या

छतिसिंहपोरा नरसंहार

क्या कल आपने किसी मीडिया चैनल पर या किसी समाचार पत्रमें छतिसिंहपोरा नरसंहार के विषय में एकशब्द भी सुना या पढ़ा? क्या किसी ह्यूमन-राइट्स वाले को इस नरसंहार की बात करतेसुना? वह लोग जो आज़ादी के नारे लगाते है या वह नेता जो उनकेसमर्थन में खड़े हो जाते हैं या वह जो आये दिन नक्सालियों के लिए आवाज़ उठाते हैं



साजन बेस परदेश

साजन बेस परदेश सूनी - सूनी लगे नाचे गायें घर चौबारे नगरी नगरी द्वारे द्वारे जहर लागे हंसी ठिठोली सून सून लागे होली !चारो और रंग बरसे है मेरा सूखा मन तरसे है खाली अबीर गुलाल झोली सूनी सूनी लागे होली | आँखे सबकी ,खुशियां वांचे पीली पीली सरसो नाचे रंगीले परिधान में टोली सूनी सूनी लागे होली | होड़ म



प्यार और व्यापार ?

दोनों में अंतर क्या है ?



इन पांच चीजों का प्रयोग अपने खानपान में करते रहेंगे, तो पा सकते हैं, दुबली पतली काया

हर व्यक्ति चाहता है, कि उसका शरीर एकदम परफेक्ट और फिट हो, लेकिन ये इतना आसान नहीं है, कि बिना प्रयास किए उसे पाया जा सके । परफेक्ट बॉडी पाने के लिए खाने-पीने पर ध्यान देना होगा । नियमित व्यायाम करना होगा । इस लेख में हम आपको बताने जा रहे हैं ऐसे कुछ फलों के बारे में ज



क्षणभंगुर जीवन :--- आचार्य अर्जुन तिवारी

*सनातन काल से मनुष्य भगवान को प्राप्त करने के अनेकानेक उपाय करता रहा है , परंतु इसके साथ ही भगवान का पूजन , ध्यान एवं सत्संग करने से कतराता भी रहता है | मनुष्य का मानना है कि भगवान का भजन करने के लिए एक निश्चित आयु होती है | जबकि हमारे शास्त्रों में बताया गया है कि मनुष्य के जीवन का कोई भरोसा नहीं ह



होई पतन विकास के साथ।

होई पतन विकासके साथ।नेता कहतेहैं भारत का विकास हो रहा हैं।गाँव मे नहर, तालाब, कुआँ सूख रहा हैं।कहने को पैसाबहुत हैं सरकार के पास मे।नेशनल हाईवेके गड्डो से धूल उड़ रहा हैं।पुराने पुलभरभरा जाते हैं रेल की धमक से।मौत जिसकीहोती हैं वह उसकी किस्मत थी।सरकार को यहपता हैं इसपुल से कौन आतंकी गुजरा था?सरकार को



जाने गठिया रोग होने के कारण,लक्षण और इलाज के बारें में

गठिया रोग एक प्रकार से जोड़ो की सूजन होती है इस रोग से पीड़ित व्यक्ति को शरीर के किसी भी जोड़ पर दर्द का अनुभव हो सकता है और यह एक से अधिक स्थानों को प्रभावित कर सकती है।जब हड्डियों के जोड़ो में यूरिक एसिड जमा हो जाता है तो वह गठिया का रुप धारण कर लेती है।गठिया रोग क



व्यायाम करने का सही समय |Best Time for Exercise in Hindi

आज के समय भाग-दौड़ भरी जिदंगी मेंलोगों के पास शारीरिक फिटनेस के लिए समय नहीं बच पाता है ऐसे में लोगों को बहुतसारी बीमारी घेर लेती है जिससे कि उनका जीवन अस्त-व्यस्त हो जाता है। हालांकि कीकुछ लोग ऐसे भी है जो अपने शरीर की फिटनेस को लेकर काफी चिंतित रहते है और उनके मनमें ये सवाल रहता है कि आखिर दिन के



आखिर देश को क्या हो गया है।

‘‘पुलवामा’’ में हुई बड़ी वीभत्स आंतकी घटना में 40 सैनिकों के शहीद हो जाने की प्रतिक्रिया स्वरूप पाकिस्तान में घुस कर बालाकोट में किये गये हवाई हमलों के द्वारा ‘‘जैश-ए-मोहम्मद’’के आंतकवादी कैम्प (प्रशिक्षण शिविर) को नष्ट करने के बाद सम्पूर्ण देश ने एक जुट होकर सेना व सरकार को बधाई दी थी। कांग्रेस सहि



मायोपिया:लक्षण,उपचार,कारण,बचाव (Myopia: Symptoms,Treatment,Cause, Prevention)

मायोपिया (निकट दृष्टिदोष रोग)आजकल की भागदौड़ भरी जिंदगी में मानव अपने शरीर की देखभाल बहुत कम कर पाता है जिस कारण शरीर में काफी रोग होने लगे है। मानव जीवन में पानी की कमी, अनियमित और दूषित खानपान, तनाव भरा जीवन और प्रदूषण भरे माहौल में ज्यादा वक्त बिताना आंखों के रोग ह



प्रसन्नता :-- आचार्य अर्जुन तिवारी

*इस सकल सृष्टि में हर प्राणी प्रसन्न रहना चाहता है , परंतु प्रसन्नता है कहाँ ? लोग सामान्यतः अनुभव करते हैं कि धन, शक्ति और प्रसिद्धि प्रसन्नता के मुख्य सूचक हैं | यह सत्य है कि धन, शक्ति और प्रसिद्धि अल्प समय के लिए एक स्तर की संतुष्टि दे सकती है | परन्तु यदि यह कथन पूर्णतयः सत्य था तब वो सभी जिन्ह



ईश्वर प्रदत्त शक्तियों का सदुपयोग :--- आचार्य अर्जुन तिवारी

*इस धरा धाम पर अनेक प्राणियों के मध्य में मनुष्य सबसे ज्यादा सामर्थ्यवान एवं शक्ति संपन्न माना जाता है | अनेक प्राणी इस सृष्टि में ऐसे भी हैं जो कि मनुष्य अधिक बलवान है परंतु यह भी सत्य है कि मनुष्य शारीरिक शक्ति में भले ही हाथी , शेर , बैल , घोड़े आदि से कम हो परंतु बौद्धिक बल , सामाजिक बल एवं आत्



कुंडलिया

"चित्रलेखा""कुंडलिया"बचपन था जब बाग में, तोते पकड़े ढ़ेर।अब तो जंगल में कहाँ, मोटे तगड़े शेर।।मोटे तगड़े शेर, जी रहे अब पिजरे में।करते चतुर शिकार, नजर रहती गजरे में।।कह गौतम कविराय, उमर जब आती पचपन।मलते रहते हाथ, लौट आता क्या बचपन।।महातम मिश्र, गौतम गोरखपुरी



ओल्गा लैडिजेनस्काया : ( नफरत करने वालों के लिए है सबक...)

नफरत का जवाब हमेशा नफरत नहीं हो सकताहै, वक्त-वक्त पर बहुत से लोगों ने इस बात को साबित किया है । आज हम आपकोएक महान रशियन गणितज्ञ की कहानी बता रहे हैं, जिनके पिताकी नफरत की वजह से हत्या कर दी गई और उनके परिवार को तमाम दुश्वारियां झेलनी पड़ी। ...बावजूद आज वह पूरी दुनिया



Happy life quotes in hindi : 20+ ज़िंदगी कोट्स इन हिंदी

Happy life quotes in hindi: ज़िंदगी में कहीं न कहीं हर कोई किसी परेशानी में होता है और जब निराशा हाथ लगती हैं तो वो हताश हो जाता है। ये 20+ ज़िंदगी कोट्स इन हिंदी हैं जो आपके जीने का और सोचने का साथ ही ज़िंदगी को देखने का नजरिया भी बदल जायेगा। Happy life Quotes in hindi#1जब तुम पैदा हुए थे तो तुम रो



मोतियाबिंद: कारण, लक्षण, उपचार

यदि आपकी उम्र 60 से अधिक है और आपकी दृष्टि में धुंधली या बादल छा गई है, तो आपको मोतियाबिंद हो सकता है। वृद्ध और वयस्कों में मोतियाबिंद की शिकायत अक्सर पायी जाती है।आंखों के



प्यार का दंश या फर्ज

प्यार का दंश या फर्ज तुलसीताई के स्वर्गवासी होने की खबर लगते ही,अड़ोसी-पड़ोसी,नाते-रिश्तेदारों का जमघट लग गया,सभी के शोकसंतप्त चेहरे म्रत्युशैय्या पर सोलह श्रंगार किए लाल साड़ी मे लिपटी,चेहरे ढका हुआ था,पास जाकर अंतिम विदाई दे रहे थे.तभी अर्थी को कंधा देने तुलसीताई के पति,गोपीचन्दसेठ का बढ़ा हाथ,उनके बे



सुंदरी सवैया

"सुंदरी" सवैया सरल मापनी --- 112/112/112/112/112/112/112/112/2"सुंदरी सवैया"ऋतु में बसंत उतिराय गयो, घर से सजना रिसियाय गयो क्यों।जब फागुन की रसदार कली, बगिया अपने पछिताय गयो क्यों।रसना मधुरी नयना कजरा, करते मधुपान बिलाय गयो क्यों।मन की मन में सब साध रही, अँगना चुनरी उलझाय गयो क्यों।।गलियाँ कचनार अल



यादें

"बहुत खूबसूरत होती है ये यादों की दुनियाँ , हमारे बीते हुये कल के छोटे छोटे टुकड़े हमारी यादों में हमेशा महफूज रहते हैं,



कुंडलिया

"कुंडलिया" मिलती जब प्यारी विजय, खिल जाता है देश।वीरों की अनुगामिनी, श्रद्धा सुमन दिनेश।।श्रद्धा सुमन दिनेश, फूल महकाए माला।धनुष बाण गंभीर, अमर राणा का भाला।।कह गौतम कविराय, विजय की धारा बहती।भारत देश महान, नदी सागर से मिलती।।महातम मिश्र, गौतम गोरखपुरी



आसान हिन्दी  [?]
तीव्र हिंदी  [?]
ऑनस्क्रीन कीबोर्ड  [?]
हिन्दी टाइपिंग  [?]
अंग्रेजी  [?]

(फोन के लिए विकल्प)
X
1 2 3 र्4 ज्ञ5 त्र6 क्ष7 श्र8 (9 )0 --   =
q w e r t y u i o p [   ]
a s d िfि g h  j k l ; '  \
  z x c  v  b n m ,, .. ?/ एंटर
शिफ्ट                                                         शिफ्ट बैकस्पेस
x