क्या सुरक्षा परिषद में चीन का वीटो भारत की कूटनीतिक हार थी ?

क्या चीन का वीटो भारत की कूटनीतिक हार थी डॉ शोभा भारद्वाज फ़्रांस अमेरिका एवं ब्रिटेन ने 27 फरवरी को सुरक्षा परिषद में मसूद अजहर को वैश्विक आतंकी घोषित करने के प्रस्ताव पर चीन ने वीटो के अधिकार का प्रयोग किया | अमेरिका फ्रांस एवं ब्रिटेन द्वारा क्षुब्ध होकर जैश के प्रमुख मसूद अजहर को फिर से अंतर्राष्



ईरानी खानम मुझे जीना सिखा गयी

ईरानी खानम मुझे जीना सिखा गयी पार्ट - 2 डॉ शोभा भारद्वाज इंकलाब ने हमारे सपने तोड़ दिए ईरान में बदअमनी फैल रही थी योरोपियन डाक्टरपहले ही जा चुके थे पाकिस्तानी डाक्टर जाह्दान के रास्ते अपने देश लौट गये भारतीयडाक्टरों के लिए उनके सिफारतखाने ने एक साथ निकालने का इंतजाम किया डाक्टर साहबसबसे बाद में



कैसे वो अपना बन बैठे - शिखा

Kaise vo apna ban baithe pata hi nahi chala tha,Kaise ruh mai bas gaye the pata hi nahi chala tha.Raat ko sapno mai hum unhe hi to dekha karte the, Kaise vo mujse door ho gaya pata hi nahi chala tha.Ek hum the jo baar baar ishq e izhar kiya karte the,Kaise vo inse anjaan bana raha pata hi nahi chal



पास मेरे बैठो ना तुम - शिखा

Paas mere baitho na tum,bahut si baate karni hai,dil ke halat batane hai,Kai sapne sajane hai.Kuchh teri sunni hai, Kuchh meri karni hai,Na sata tu muje itna ,Do pal to muskura aa.Sirf tujse muhobbat hai,fir kyu muje ajmate ho.Tuje hi yaad karti hu,Tujhi se pyar karti hu.Meri zindagi tujse hai,Meri



बदलता बचपन

हाल में 1 दिन के लिए गांव गया था,क्योंकि घूप अपने चरम पर थी इसलिए कहीं ना जाकर घर के बाहर ही बच्चों के साथ मस्ती कर रहा था और मन ही मन अपने बचपन और इनके बचपन की तुलना भी कर रहा था, मुझे जहाँ तक अपना बचपन याद है- गर्मी के माह में एक्जुन्नी( 12 बजे तक) विद्यालय हो जाया करता



दोस्त इतने जरुरी क्यों होते है - शिखा

Dosto ke bina Har ek pal suna lagta hai,Jaane kyu dost itne jaruri kyu hote hai.Kitne hi gham kyu na ho zindagi mai,Har gham khushi mai tabdil ho jaate hai.Dosto ke bina har pal bejaan sa lagta hai,Na jaane kaise vo log wafa kar jaate hai.Bina dost mahefil bhi bejan lagt



मेरी परछाई जैसा है ये मेरा प्यार - शिखा

Meri parchhai jaisa hai ye mera pyar,yu to humesha raheta karib mere fir bhi hai vo mujse bahot door,Yu to humesha hota saath mere fir bhi raheta hai vo kahi ghum,Yu to humesha roshni bikherta huaFir bhi andhero mai bhatkta hua,Yu to humesha muskurata hua,Fir bhi ander se



मेरे इस दिल की चाहत - शिखा

Mere is dil ki chahat sanam kal bhi tum the or aaj bhi tum ho.Mere is dil ki tadap sanam kal bhi tum the or aaj bhi tum ho.Har lamha bekarar huyi rahi mai khud hi khud ko samjati rahi,Mere is dil ki dhadkan sanam kal bhi tum the or aaj bhi tum ho.Nahi janti aaj bhi mai ki



तुजसे ही इश्क़ करती है - शिखा

Aaj bhi teri ye diwani tujse hi ishq karti hai,Aaj bhi teri ek hansi se hi vo muskurati hai.Teri sirf ek mithi nazar or vo nikhar jaati hai,Pyar se hi tere vo jaise saj jaaya karti hai.Teri sirf ek chhuan or vo tadap jaati hai,Baaho mai simatne ko teri betab ho jaati hai.Teri sirf ek dilkash zappi



नया मुकाम दे दो - शिखा

आपके प्यार से जो संजोये है ख्वाब हमने ,उस ख्वाबो को अब नया आसमान दे दो .जीना है हर पल साथ आपके ये माना हमने ,मेरे इस ख्वाब को आज हक़ीक़त का रूप दे दो .बाते बहोत ही की यु दूर दूर रहकर हमने ,अब हाथो मै मेरे आप अपना हाथ दे दो .यु बातो से दिल अब बहलता नहीं है हमारा ,अपने गले से लगाकर शिखा को नया मुका



गुनगुनाना चाहता हूँ

Hindi Sahitya Kavya Sanklan provides free publishing opportunity to poets to write their poems in hindi, OR hindi kavita and hindi poems for kids Hindi Sahitya | Hindi Poems | Hindi Kavita | hindi poems for kids



कौन यहाँ आया था

कौन यहाँ आया थाकौन दिया बाल गयासूनी घर-देहरी मेंज्योति-सी उजाल गयापूजा की बेदी परगंगाजल भरा कलशरक्खा था, पर झुक करकोई कौतुहलवशबच्चों की तरह हाथडाल कर खंगाल गयाआँखों में तिरा आयासारा आकाश सहजनए रंग रँगा थका-हारा आकाश सहजपूरा अस्तित्व एकगेंद-सा उछाल गयाअधरों में राग, आगअनमनी दिशाओं मेंपार्श्व में, प्र





1
आसान हिन्दी  [?]
तीव्र हिंदी  [?]
ऑनस्क्रीन कीबोर्ड  [?]
हिन्दी टाइपिंग  [?]
अंग्रेजी  [?]

(फोन के लिए विकल्प)
X
1 2 3 र्4 ज्ञ5 त्र6 क्ष7 श्र8 (9 )0 --   =
q w e r t y u i o p [   ]
a s d िfि g h  j k l ; '  \
  z x c  v  b n m ,, .. ?/ एंटर
शिफ्ट                                                         शिफ्ट बैकस्पेस
x