हिट करने म



3 वैज्ञानिकों को रसायन विज्ञान के नोबेल पुरस्कार के लिये चुना गया

रॉयल स्वीडिश एकेडमी ऑफ साइंसेज ने रसायन विज्ञान 2018 में नोबेल पुरस्कार के पहले आधे के लिये फ्रांसिस एच. अर्नाल्ड को ‘एंजाइमों के निर्देशित विकास के लिए’ और दूसरे आधे के लिये संयुक्त रूप से जॉर्ज पी. स्मिथ और सर ग्रेगरी पी. विंटर को ‘पेप्टाइड्स और एंटीबॉडी के फेज डिस्प्



चैतन्य पदार्थ

(E-Book) ISBN- N. -978-93-5321-564-4 (पुस्तक प्रकृति- पदार्थ विज्ञान ) चैतन्य पदार्थ



नौवें ग्रह की मौजूदगी और इसकी लुका-छिपी फिर सामने आयी

दशकों से वैज्ञानिकों के पास नौवें ग्रह का सिद्धांत है। यह ग्रह पृथ्वी से 10 गुना बड़ा और सौर मंडल के बाहरी-ग्रह-नेप्च्यून की तुलना में सूर्य से 20 गुना अधिक दूर माना जाता है। यहां तक ​​कि नासा ने आधिकारिक तौर



संस्कृत हिंदी और विज्ञान

संस्कृत, हिंदी और विज्ञान स्वामी विवेकानन्दके अनुसार – दुनियाभर के वैज्ञानिक अपने नूतन परीक्षणों से जो परिणाम प्राप्त कररहे हैं, उनमें से अधिकांशहमारे ग्रंथों मे समाहित हैं। हमारी परम्परायें विकसित विज्ञान का पर्याय हैं ।हमारे ग्रंथ मूलत: संस्कृत भाषा में लिखे गये हैं ।



आसान हिन्दी  [?]
तीव्र हिंदी  [?]
ऑनस्क्रीन कीबोर्ड  [?]
हिन्दी टाइपिंग  [?]
अंग्रेजी  [?]

(फोन के लिए विकल्प)
X
1 2 3 र्4 ज्ञ5 त्र6 क्ष7 श्र8 (9 )0 --   =
q w e r t y u i o p [   ]
a s d िfि g h  j k l ; '  \
  z x c  v  b n m ,, .. ?/ एंटर
शिफ्ट                                                         शिफ्ट बैकस्पेस
x