1


जातियां और आज का भारत

आज के भारत में जातियां अस्तित्वहीन हो चुकी है। परन्तु राजनीति बांटने और वोट बैंक बनाने के लिये आज भी इसका भरपूर प्रचार कर रही हैं। इसे रोका जाना चाहिये। भारत सरकार को अब सरकारी फार्मों आदी से जाति का कॉलम हटा देना चाहिये। इसके स्थान पर केवल वर्ग जैसे - साम



“बिग-स्क्रीन” पर धर्म के नाम पाखण्ड

फिल्मेंसमाज का दर्पण होती है, अक्सर कहा जाता है । फिल्मों के माध्यम से समाज



"विकास का वोट"

"विकास का वोट" चुनाव हमारे जीवन का अंग बन गया है जो आए दिन कहीं न कही, कभी प्रादेशिक तो कभी राष्ट्रिय त्यौहार बन आता ही रहता है। यह जब भी, जहाँ भी आता है वहाँ के लोगों की सक्रियता बढ़ जाती है। हर घर में कोई न कोई वक्ता स्वयं उठ खड़ा होता है और किसी का दामन पकड़ कर मुंह फाड़न



देख लीजिए कैसे चर्च के हाथो की कठपुतली थी जय ललिता ! सोनिया गाँधी के साथ मिलकर करती थी काम

क्या आप जानते है कुछ दिनों से हमारे देश में एक अभियान चल रहा है शंकराचार्य के मठ पर सरकार कब्ज़ा करने जा रही है, कांचीपुरम शंकराचार्य जी के मठ पर सरकार कब्ज़ा करने की पूरी तैयारी कर चुकी है, इसके लिये उनके ऊपर चार्जेस लगाये गए है उनके खिलाफ 2000 पेज की चार्जशीत फाइल की गई ह



सुप्रीम कोर्ट के फैसले के बाद आदित्य नाथ योगी और अवैसी क्या खुद को रोक पाएंगे?

सुप्रीम कोर्ट का फैसला हैं की अब कोई भी धर्म-जात के नाम पर वोट नहीं मानेगा .



अपराध के राजनीतिक संरक्षण पर अखिलेश का 'वीटो'! Akhilesh Yadav against criminal, hindi article

कल तक जो विश्लेषक यूपी की समाजवादी पार्टी सरकार को अपराधियों की मददगार मानते थे, वही आज अखिलेश यादव की मुक्तकंठ से सराहना कर रहे हैं. पिछले दिनों कई लेख और रिपोर्ट देखी, जिसमें अखिलेश यादव ने अपनी सरकार के आगे जाने का रोडमैप बेहद सख्ती से लागू किया. अभी ज्यादा दिन नहीं हुए, जब भाजपा के राष्ट्रीय अध्





1
आसान हिन्दी  [?]
तीव्र हिंदी  [?]
ऑनस्क्रीन कीबोर्ड  [?]
हिन्दी टाइपिंग  [?]
डिफ़ॉल्ट कीबोर्ड  [?]

(फोन के लिए विकल्प)
X
1 2 3 र्4 ज्ञ5 त्र6 क्ष7 श्र8 (9 )0 --   =
q w e r t y u i o p [   ]
a s d िfि g h  j k l ; '  \
  z x c  v  b n m ,, .. ?/ एंटर
शिफ्ट                                                         शिफ्ट बैकस्पेस
x