योवो क्या है?

इंडिया में एक नया एप्प लांच हुआ है जो टिकटोक जैसे अप्प्स को टक्कर दे रहा और मार्किट में धूम मचा रहा . इसकी जानकारी दीजिये?



Sketches from life: घर में योग 2020

अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस 21 जून को मनाया जाता है. हर साल इस 'त्यौहार' की कोई ना कोई थीम रख दी जाती है और इस बार अर्थात 2020 की थीम है 'घर में योग'. कोरोना के साइड इफ़ेक्ट कहाँ नहीं पहुंचे!पिछले बरसों में क्रम यूँ था:योग दिवस 2015 की थीम थी - सामंजस्य और शांति,योग दिवस 2016



पॉलीसिस्टिक ओवेरियन सिंड्रोम के लिए योग

स्वास्थ्य समस्याओं से बचने के लिए अब हर कोई योग की तरफ रुख बदल रहा है। जिस प्रकार योग प्रभावकारी है



क्या गुदा सम्भोग देता है कई बिमारियों को न्योता

गुदा सम्भोग आमतौर पर महिलायें पसंद नहीं करतीं। लेकिन कुछ महिलाओं को इसमें भी आनंद आता है। पुरुष महिलाओं के मुकाबले गुदा सम्भोग करने में ज्यादा आनंदित होते हैं।



तुलसी का बीज क्या होता है?

श्याम तुलसी के पत्ते काले पत्तों के रूप में पाया जाता है



प्रेगनेंसी के समय आपके अच्छे खान-पान से होगी पैनिक अटैक की समस्या कम

प्रेगनेंसी के समय आपके अच्छे खान-पान



योग क्या है

योग शारीरिक क्षमता बढ़ाने में कभी मदद करता है



ध्यान के आसन को सुविधाजनक बनाना

ध्यान के आसन को और अधिक सुविधाजनक बनाने के कुछ सुझाव :अभी तक हम ध्यानके लिए उपयुक्त आसनों के विषय में चर्चा कर चुके हैं | अब आगे, एक अनुकूल आसन का चयनतो हमने कर लिया, लेकिन यदि उसे और अधिक सुविधाजनक बनाना होतो उसके लिए क्या करना चाहिए...यदि आप तह कियेहुए कम्बल को ज़मीन पर गद्दे की भाँति रखकर उस पर बै



ध्यान के लिए उपयुक्त आसन

ध्यान और इसका अभ्यासध्यान के लिए उपयुक्त आसनों पर वार्ता के क्रम में हमने मैत्री आसन, सुखासन, स्वस्तिकासन, वज्रासन और सिद्धासन पर बात की| कुछ अन्य आसन भी ध्यान में बैठने के लिए अनुकूल हो सकते हैं | जैसे:पद्मासन : सिद्धासन की ही भाँतिपद्मासन की सलाह भी प्रायः साधारण साधकों को नहीं दी जाती | क्योंकि य



ध्यान के कुछ अन्य आसन

ध्यान के कुछअन्य आसन :ध्यान के लिएउपयुक्त आसनों पर वार्ता के क्रम में हमने मैत्री आसन, सुखासन, स्वस्तिकासन और सिद्धासन पर बात की | कुछअन्य आसन भी ध्यान में बैठने के लिए अनुकूल हो सकते हैं | जैसे:वज्रासन : कुछ लोग जिनके कूल्होंअथवा घुटनों में किसी प्रकार की समस्या हो वे ऐसे किसी भी आसन में बैठने मेंक



ध्यान के लिए आसन

अपने लिए सुविधाजनक आसन का चयन :टाँगों मेंलचीलेपन के अभाव में सम्भव है कुछ प्रारम्भिक साधकों को सिद्धासन आरम्भ में सुविधाजनकन लगे | आप टाँगों को आर पार मोड़कर ऐसा कोई भी आसन बना सकते हैं जिससे आपके शरीरको इधर उधर झूले बिना, हिले डुले बिना स्थिर होकर बैठने में सहायता मिले, अथवा जैसा कि पहले बताया गया –



ध्यान के लिए आसन

ध्यान में बैठने के लिए आसन (Posture) :बहुत सारे आसनहैं जिनमें आपकी रीढ़ सीढ़ी रहती है और आप आराम से सुविधाजनक स्थिति में अपनी टाँगोंको किसी प्रकार से तोड़े मरोड़े बिना बैठे रह सकते हैं | वास्तव में ध्यान में हाथोंअथवा पैरों पर ध्यान देने की अपेक्षा इस बात पर ध्यान देना चाहिए कि आपकी रीढ़ सीधीहो | इस क्रम



ध्यान के आसन

ध्यान में बैठने के लिए आसन (Posture) :बहुत सारे आसनहैं जिनमें आपकी रीढ़ सीढ़ी रहती है और आप आराम से सुविधाजनक स्थिति में अपनी टाँगोंको किसी प्रकार से तोड़े मरोड़े बिना बैठे रह सकते हैं | वास्तव में ध्यान में हाथोंअथवा पैरों पर ध्यान देने की अपेक्षा इस बात पर ध्यान देना चाहिए कि आपकी रीढ़ सीधीहो | और इस आ



ध्यान के आसन

ध्यान के आसन (Posture)ध्यान एक ऐसीसरल प्रक्रिया है कि जिसका आनन्द हर कोई ले सकता है | जैसा कि पहले भी बता चुकेहैं – ध्यान के लिए शान्तचित्त होकर सुविधाजनक, आरामदायक और स्थिर आसन में बैठजाएँ | शरीर को स्थिर करें, श्वास प्रक्रिया को स्थिर और लयबद्ध करें, और मन कोस्थिर तथा केन्द्रित करें | ध्यान की इन



ध्यान और इसका अभ्यास

ध्यान के अभ्यास के लिए भोजन किसप्रकार का तथा किस प्रकार किया जाना चाहिए इसी क्रम में आगे...निश्चित रूप से जितने भी प्रकार काभोजन आप करते हैं उस सबका अलग अलग प्रभाव आपके शरीर पर होता है | हल्का और ताज़ाभोजन जिसमें सब्ज़ियाँ, फल और अनाज का मिश्रणहो वह सुपाच्य होता है | जबकि भारी और अच्छी तरह से तला भुना



ध्यान और इसका अभ्यास

ध्यान के अभ्यास पर वार्ता करते हुएध्यान के अभ्यास में भोजन की भूमिका पर हम चर्चा कर रहे हैं | इसी क्रम में आगे...भोजन भली भाँति चबाकर करना चाहिये |अच्छा होगा यदि भोजन धीरे धीरे और स्वाद का अनुभव करते हुए ग्रहण किया जाए |पाचनतंत्र को और अधिक उत्तम बनाने के लिए भोजन में तरल पदार्थों की मात्रा अधिकहोनी



ध्यान के समय भोजन का प्रभाव

ध्यान की तैयारी की बात कर रहे हैं तोआगे बढ़ने से पूर्व ध्यान की तैयारी से सम्बद्ध कुछ अन्य महत्त्वपूर्ण तथ्यों को भीसमझ लेना आवश्यक होगा |ध्यान के समय भोजन का प्रभाव :योग का मनोविज्ञान चार प्राथमिकस्रोतों का वर्णन करता है – चार प्राथमिक इच्छाएँ जो हम सभी को प्रेरित करती हैं,और ये हैं – भोजन, सम्भोग,



ध्यान के अभ्यास के लिए तैयारियाँ

हम बात कर रहे हैं कि ध्यान के अभ्यासके लिए स्वयं को किस प्रकार तैयार करना चाहिए | इसी क्रम में आगे :पञ्चम चरण : ध्यान में बैठना :श्वास के अभ्यासों के महत्त्व के विषयमें पिछले अध्याय में चर्चा की थी | श्वास के उन विशिष्ट अभ्यासों को करने के बादआप अब ध्यान के लिए तैयार हैं | ध्यान के आसन में बैठ जाइए



ध्यान

ध्यानऔर इसका अभ्यासध्यान के लिए स्वयं को तैयार करना :हम बात कर रहे हैं कि ध्यान के अभ्यासके लिए स्वयं को किस प्रकार तैयार करना चाहिए | इसी क्रम में आगे : तृतीय चरण…ध्यान की तैयारी के लिए विश्राम केअभ्यास (Relaxation Exercises) :शरीर को खींचने के अभ्यास (StretchExercises) के बाद कुछ देर का विश्राम का



आसान हिन्दी  [?]
तीव्र हिंदी  [?]
ऑनस्क्रीन कीबोर्ड  [?]
हिन्दी टाइपिंग  [?]
डिफ़ॉल्ट कीबोर्ड  [?]

(फोन के लिए विकल्प)
X
1 2 3 र्4 ज्ञ5 त्र6 क्ष7 श्र8 (9 )0 --   =
q w e r t y u i o p [   ]
a s d िfि g h  j k l ; '  \
  z x c  v  b n m ,, .. ?/ एंटर
शिफ्ट                                                         शिफ्ट बैकस्पेस
x